Thursday - 2 July 2020 - 11:20 PM

कोरोना काल में सुरक्षित सफर होगा चुनौती

सैय्यद मोहम्मद अब्बास

कोरोना वायरस खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। सरकार भी कोरोने के आगे बेबस नजर आ रही है। इस वजह से लॉकडाउन को आगे बढ़ाने पर मजबूर है। मोदी सरकार ने शनिवार की रात को लॉकडाउन-5 की घोषणा की है लेकिन यह लॉकडाउन पहले की तुलना में अलग होगा। इसलिए लॉकडाउन-5 को अनलॉक-1 कहा जा रहा है। ऐसे में माना जा रहा है कि पब्लिक ट्रांसपोर्ट सेवाओं को फिर से बहाल किया जा सकता है लेकिन कोरोना काल में सुरक्षित सफर चुनौती भरा हो सकता है।

माना जा रहा है कि सबकुछ धीरे-धीरे पटरी पर लौटेगा। पीएम मोदी ने भी कहा कि अर्थव्यवस्था का एक बड़ा हिस्सा अब चल पड़ा है, खुल गया है। ऐसे में हमें और ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत है। उधर योगी सरकार का भी लॉकडाउन- 5.0 यानी अनलॉक-1 पर बयान सामने आ रहा है।

यह भी पढ़ें : चर्चित आईएएस रानी नागर पर जानलेवा हमला

यह भी पढ़ें : जायरा वसीम ने की ट्वीटर पर फिर वापसी

यह भी पढ़ें : Lockdown-4 क्यों साबित हुआ बुरा सपना

योगी सरकार से मिली जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश में बहुत जल्द बस और टैक्सी सेवाएं शुरू की जा सकती है।  जानकारी के अनुसार शहर  में अब दोबारा रौनक लौट सकती है।

इसके लिए सडक़ों पर पहले से ज्यादा भीड़ भी देखने को मिलेगी। इस वजह से के ऑटो, ओला, उबर और सिटी बसों के साथ ही ई रिक्शा भी सडक़ों पर दौड़ेगा। दूसरी ओर रोडवेज की बसों से लोगों का सफर शुरू हो सकता है। सबसे अहम बात यह है कि अभी कोरोना इतनी जल्दी खत्म नहीं होने वाला है। इसलिए सभी लोगों को कोरोना वायरस को रोकने के लिए कड़े इंतेजाम करने होंगे।

यह भी पढ़ें :मुद्दे हैं फिर भी मोदी को टक्कर क्यों नहीं दे पा रहा है विपक्ष

यह भी पढ़ें : पीएम मोदी के खुले पत्र में क्या खास लिखा है ?यह भी पढ़ें :

यह भी पढ़ें : 4 साल में आधी हो गई GDP, आर्थिक मोर्चे पर असफल रहे नरेंद्र मोदी ?

क्या-क्या रखनी पड़ेगी सावधानियां

लॉकडाउन-5.0 यानी अनलॉक-1 में कई चीजों को सरकार छूट देने जा रही है। ऐसे में पब्लिक ट्रांसपोर्ट भी शुरू होगा लेकिन इस दौरान खाास सावधानी बरतनी होगी। ऑटो, ओला, उबर को सेनेटाइज करना होगा। इतना ही नहीं बिना मास्क वालों पर सख्ती करनी होगी।

ऑटो, ओला, उबर में जो भी सफर करेगा उसे अपने हाथों को सेनेटाइज करना होगा। जानकारी के मुताबिक जो भी लोग इससे सफर करेगे उनका पूरा ब्यौरा भी रखना होगा। इसके तहत मोबाइनल नंबर और अन्य जानकारी लेनी होगी अपने रजिस्टर में नोट करना होगा।

इस दौरान ड्राइव और पैसेंजर्स को मास्क पहनना जरूरी होगा। इसके बगैर कोई भी सफर नहीं कर सकता है। उधर परिवहन विभाग भी इन पब्लिक ट्रांसपोर्ट पर अपनी पैनी नजर रखेगा। सरकार जो भी गाइडलाइन तय करेगी उसे सख्ती से पालन करना होगा। खासकर ऑटो, टैम्पो, ओला अबर पर आरटीओ नजर रखेगा।

सिटी बसों पर होगी खास नजर

राजधानी लखनऊ में करीब 180 सिटी बसें चलती है और 31 रूटों पर दौड़ती है। अगर कोरोना काल में यह बहाल होगी तो खास रणनीति बनानी होगी। बसों के ड्राइवर और कंडक्टर को पूरी तरह से चौंकाना रहना होगा।

