Monday - 30 January 2023 - 10:47 AM

कमलेश तिवारी मर्डर : पैसे खत्म होने की वजह से पकड़े गए आरोपी, पीएम रिपोर्ट है डरावनी

जुबिली न्यूज़ डेस्क

कमलेश तिवारी मर्डर केस की जांच में जुटी पुलिस और सुरक्षा एजेंसियों को मंगलवार को बड़ी कामयाबी हाथ लगी। हिन्दू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी के दो हत्यारोपी अशफाक (34 वर्ष) और मोइनुद्दीन (27 वर्ष) को गुजरात एटीएस ने गिरफ्तार कर लिया है। राजस्थान-गुजरात बॉर्डर के पास कमलेश तिवारी हत्याकांड के मुख्य आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद उनके परिजन संतुष्ट दिखे। कमलेश तिवारी की मां ने कहा कि गुजरात एटीएस ने बेहतरीन कार्य किया। उन्होंने आरोपियों की फांसी की सजा की मांग की।

कमलेश तिवारी की मां ने गुजरात एटीएस की तारीफ करते हुए कहा कि इस टीम ने बेहतरीन कार्य किया। आरोपियों को फांसी की सजा मिलनी चाहिए। वहीं कलमेश तिवारी के बड़े बेटे सत्यम ने कहा कि इस मामले की जल्द से जल्द सुनवाई कर आरोपियों को फांसी की सजा दी जाए। इसके अलावा, कमलेश तिवारी की पत्नी ने कहा कि आरोपियों को जेल में रोटी न खिलाई जाए।

गौरतलब है कि गुजरात एटीएस ने जिन दो मुख्य हत्यारोपियों अशफाक और मोइनुद्दीन को गिरफ्तार किया है, वे दोनों सूरत के रहने वाले हैं। इनमें से एक एमआर है तो दूसरा फूड डिलीवरी बॉय का काम करता है। बताया जा रहा है कि इन दोनों के पास से पैसे खत्म हो गए थे, जिसकी वजह से पुलिस को पकड़ने में आसानी हो गई।

बताया जा रहा है कि शाहजहांपुर में पुलिस को चकमा देकर दोनों यूपी से निकल गए थे और रास्ते से सूरत में अपने परिवार को संपर्क कर रुपयों का बंदोबस्त करने को कहा। बस, यही कॉल गुजरात एटीएस ने ट्रेस कर ली और इन हत्यारों तक पहुंच गई। गुजरात एटीएस डीआईजी हिमांशु शुक्ला ने कहा कि दोनों आरोपियों को गुजरात-राजस्थान बॉर्डर के पास शामलाजी से गिरफ्तार कर लिया गया है और औपचारिकताएं पूरी करने के बाद दोनों को उत्तर प्रदेश पुलिस को सौंप दिया जाएगा।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट है डरावनी

लखनऊ में हई हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की हत्या मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। हत्यारों ने कमलेश तिवारी की बड़ी बेरहमी से हत्या की गई थी। कमलेश तिवारी की पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक, उनपर 15 बार चाकुओं से हमला किया गया था और उसके बाद गोली मारी गई थी जो कि शरीर के अंदर ही फंसी रह गई थी। खास बात है कि चाकुओं के सभी 15 वार सिर्फ जबड़े से लेकर छाती के बीच में 10 सेंटीमीटर के भीतर किया गया था।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक, चाकू के हमलों से कमलेश तिवारी के सीने में तीन से चार सेंटीमीटर का सुराख हो गया था। इसके साथ ही कमलेश के शव के पोस्टमार्टम के दौरान दो जगह चाकू से रेते जाने के निशान मिले हैं। इनमें से एक निशान उनकी गर्दन को रेतने का है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक कमलेश के निम्न हिस्सों में चाकू से वार किये गए थे।

यह भी पढ़ें : आखिर क्यों नहीं मिलेगा लेखा परीक्षा के कार्मिकों को सेवानिवृत्ति का लाभ

यह भी पढ़ें : धोनी को इंटरनेट पर भूलकर भी न करें सर्च

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com