Saturday - 19 September 2020 - 8:16 PM

बीजेपी में नहीं जा रहा हूं, अभी भी कांग्रेसी हूं’

जुबिली न्यूज डेस्क

राजस्थान कांग्रेस में राजनीतिक घमासान के बीच बागी सचिन पायलट ने साफ कर दिया है कि फिलहाल वह बीजेपी में नहीं जा रहे हैं। उनका कहना है कि कुछ नेता पार्टी नेतृत्व के सामने उनकी छवि को खऱाब करने की कोशिश कर रहे हैं। वह अभी भी कांग्रेसी हैं।

इस बीच खबर है कि आज की प्रस्तावित प्रेस कॉन्फ्ऱेंस उन्होंने टाल दी है। इधर राजनीतिक गहमागहमी के बीच आज कांग्रेस ने सचिन पायलट और दूसरे बागी विधायकों को अयोग्य घोषित कराने की मुहिम शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ें : आखिर कैसे गहलोत अपना किला बचाने में कामयाब हुए?

 राजस्थान में आपरेशन आउट, सर्वसत्तावाद का एक और नमूना

यह भी पढ़ें :  कांग्रेस के आसमान से टूटते युवा सितारे

कांग्रेस की शिकायत पर विधानसभा अध्यक्ष ने 19 विधायकों को नोटिस जारी किया है और उन्हें शुक्रवार तक जवाब देने को कहा गया है।

मंगलवार को कांग्रेस ने बागी सचिन पायलट को उपमुख्यमंत्री पद से हटा दिया गया और राजस्थान कांग्रेस के अध्यक्ष पद भी छीन लिया गया। उनके साथ दो और मंत्रियों पर भी कार्रवाई की गई है।

पायलट के अलावा उनके करीबी विश्वेंद्र सिंह और रमेश मीणा को भी मंत्रिमंडल से हटा दिया गया है। गोविंद सिंह डोटासरा को नया प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है। कांग्रेस के मीडिया विभाग के प्रभारी रणदीप सुरजेवाला ने इन फैसलों की जानकारी दी।

कार्रवाई किए जाने को लेकर कांग्रेस प्रवक्ता सुरजेवाला ने कहा था, ‘कांग्रेस नेतृत्व ने सचिन पायलट से दो बार बात की, संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल और कांग्रेस कार्यसमिति के वरिष्ठ सदस्यों ने भी कई बार पायलट से बात की, हमने पायलट और अन्य विधायकों से अपील की कि उनके लिए सारे दरवाजे खुले हुए हैं लेकिन वे बीजेपी के षड्यंत्र में फंसकर राजस्थान सरकार को गिराने की साजिश में शामिल हो गए।’ सुरजेवाला ने कहा कि इसे कतई स्वीकार नहीं किया जा सकता।

यह भी पढ़ें :  सिंधिया और पायलट के बाद किसका नंबर ?

यह भी पढ़ें : अपनी गुगली में फंस गए सचिन 

यह भी पढ़ें : शरद पवार ने शिवसेना को बीजेपी से दूर रखने के लिए चली थी ये चाल

वहीं सचिन पायलेट ने कहा कि, ‘मैं बीजेपी में शामिल नहीं हो रहा हूं। मैं यह स्पष्ट करना चाहूंगा कि मेरी बीजेपी में शामिल होने की कोई योजना नहीं है। मुझे बीजेपी से जोडऩे का प्रयास मुझे कांग्रेस आलाकमान की नजर में बदनाम करना है।’

कांग्रेस में लगातार कार्रवाई का सामना कर रहे पायलट ने कहा कि मैं अभी भी कांग्रेस का सदस्य हूं।

मालूम हो कि पायलट रविवार को तब बगावत पर उतर आए थे जब उनके प्रतिद्वंद्वी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ उनकी अंदरुनी लड़ाई खुलकर सामने आ गई। राजस्थान एटीएस और स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप ने शुक्रवार को सचिन पायलट को नोटिस जारी किया था।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा था कि राजस्थान सरकार को अस्थिर करने की कोशिश की जा रही है। गहलोत ने यह भी कहा था कि बीजेपी कांग्रेस के हर विद्रोही विधायक को 15 करोड़ रुपए का प्रलोभन दे रही है। इसके बाद ही पायलट को नोटिस मिला है।

इस नोटिस के बाद दोनों नेताओं के बीच कटुता काफी ज़्यादा बढ़ गई। इसी बीच सचिन पायलट अपने समर्थक 19 विधायकों के साथ रविवार सुबह ही दिल्ली पहुंच गए थे। तब कहा जा रहा था कि वह वहाँ पार्टी हाई कमान से मुलाकात मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर दबाव बनाने की कोशिश में हैं।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com