Sunday - 7 March 2021 - 4:27 PM

क्‍या खत्‍म होने की राह पर है किसान आंदोलन, अलग हुए ये दो बड़े संगठन

जुबिली न्‍यूज डेस्‍क

गणतंत्र दिवस के दिन हुए हिंसा के बाद किसान आंदोलन पर सवाल उठ रहे हैं जिसके बाद राष्ट्रीय किसान मजदूर संघ और भारतीय किसान यूनियन (भानू) इस आंदोलन से अलग हो गए हैं। जिसके बाद इस बात की चर्चाएं शुरू हो गईं है कि क्‍या दो महीने से चल रहा आंदोलन अब खत्‍म होने के कगार पर है।

सबसे पहले किसान नेता वीएम सिंह ने अपना किसान आंदोलन खत्‍म करने का एलान किया। इसके बाद भारतीय किसान यूनियन (भानु) ने भी आंदोलन से अलग होने का फैसला किया।

उन्‍होंने प्रेस वार्ता कर कहा कि कल के उपद्रव को देखने के बाद मैं अपना आंदोलन यहीं खत्‍म करता हूं। उन्‍होंने कहा कि हम लोगों को पिटवाने नहीं आए हैं। वीएम सिंह ने कहा कि हिंसा से हमारा कोई लेना-देना नहीं है। किसान मजदूर संगठन के अध्यक्ष वीएम. सिंह ने कहा कि हिन्दुस्तान का झंडा, गरिमा, मर्यादा सबकी है. उस मर्यादा को अगर भंग किया है, भंग करने वाले गलत हैं और जिन्होंने भंग करने दिया वो भी गलत हैं। ITO में एक साथी शहीद भी हो गया। जो लेकर गया या जिसने उकसाया उसके खिलाफ पूरी कार्रवाई होनी चाहिए।

इस दौरान उन्‍होंने किसान नेता राकेश टिकैत पर गंभीर आरोप भी लगाएं। वीएम सिंह ने कहा कि राकेश टिकैत सरकार के साथ मीटिंग में गए। उन्होंने यूपी के गन्ना किसानों की बात एक बार भी उठाई क्या। उन्होंने धान की बात की क्या। उन्होंने किस चीज की बात की। हम केवल यहां से समर्थन देते रहें और वहां पर कोई नेता बनता रहे, ये हमारा काम नहीं है।

ये भी पढ़ें: पत्नी भागी तो नफरत में कर दिया इतनी महिलाओं का क़त्ल

किसान नेता वीएम सिंह ने ऐलान किया है कि उनका संगठन किसानों के आंदोलन से अलग हो रहा है। बता दें कि  वीएम सिंह के संगठन का नाम राष्ट्रीय किसान मजदूर संघ है। अब ये संगठन अब आंदोलन का हिस्सा नहीं होगा। वीएम सिंह ने कहा कि इस रूप से आंदोलन नहीं चलेगा।

किसान मजदूर संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष वीएम सिंह ने कहा कि सरकार की भी गलती है जब कोई 11 बजे की जगह 8 बजे निकल रहा है तो सरकार क्या कर रही थी। जब सरकार को पता था कि लाल किले पर झंडा फहराने वाले को कुछ संगठनों ने करोड़ों रुपये देने की बात की थी।

ये भी पढ़ें: राकेश टिकैत के इस सवाल का जवाब क्या देगी POLICE

इससे पहले इंडियन नेशनल लोकदल (INLD) के प्रधान महासचिव और ऐलनाबाद से विधायक अभय सिंह चौटाला ने बुधवार को विधायक पद से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने किसानों के समर्थन में हरियाणा विधानसभा के स्पीकर ज्ञान चंद गुप्ता को अपना इस्तीफा सौंपा। अभय सिंह चौटाला ने इससे पहले स्पीकर ज्ञान चंद गुप्ता को ईमेल कर विधायक पद से अपना इस्तीफा भेजा था। उन्होंने कृषि कानूनों के खिलाफ विधायक पद से इस्तीफा दिया।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com