बसों के गेट पर चढऩे-उतरने के लिए विशेष ध्यान रखना होगा। इतना ही नहीं इस दौरान एंट्री प्वाइंट पर सेनेटाइजर का रखना होगा। इसके आलावा हर स्टॉपेज पर लोगों को सेनाटाइज होना होगा।

बसों को खास तौर सेनेटाइजर करना होगा। दूसरी ओर पैसेंजर्स की संख्या पर खास ध्यान होगा। बसों के अंदर ही नहीं रोडवेज के बस अड्डों पर भी सेनेटाइजर की व्यवस्था करना होगा।

यह भी पढ़ें : क्या भविष्य में भी मजदूरों के हितों को लेकर राजनेता सक्रिय रहेंगे?

यह भी पढ़ें : कौन है सीएम योगी का नया खबरी ?

यह भी पढ़ें :  लाक डाउन 5.0 की विवशता को स्वीकार करें हम

क्या कहना है ऑटो रिक्शा थ्री व्हीलर्स एसोसिएशन का

ऑटो रिक्शा थ्री व्हीलर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष पंकज दीक्षित ने जुबिली पोस्ट से बातचीत में कहा कि कोरोना काल ने ऑटो रिक्शा थ्री व्हीलर्स की हालत बेहद खराब हो चुकी है। हालांकि सरकार इसे बहाल करने की बात कह रही है। उन्होंने कहा कि सरकार जो भी गाइडलाइन तय करेगी उसको सख्ती से लागू किया जाएगा। उन्होंने कहा हर ऑटा रिक्शा ऑटो रिक्शा थ्री व्हीलर्स को सैनिटाइजेशन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि सोशल डिस्टेंसिंग के तहत केवल दो लोगों को ऑटो में बैठाया जाएगा। इसलिए किराया बढ़ाया जा सकता है।

इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि कोरोना काल में ऑटो रिक्शा को भारी नुकसान हुआ है। ऐसे में ऑटो थ्री व्हीलर्स को अगर मीटर से चलने की अनुमति दी जाये तो बेहतर होगा। एसोसिएशन की तरफ से कोशिश है कि सभी चालकों को सेनाटइजर और मास्क लगाने के लिए कहा गया है। उन्होंने बताया कि एसोसिएशन की तरफ से चालकों को मास्क और सेनीटाइजर दिया जा रहा है। पंकज दीक्षित ने कहा कि चालकों को अपने पास सैनीटाइजर रखना होगा। सेनेटाइजेशन की व्यवस्था रहेगी। हाथों को सेनेटाइज किए जाने के बाद ही एंट्री दी जाएगी।

नया किराया क्या हो सकता है : पहले दो किलोमीटर के सफर पर 25 लिया जाएगा। इसके बाद हर किलोमीटर पर 12 रुपया लगेगा।

सीएम योगी का क्या कहना है

सीएम योगी आदित्यनाथ ने रविवार को एक न्यूज एजेंसी को बताया है कि यूपी में बस और टैक्सी सेवा को शुरू करने का निर्णय लिया गया है। इसके अलावा सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क लगाना अनिवार्य होगा।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने रविवार को मीडिया वार्ता में कहा कि उत्तर प्रदेश में सोमवार से लॉकडाउन- 5.0 यानी अनलॉक-1 शुरू होगा हमने टीम 11 के साथ इसको लेकर कल काफी मंथन किया है। अनलॉक में जनता को मिलने वाली राहत पर गाइडलाइन तैयार की गई है. सभी को इन गाइडलाइन का पालन करना होगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कल यानी सोमवार से अनलॉक शुरू होगा। इसमें भी कंटेनमेंट जोन में सख्ती रहेगी।

कितनी है संख्या

  • सडक़ पर 180 बसों का होता है संचालन
  • 31 रूटों पर दौड़ती है ये बसें
  • शहर में ऑटो-4545
  • ओला-उबर -8000
  • छह लाख से अधिक लोग करते है सफर
  • ई रिक्शा- 20 हजार
  • पैसेंजर्स- 50 हजार से अधिक

कुल मिलाकर देखा जाये तो कोरोना काल में एक बार फिर पटरी पर आने में थोड़ा समय लग सकता है। जहां तक ट्रांसपोर्ट सेवाओं के बहाल होने के दौरान काफी सतर्क रहना होगा। सुरक्षित सफर के लिए खास सावधानियां बरतनी होगी।

 

 

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com