Saturday - 8 May 2021 - 1:32 AM

महाराष्ट्र में धारा-144 के बाद प्रवासी मजदूरों ने घर लौटना शुरु किया

जुबिली न्यूज डेस्क

महाराष्ट्र में बुधवार से पूरे राज्य में धारा-144 लागू होने के बाद प्रवासी मजदूरों का लौटना शुरु कर दिया है। मुंबई के लोकमान्य तिलक टर्मिनल समेत कुछ अन्य बस अड्डों और रेलवे स्टेशनों पर लोगों की भीड़ देखी जा सकती है।

अपने गांव जा रहे इन लोगों ने मीडिया से बातचीत में कहा कि कर्फ़्यू लगने की वजह से वो अपने घर लौट रहे हैं।

इन लोगों ने कहा कि कर्फ़्यू लगने की वजह से काम नहीं रहा, तो वो खायेंगे क्या? वो नहीं चाहते कि उन्हें फिर से वो परेशानियां झेलनी पड़ें जो उन्होंने पिछले साल तालाबंदी के दौरान झेली थीं।

पिछले साल कोरोना संक्रमण रोकने के लिए केंद्र सरकार ने जब पूरे देश में लॉकडाउन लगाया गया था, तब लाखों मजदूरों को देश के बड़े शहरों से पैदल ही अपने घर लौटने पर मजबूर होना पड़ा था।

महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के मद्देनजर सीएम उद्धव ठाकरे ने मंगलवार को कहा कि बुधवार रात आठ बजे से राज्य में कड़ी पाबंदियां लागू की जाएंगी।

ये भी पढ़े: कोरोना जांच करा बोले अखिलेश- सरकार ने ढिंढोरा क्यों पीटा

ये भी पढ़े: साहेबान! जनता कराह रही, संभालो नहीं तो पश्चाताप भी नहीं कर पाओगे

ठाकरे ने कहा कि बुधवार से पूरे राज्य में धारा-144 लागू की जा रही है। हालांकि, उन्होंने ये भी कहा कि “मैं इसे तालाबंदी नहीं कहूूंगा।”

साथ ही ठाकरे ने यह भी कहा कि अनिवार्य सेवाओं के लिए लोकल ट्रेन और बस सेवाएं जारी रखी जाएंगी। पेट्रोल पंप खुले रहेंगे और स्टॉक एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया से जुड़ी वित्तीय संस्थाएं खुली रहेंगी। निर्माण से जुड़ी गतिविधियां जारी रहेंगी। होटल और रेस्तरां बंद रहेंगे, लेकिन होम डिलीवरी और टेक अवे की इजाजत रहेगी।

आदेश के मुताबिक, सभी पूजास्थल, स्कूल और कॉलेज, प्राइवेट कोचिंग क्लास, सैलून, स्पा और ब्यूटी-पार्लर एक मई, सुबह सात बजे तक बंद रहेंगे।

इसके अलावा सिनेमा हॉल, थिएटर, ऑडिटोरियम, एम्यूजमेंट पार्क, जिम, स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स बंद रहेंगी। फिल्मों, विज्ञापनों और टेलीविजन की शूटिंग बंद रहेगी।

ये भी पढ़े: कोरोना से लड़ाई में क्या भूमिका निभा रही है योगी सरकार

ये भी पढ़े: ऑफिस पहुंचा कोरोना तो CM योगी ने खुद को किया आइसोलेट 

वहीं सभी दुकानें, शॉपिंग सेंटर, गैर-अनिवार्य सेवाओं से जुड़े प्रतिष्ठान 14 अप्रैल रात आठ बजे से 1 मई, सुबह 7 बजे तक बंद रहेंगे।

इस बीच, महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश के सात करोड़ लोगों को पांच किलो राशन देगी। साथ ही, 25 लाख दिहाड़ी मजदूरों और रिक्शा चालकों को 1,500 रुपये उनके बैंक खाते में दिये जायेंगे।

उन्होंने कहा कि सभी गरीब और जरूरतमंद लोगों को अगले एक महीने के लिए 3 किलो गेहूं और 2 किलो चावल उपलब्ध कराया जाएगा।

नवाब मलिक ने कहा कि हमारी सरकार ने इसके लिए 5,500 करोड़ रुपये के पैकेज की घोषणा की है।

उन्होंने कहा कि जो शिव भोजन थाली पहले 10 रुपये की दी जा रही थी, वो कर्फ़्यू के दौरान मुफ्त दी जायेगी।

मलिक ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार कोरोना संक्रमण की चेन-ब्रेक करना चाहती है, जिस वजह से इन सख़्त प्रतिबंधों की घोषणा की गई है।

ये भी पढ़े: यूपी में फिर छाया कोरोना का कहर, 18 हजार से ज्यादा नए मरीज 

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com