Monday - 6 April 2020 - 11:42 AM

अब कोई नहीं कहेगा वेल डन UP पुलिस

 स्पेशल डेस्क

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में अपराध को लेकर तमाम तरह की बाते होती है। इतना ही नहीं अक्सर कानून व्यवस्था को लेकर यूपी पुलिस को घेरा जाता है। हालांकि इस दौरान यूपी पुलिस कुछ अच्छे काम भी करती है लेकिन उसे ज्यादा तव्वजों नहीं मिलती लेकिन लखनऊ पुलिस की एक टीम ने गुम हुई लड़की को न सिर्फ उसकी जिंदगी बचाई बल्कि उसे घर तक सुरक्षित तक पहुंचाया है।

ये भी पढ़े: नेहरू विहारः AAP पार्षद के घर में घुसी प्रदर्शनकारी भीड़

मामला आशियाना थाना क्षेत्र का बताया जा रहा है। 12 नवम्बर की रात गणेश गोमती नामक लड़की बदहवास हालत में आशियाना पुलिस स्टेशन के पास मिली थी। इसके बाद पुलिस ने उस लड़की की मदद की और उसे मर्सी होम भेजा। हालांकि इस दौरान लड़की अपने बारे में कुछ भी बता नहीं पा रही थी।

इतना ही नहीं वो कैसे लखनऊ पहुंची इसकी उसके पास कोई जानकारी नहीं थी। करीब कई महीनों से गुमनाम लड़की को आखिरकार लखनऊ पुलिस की कोशिशों से नई जिंदगी भी मिल गई है और उसे उसके राज्य तमिलनाडु भेज दिया गया है।

ये भी पढ़े: क्या अपने भक्त को दर्शन देंगे भगवान ट्रम्प ?

जानकारी के मुताबिक पिछले साल से वहां से गायब थी और लखनऊ में जाकर मिली। इतना ही नहीं लड़की कौन है और कहा से आई ये पता नहीं लग पा रहा था। इसके आलावा लड़की हिन्दी नहीं जानती थी और दक्षिण भाषा में बोल रही थी। इससे एक बात तो साफ हो गई वो साउथ क्षेत्र से यहां पर आई है।

इसके बाद पुलिस की मदद से उसे उसके घर पहुंचाया गया है। मर्सी होम से मिली जानकारी के अनुसार इस लड़की की याददाश्त नये साल में वापस आ गई। उसके बाद पुलिस ने पूरे मामले को गंभीरता से लिया। उस लड़की ने बताया कि वो तामिलनाडु की रहने वाली है। इसके बाद पुलिस ने उसे पता लेकर चेन्नई में सम्पर्क किया तब जाकर उसके बारे में और पूरी जानकारी हासिल हो सकी।

चेन्नई एक बिल्लीकम्भ थाना से सम्पर्क किया गया तो वहां थाना प्रभारी राजा सिंह ने गोमती गणेश की तस्वीर को देखकर पता किया और उसके माता-पिता से संपर्क किया। इसके बाद गणेश गोमती के पिता ने अपनी खोई हुई बेटी को पहचान लिया और लखनऊ आकर अपनी बेटी से मिलकर बेहद खुश है।

गणेश गोमती के पिता मुथ्थू स्वामी ने बताया कि वो पेशे से पत्रकार था लेकिन बेटी के खो जाने से वो काफी निराश थे। इतना ही नहीं उसकी पत्नी की हालत ठीक नहीं है। उधर गणेश गोमती की मदद के लिए भारतीय रोइंग संघ आगे आया है।

दरअसल यूपी रोइंग संघ के सचिव सुधीर शर्मा ने चेन्नई में मौजूद भारतीय रोइंग संघ के कोषाध्यक्ष एस बालाजी जो कि चेन्नई में रहते हैं, उन्होंने यूपी रोइंग संघ के कहने पर गणेश गोमती को चेन्नई पहुंचने पर नौकरी भी दिलवा दी है। जिससे गणेश गोमती अपना जीवन यापन चला सके। इस अवसर पर सुधीर शर्मा के आलावा मर्सी होम की नैनसी पाल, समाजसेवी अरुण कुमार सिंह, सुमित मिश्रा आसित दुबे आदि मौजूद थे।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com