Monday - 27 September 2021 - 12:06 AM

बड़ी मां को देखते ही लिपटकर रोने लगे चिराग और फिर मां ने…

जुबिली स्पेशल डेस्क

पटना। बिहार में बीते कुछ दिनों से राजनीति सरगर्मी लगातार बढ़ रही है। पहले यहां पर नीतीश सरकार को लेकर तमाम सवाल उठाया जा रहा था लेकिन अब वहां पर लोक जनशक्ति पार्टी की टूट ने एकाएक वहां की राजनीति में एक अलग हलचल पैदा कर डाली है।  उधर जमुई सांसद चिराग पासवान ने आशीर्वाद यात्रा की शुरुआत की है। इस यात्रा के सहारे चिराग पासवान जनता के बीच अपनी जगह बनाने चाहते हैं।

इसी के तहत शुक्रवार को चिराग खगडिय़ा जिले के शहरबन्नी पहुंचे। खगडिय़ा जिले के शहरबन्नी वहीं जगह है जहां रामविलास पासवान की पहली पत्नी राजकुमारी देवी रहती है।

चिराग पासवान अपनी बड़ी मां राजकुमारी देवी से खास मुलाकात की है। जानकारी के मुताबिक इस दौरान चिराग पासवन बड़ी मां से लिपटकर रोने लगे हैं। इस दौरान चिराग को मां ने हाथ थाम लिया और कहा कि मैं हूं तेरे साथ।

दोनों इस दौरान काफी भावुक नजर आये। चिराग ने अपनी बड़ी मां से अपने चाचा की शिकायत करते हुए भावुकता से कहा- मां चाचा ने मेरे साथ गलत किया है।

मां ने भी सांत्वना देते हुए चिराग का हाथ थामते हुए कहा कि बेटा सब ठीक हो जाएगा। बड़ी मां राजकुमारी देवी ने कहा कि तुम अपने को अकेले क्यों समझ रहे हो, हम लोग हैं न तुम्हारे साथ।

राजकुमारी देवी ने चिराग पासवान को बेटा कहते हुए अपने हाथों से खीर खिलाई और सिर पर पगड़ी पहनाईं। बता दें कि काफी लंबे समय के बाद मां-बेटे एक दूसरे से मिले थे। दोनों एक दूसरे को देखकर रोने लगे।

बता दें कि  लोक जनशक्ति पार्टी में चाचा पशुपति पारस और भतीजे चिराग पासवान की राहे अलग-अगल हो गई है और अब पार्टी पर वर्चस्व हासिल करने के लिए लड़ाई और तेज होती जा रही है।

यह भी पढ़ें : बड़े अदब से : परपंच से पंचायत तक

ये भी पढ़े:  इतने अच्छे दिनों की उम्मीद न थी

ये भी पढ़े:  क्या मोदी के सितारे गर्दिश में है?

हालांकि दिल्ली हाईकोर्ट ने चिराग पासवन को कल तगड़ा झटका दिया है और उनकी याचिका को खारिज कर दिया है। हालांकि चाचा पशुपति पारस ने भतीजे चिराग को अलग-थलग करने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। चाचा और भतीजे दोनों लोक जनशक्ति पार्टी को अपना बता रहे हैं।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com