Wednesday - 8 July 2020 - 5:59 AM

लादेन को “शहीद” कहना इमरान को पड़ा महंगा

जुबिली न्यूज डेस्क

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के अल कायदा के पूर्व सरगना ओसामा बिन लादेन को “शहीद” कहा है। उनके इस बयान पर विवाद छिड़ गया है। पाकिस्तान में इसका भारी विरोध हो रहा है। इमरान के भाषण का ओसामा बिन-लादेन वाला क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। लोग तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं।

जहां कुछ लोग कह रहे हैं कि ऐसा उनकी जबान से गलती से निकल गया तो वहीं कुछ लोगों का कहना है कि खान के मन में उन इस्लामी लड़ाकों तक के लिए खास जगह है, जो अफगानिस्तान और यहां तक की खुद पाकिस्तान में हिंसक हमले करते आए हैं। इसलिए उन्होंने गलती से नहीं कहा है।

ये भी पढ़े : नेपाल से तनाव की वजह से बंगाल नहीं भेजेगा नेपाल को ये फल

ये भी पढ़े :  डंके की चोट पर : सरेंडर पर राजनीति नहीं मंथन करें हम

ये भी पढ़े :  बिहार चुनाव : विरोधी दलों के लिए कठिन है डगर

पाकिस्तान की नेशनल असेंबली में 25 जून को प्रधानमंत्री इमरान खान ने ओसामा बिन-लादेन को शहीद कहा, जिसके बाद वह संसद में ही घिर गए। पाकिस्तान की विपक्षी पार्टी पीएमएल-एन के नेता ख़्वाजा आसिफ ने नेशनल असेंबली में कहा, इमरान खान ने ओसामा बिन-लादेन को शहीद कहा। लादेन हमारी जमीन पर आतंकवाद लाया। वो आतंकवादी था और आप उसे शहीद कह रहे है।

इमरान को घेरते हुए ख़्वाजा ने कहा लादेन अव्वल दहशतगर्द था। उसने मेरे वतन को बर्बाद किया और आप शहीद कह रहे हैं।

पाक में खान की इस टिप्पणी पर विवाद बढ़ते देख 25 जून की रात में प्रधानमंत्री के विशेष सचिव डॉ शाहबाज गिल ने ट्वीट कर पीएम के बयान का बचाव किया।

ये भी पढ़े : मानवाधिकार के मर्म और दर्शन के पुरोधा थे चितरंजन सिंह

ये भी पढ़े :  भारत-नेपाल : ऐसे तो टूट जायेगा ‘रोटी-बेटी’ का रिश्ता!

गिल ने ट्वीट कर कहा, ”अनुचित तरीके से प्रधानमंत्री के बयान को विवादित बनाने की कोशिश की जा रही है। प्रधानमंत्री इमरान खान आतंकवाद के खिलाफ प्रतिबद्ध हैं। इमरान ख़ान ने दो बार अपने भाषण में ओसामा किल्ड शब्द का प्रयोग किया है।”

वहीं इमरान के इस बयान पर पाकिस्तान की विपक्षी पाकिस्तान पीपल्स पार्टी के नेता बिलावल भुट्टो ने कहा कि इमरान खान की टिप्पणी हिंसक अतिवाद के तुष्टीकरण के लिए है।

इसके अलावा पाकिस्तानी सीनेटर मुस्तफा नवाज खोखर जो पाकिस्तान पीपल्स पार्टी के प्रवक्ता हैं उन्होंने भी इमरान खान के बयान की निंदा की है। मुस्तफा ने इसे राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा बताया।

मालूम हो कि ओसामा बिन-लादेन को अमरीका ने पाकिस्तान में 2011 में एक विशेष ऑपरेशन में मारा था। पिछले साल इमरान खान अमरीका दौरे पर गए थे तो उन्होंने कहा था कि पाकिस्तान ने ही अमरीका को ओसामा को लेकर खुफिया सूचना मुहैया कराई थी और अमरीका ने पूरे ऑपरेशन को सफलता पूर्वक अंजाम दिया था।

इमरान का लादेन के प्रति प्रेम पहली बार नहीं दिखा है। वह अक्सर अपने इंटरव्यू में ओसामा बिन लादेन को दहशतगर्द कहने से बचते रहे हैं। 2016 में पाकिस्तान में एक न्यूज चैनल को इमरान इंटरव्यू दे रहे थे। पत्रकार वसीम बादामी ने इमरान से पूछा कि क्या वो ओसामा बिन-लादेन को आतंकवादी मानते हैं? इस पर उन्होंने कहा, ”जॉर्ज वॉशिंगटन अंग्रेजों के लिए दहशतगर्द था और अमरीकियों के लिए स्वतंत्रता सेनान। मैं ओसामा बिन-लादेन पर टिप्पणी नहीं करना चाहता क्योंकि ये मुद्दा अब पीछे रह गया है। ”

 

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com