Friday - 5 June 2020 - 7:16 PM

चीन से आगरा शिफ्ट हुई जर्मनी की यह नामी कम्पनी

प्रमुख संवाददाता

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में श्रम कानूनों को तीन साल के लिए निलंबित किये जाने का असर दिखने लगा है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने श्रम क़ानून को निलंबित करने का फैसला विदेशी निवेश को ध्यान में रखकर ही किया था. जर्मनी की फुटवियर कम्पनी वान वेल्क्स ने अपना प्लांट चीन से आगरा शिफ्ट करने का फैसला किया है.

उत्तर प्रदेश का आगरा जिला फुटवियर निर्माण के क्षेत्र में काफी समृद्ध माना जाता है. यही वजह है कि जर्मनी की इस कंपनी ने आगरा को अपना नया ठिकाना बनाने का फैसला किया है. यह कंपनी आगरा में हर साल तीस लाख जोड़ी जूते बनायेगी. कंपनी ने आगरा के प्लांट पर 110 करोड़ रुपये का निवेश करने और करीब 10 हज़ार लोगों को रोज़गार देने का फैसला किया है.

वान वेल्क्स ने तय किया है कि अगले दो साल में वह आगरा में अपनी एनसिलरी यूनिट का काम भी शुरू कर देगी. इस यूनिट के ज़रिये कंपनी के लिए ज़रूरी रॉ मैटीरियल तैयार किया जाएगा. रॉ मैटीरियल तैयार करने वाली यह देश की पहली यूनिट होगी. अब तक भारत में इस तरह के रॉ मैटीरियल तैयार नहीं होते हैं.

 

यह भी पढ़ें : बस वाली राजनीति में मायावती की एंट्री

यह भी पढ़ें : कोरोना काल में “बस” पर सवार हुई राजनीति

यह भी पढ़ें : ताकतवर हो रहा चक्रवात अम्फान, भारी तबाही की आशंका

यह भी पढ़ें : डंके की चोट पर : गरीब की याददाश्त बहुत तेज़ होती है सरकार

जर्मनी की इस फुटवियर कंपनी ने चीन को छोड़कर भारत में व्यापार शुरू करने का मन इसलिए बनाया क्योंकि भारत में स्किल्ड लेबर चीन के मुकाबले काफी सस्ता है. यूपी सरकार ने विदेशी निवेशकों के लिए काफी रियायतें भी घोषित की हुई हैं.

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com