Thursday - 24 September 2020 - 2:07 PM

रूस की कोरोना वैक्सीन पर इस देश के राष्ट्रपति को है पूरा भरोसा

  • कोरोना वैक्सीन को लेकर रूस को मिला फिलीपींस का साथ
  • फिलीपींस के राष्ट्रपति ने रूस की कोरोना वैक्सीन के ट्रायल में शामिल होने की जतायी इच्छा

जुबिली न्यूज डेस्क

जुलाई माह में रूस के वैज्ञानिकों ने जब कोरोना वैक्सीन बनाने का ऐलान किया था तो विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इस बात को कोई तबज्जों नहीं दिया। ऐलान के कुछ दिनों बाद डब्ल्यूएचओ ने इस वैक्सीन पर संदेह जाहिर किया। उसने कहा कि ‘जब भी ऐसी खबरें आएं या ऐसे कदम उठाए जाएं तो हमें सावधान रहना होगा। ऐसी खबरों के तथ्यों की जांच सतर्कता के साथ की जानी चाहिए।”

फिलहाल रूस की कोरोना वैक्सीन को लेकर नई खबर यह है कि फिलीपींस के राष्ट्रपति रोड्रिगो डुटेट ने इस वैक्सीन के ट्रायल में शामिल होने की इच्छा जाहिर की है। उन्हें इस वैक्सीन पर पूरा भरोसा है। डुटेट ने कोरोना वायरस की वैक्सीन बनाने में रूस की कोशिश की जमकर तारीफ की है।

ये भी पढ़े : जनता की नाराजगी पर PM समेत पूरी सरकार ने दे दिया इस्तीफा

ये भी पढ़े : इतिहास के सबसे बुरे दौर से गुजर रहा है सिंगापुर

ये भी पढ़े : सवालों के घेरे में फसल बीमा योजना

 

रूस ने फिलीपींस को यह वैक्सीन मुहैया कराने का वादा किया है। रूस को उम्मीद है कि इस महीने उसकी वैक्सीन को रेग्युलेटरी मंजूरी मिल जाएगी। ऐसा कहा जा रहा है कि फिलीपींस में भी रूस की वैक्सीन का उत्पादन किया जा सकता है।

फिलीपींस भी कोरोना वायरस से जंग लड़ रहा है। यहां बड़ी संख्या में कोरोना संक्रमण के मामले हैं। वहां अब तक कोरोना वायरस से 136,638 लोग संक्रमित हो चुके हैं।

10 अगस्त की देर रात राष्टï्रपति डुटेर्टे ने टीवी पर कहा, ”मैं राष्ट्रपति पुतिन से कहूंगा कि कोविड-19 की लड़ाई में रूस के शोध पर मेरा पूरा भरोसा है। मेरा मानना है कि आपके यहां जो वैक्सीन तैयार होने जा रही है वो मानवता के हित में है।”

 

कोरोना वायरस को लेकर यही निष्कर्ष निकला है कि कोरोना की जंग बिना वैक्सीन के नहीं जीती जा सकती। तमाम उपाय करके कोरोना से बचा जा सकता है लेकिन इससे निजात नहीं मिल सकता। इसीलिए दुनिया भर में कोरोना वायरस की वैक्सीन बनाने की जो होड़ लगी है, उसे लेकर चिंता भी जाहिर की जा रही है।

रूस की वैक्सीन को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी संदेह जताया था कि कहीं जल्दीबाजी में सुरक्षा से खिलवाड़ न हो जाए। ऐसे में फिलीपींस के राष्ट्रपति ने ऑफर किया है कि रूस की वैक्सीन पहला प्रयोग उन पर किया जा सकता है।

मंगलवार को डुटेर्टे के कार्यालय ने कहा कि फिलीपींस रूस की वैक्सीन के साथ खड़ा है और वो ट्रायल, उत्पादन के साथ आपूर्ति में भी मदद करेगा।

ये भी पढ़े : गहलोत हैं कांग्रेस के असली चाणक्य

ये भी पढ़े : सऊदी अरब की शान को कैसे लगा झटका?

ये भी पढ़े :  रिया चक्रवर्ती के हिडेन डेटा से खुलेंगे सुशांत केस के अहम राज 

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com