Thursday - 6 May 2021 - 5:22 PM

कोरोना काल में LIC कर्मचारियों को मिली खुशखबरी, सैलरी में इजाफा और …

जुबिली न्यूज़ डेस्क

नई दिल्ली। भारतीय जीवन बीमा निगम के करीब 1.14 लाख कर्मचारियों के लिए नया वित्त वर्ष शुरू हो चुका है। ऑल इंडिया इंश्योरेंस एम्प्लाईज एसोसिएशन के जनरल सेक्रेटरी श्रीकांत मिश्रा ने कहा है कि उनकी सैलरी में करीब 25% की बढ़ोतरी की खबर से सभी कर्मचारी बेहद खुश हैं।

केंद्र सरकार ने एलआईसी के कर्मचारियों की रीवाइज्ड सैलरी का नोटिफिकेशन जारी किया है। वहीं सरकार ने एलआईसी के कर्मचारियों को हफ्ते में 5 दिन काम करने का तोहफा भी दिया है। नई सैलरी 1 अगस्त 2017 से प्रभावी होगी।

ये भी पढ़े:कोरोना काल में CM योगी की ये कोशिश ला रही है रंग

ये भी पढ़े: यूपी में हर रविवार को लॉकडाउन, मास्क न पहनने पर 1 हजार का जुर्माना

एलआईसी कर्मचारियों का 1 अगस्त, 2017 से ही वेज रिविजन बकाया था। यूनियन के एक लीडर ने कहा था कि एलआईसी के इतिहास में यह पहला मौका है जब वेज रिविजन में इतनी देर हुई है। उनके अनुसार मैनेजमेंट से मांग तो 40% वेज हाइक की थी लेकिन आखिरकार 25% वेज हाइक पर समझौता हुआ है।

ये भी पढ़े:योगी ने की टीम-11 के साथ बैठक , लखनऊ में बनेगा 1000 बेड का कोविड हॉस्पिटल

ये भी पढ़े: देश में कोरोना ने फिर तोड़ा रिकॉर्ड, आए 217,353 नए केस

श्रीकांत मिश्रा की माने तो पहले 10% वेज हाइक करने का फैसला हुआ था लेकिन दूसरे राउंड में इसे बढ़ाकर 15% कर दिया गया। इस पर कर्मचारियों की तरफ से कहा गया था कि इससे उनकी अपेक्षाएं पूरी नहीं होती हैं। 15% वेज हाइक का ऑफर 30 सितंबर 2020 को दिया गया था। इससे पहले 10% का ऑफर मार्च 2019 में ऑफर किया गया था। मैनेजमेंट से लगातार बातचीत हो रही थी, जिसके बाद ये बढ़ोतरी हुई है।

भारतीय जीवन बीमा निगम यानी एलआईसी ने अपने नियमों में कुछ बदलाव किया है। नए नियमों के तहत केंद्र सरकार ने घोषणा की है कि अब एलआईसी के लिए हर शनिवार को पब्लिक हॉलिडे माना जाएगा। यानी अब हर शनिवार को एलआईसी की छुट्टी रहेगी।

सरकार ने यह बदलाव नेगोशिएबल इंस्ट्रुमेंट्स एक्ट 1881 के सेक्शन 25 के तहत मिली ताकत के आधार पर किया है। इसका ये मतलब होता है कि अगर आपको एलआईसी के ऑफिस में जाकर कोई काम कराना है तो आपको सोमवार से शुक्रवार के बीच में ही जाना होगा, क्योंकि शनिवार और रविवार को छुट्टी रहेगी, जिसके चलते ऑफिस बंद रहेगा।

इस के अलावा केंद्र सरकार LIC को शेयर बाजार में लिस्ट कराने की योजना बना रही है। इसके लिए IPO लाने की प्रक्रिया जारी है। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 1 फरवरी को पेश किए गए बजट में कहा था कि LIC के वित्त वर्ष 2022 में लिस्ट किया जा सकता है। सरकार को IPO से 1 लाख करोड़ जुटने की उम्मीद है।

ये भी पढ़े:ऑक्सीजन को लेकर केंद्र के बयान में इतना अंतर क्यों है ?

ये भी पढ़े: कोरोना संकट पर क्या बोले नितिन गडकरी?

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com