Monday - 3 August 2020 - 2:55 PM

विकास दुबे को लेकर शहीद की पत्नी ने क्या कहा?

जुबिली स्पेशल डेस्क

लखनऊ। कानपुर के विकरू गांव में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या का मामला लगातार सुर्खियों में है। विकास दुबे को पकडऩे में पुलिस अभी तक कामयाब नहीं हुई है। विकास दुबे की तलाश जारी है। पुलिस टीम पर हुए हमले में झांसी के भोजला गांव निवासी सिपाही सुल्तान सिंह वर्मा भी शहीद हुई है। उनकी शहादत के बाद से उनके परिवार वालों में काफी गुस्सा है। शहीद की पत्नी का गुस्सा विकास दुबे पर फूटा है।

सिपाही सुल्तान सिंह वर्मा की शहादत के बाद उनकी पत्नी ने कहा है कि वो अपने हाथों से विकास दुबे को मारूंगी। इतना ही नहीं शहीद की पत्नी चाहती है कि हत्यारे विकास दुबे की मौत उसके सामने हो। दरअसल उसने कहा है कि मैं खुद अपने हाथों से उसका खात्मा करना चाहती हूं। इस दौरान उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा कि विकास दुबे को गोलियों से भून देना चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि वो जिंदा रहने लायक नहीं है।

ये भी पढ़े: अब ऑनलाइन क्लास लेने वाले विदेशी छात्रों को छोड़ना होगा अमेरिका

ये भी पढ़े:  पत्रकार तरुण सिसोदिया की मौत पर क्‍यों उठ रहें हैं सवाल

इतना ही नहीं शहीद हुए सिपाही सुल्तान सिंह वर्मा की पत्नी ने जब तक विकास दुबे जिंदा है तो तब उनको चैन की नींद नहीं आएगी। उन्होंने इस दौरान  पुलिस पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि जघन्य हत्याएं पुलिस विभाग की मिली भगत की वजह से हुई है। शहीद की पत्नी को तब तक सूकुन नहीं मिलेगा जब तक कि विकास दुबे की मौत नहीं मिलती।

उन्होंने कहा कि अब तक उसकी गिरफ्तारी न होने के चलते पत्नी व परिजन निराश हैं। उन्होंने कहा कि जल्द से जल्द पुलिस को उसे गिरफ्तार कर मौत की नींद सुला देना चाहिए, जब तक उसकी दर्दनाक मौत नहीं होती, तब तक पूरा परिवार चैन की नींद नहीं सो पाएगा। 

ये भी पढ़े: कोविड-19 राहत पैकेज : सभी महिलाओं के जनधन खातों में नहीं पहुंचा पैसा 

ये भी पढ़े:  वैज्ञानिकों का दावा-हवा से भी फैल रहा है कोरोना वायरस 

आठ पुलिसकर्मियों की शहादत के बाद मुख्य आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे की तलाश जारी है, वहीं विकास दुबे पर अब ढाई लाख का ईनाम घोषित कर दिया गया है। कानपुर पुलिस ने ईनामी राशि बढ़ाने के लिए डीजीपी को प्रस्ताव भेजा था, जिसके बाद डीजीपी हितेश चन्द्र अवस्थी ने ईनामी राशि बढ़ाई है। बता दें कि, फरार चल रहे विकास दुबे की तलाश में पुलिस चप्पे-चप्पे को छान रही है। पुलिस को आशंका है कि वह चंबल के रास्ते बीहड़ों से होते हुए मध्य प्रदेश व राजस्थान भाग सकता है। पुलिस ने चंबल में भी तलाशी अभियान चला रही है।

ये भी पढ़े:  चंबल या नेपाल, आखिर कहां गया विकास दुबे?

ये भी पढ़े:   तो आकाशीय बिजली गिरने की घटनाओं का जिम्मेदार जलवायु परिवर्तन है?

ये भी पढ़े:  कुवैत की इस कदम से आठ लाख भारतीयों पर पड़ेगा असर 

घटना के बाद से ही मुख्या आरोपी व उसके गुर्गों की तलाश के लिए लगातार पुलिस दबिश दे रही है। पुलिस की 60 टीमें गिरफ्तारी के लिए लगाई गई है। इसके अलावा 500 लोगों के फोन सर्विलांस पर हैं। बावजूद इसके 72 घंटे से ज्यादा का वक्त गुजरने के बाद भी हत्यारा विकास दुबे अभी पुलिस की पकड़ से दूर है। पुलिस को आशंका है कि वह दूसरे राज्यों में छिपा हो सकता है। लिहाजा कई पुलिस की टीम अन्य राज्यों में भी उसकी तलाश कर रही है।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com