Tuesday - 30 November 2021 - 8:35 PM

दीवाली मेलों से कोरोना को उड़नछू कराने की तैयारी

जुबिली न्यूज़ ब्यूरो

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के सभी शहरों में 28 अक्टूबर से दीवाली मेला शुरू होने जा रहा है. यह मेला चार नवम्बर तक चलेगा. इन मेलों में गीत-संगीत और बच्चो के खेलकूद के इंतजाम के साथ-साथ बड़ी-बड़ी स्क्रीन पर योगी सरकार की साढ़े चार साल की उपलब्धियां भी देखने को मिलेंगी.

दीवाली के मौके पर आयोजित होने वाले इस मेले में बच्चो के लिए मैजिक शो और कठपुतली के डांस का इंतजाम भी किया जा रहा है. इन मेलों में बड़ों के मनोरंजन का भी भरपूर इंतजाम होगा और सांस्कृतिक कार्यक्रमों की तैयारियां बड़े जोरशोर से चल रही हैं. प्रदेश के नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन खुद इन मेलों को सफल बनाने के लिए तैयारियां कर रहे हैं और अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक कर रहे हैं.

आशुतोष टंडन ने कहा है कि इन मेलों में बच्चो के लिए झूलों का इंतजाम किया जा रहा है. इन मेलों में रेहड़ी-पटरी दुकानदारों को भी जगह दी जायेगी. इन मेलों की तैयारियां जिस स्तर पर की जा रही हैं उससे इन मेलों में बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ उमड़ने की संभावना है. एक तरफ कोरोना प्रोटोकाल के तहत मोहर्रम और बारावफात के जुलूसों पर पाबंदी लगाई गई और शादियों तक में एक निश्चित संख्या से ज्यादा लोगों के जमा होने पर प्रतिबन्ध है वहीं इन दीवाली मेलों के नाम पर भीड़ को खुद ही आमंत्रित किया जा रहा है.

केन्द्र सरकार के जो दिशा निर्देश हैं उसमें मौजूदा समय कोरोना को लेकर सबसे संवेदनशील है. कहा गया है कि अगले तीन महीने अगर लोग संयम से और रह लें और भीड़भाड़ वाली जगहों पर जाने से खुद को रोक लें तो कोरोना धीरे-धीरे घटते हुए खुद ही खत्म हो जायेगा. हालांकि यूपी सरकार ने दीवाली मेलों में शामिल होने वालों से कहा है कि वह मास्क पहनकर मेलों में आयें और हैण्ड सैनेटाइज़र का इस्तेमाल करें.

यह भी पढ़ें : बौद्ध समाज को पीएम मोदी ने दिया यह शानदार तोहफा

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड में बारिश ने मचाई तबाही, 46 लोगों की मौत

यह भी पढ़ें : बारिश और भूस्खलन से नेपाल में तबाही

यह भी पढ़ें : डंके की चोट पर : पार्टी विथ डिफ़रेंस के क्या यह मायने गढ़ रही है बीजेपी

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com