‘हिंदी देश की राष्ट्रभाषा नहीं, थोपेंगे तो मनमुटाव बढ़ेगा’

जुबिली न्यूज डेस्क

बॉलीवुड अभिनेता अजय देवगन और कन्नड़ अभिनेता किच्चा सुदीप के बीच ‘हिंदी देश की राष्ट्रभाषा है’ को लेकर ट्विटर पर तकरार हुुआ था।

अब हिंदी पर मशहूर गायक सोनू निगम ने टिप्पणी की है। सिंगर ने कहा है कि हिंदी देश की राष्ट्रभाषा नहीं है। गैर हिंदी भाषी लोगों पर इसे थोपने से सिर्फ मनमुटाव ही बढ़ेगा।

sonu-nigam,JUBILEEPOST

सोमवार को एक कार्यक्रम में गायक सोनू निगम से पूछा गया कि ‘हिंदी देश की राष्ट्रभाषा है’ वाली बहस पर उनका क्या रुख है?

उन्होंने बड़ी ही साफगोई से कहा, “मुझे नहीं लगता है कि संविधान में ये बात कहीं लिखी है कि हिंदी हमारी राष्ट्रभाषा है। ये सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा हो सकती है। मैं ये समझता हूं लेकिन ये राष्ट्रभाषा नहीं है।”

यह भी पढ़ें :  ईद-उल-फितर की देशभर में धूम, सबने कहा-ईद मुबारक   

यह भी पढ़ें : हाईकोर्ट ने कहा- अपने पति को कोई भारतीय महिला शेयर नहीं कर सकती

यह भी पढ़ें : ध्वनि प्रदूषण के बहाने इस राज्य में भाजपा ने लाउडस्पीकर के खिलाफ खोला मोर्चा

News Website  सिनेमा बीस्ट से सोनू निगम ने आगे कहा, “हम सभी इससे वाकिफ हैें कि तमिल दुनिया की सबसे पुरानी भाषा है? तमिल और संस्कृत के बीच इस पर बहस रही है, लेकिन लोग कहते हैं कि दुनिया की तमिल सबसे पुरानी भाषा है।”

सिंगर सोनू निगम ने कहा, ” आखिर हम ये सब क्यों कर रहे हैं? आखिर ये बहस भी क्यों हो रही है। अपने पड़ोसी देशों को देखिए और आप अपने देश में देखिए। ऐसी बाते कर आप देश के अंदर टकराव पैदा कर रहे हैं कि आप हिंदी बोलते हैं। दूसरों को भी बोलनी चाहिए, लेकिन उन्हें हिंदी क्यों बोलना चाहिए।

सिंगर ने कहा, लोगों को जिस भाषा में बात करनी है करने दीजिये, आप उन लोगों के पीछे क्यों पड़े हैं कि सिर्फ एक ही भाषा बोली जाएगी।

सोनू निगम ने कहा कि अगर गैर हिंदी भाषी अंग्रेजी बोलने में अधिक है तो ये कोई मुद्दा नहीं होना चाहिए.”

उन्होंने कहा, ”पंजाब लोग पंजाबी बोल सकते हैं। तमिल लोग तमिल में सहज हैं तो इसमें बात कर सकते हैं। अगर अंग्रेजी में सहज हैं तो इसमें बात कर सकते हैं। ये मुद्दा नहीं होना चाहिए।”

गायक ने कहा, ”ये क्या है कि हमें हिंदी ही बोलना चाहिए। यह ऐसा ही है जैसे कोई कहे कि यह हमारा देश है। हम आपसे बेहतर हैं, आप हमारी भाषा सीखिये। लेकिन वे ये कैसे बोल सकते हैं।”

क्या शुरु हुआ विवाद

ट्विटर पर अभिनेता अजय देवगन ने लिखा था, “हिंदी हमारी मातृभाषा और राष्ट्रीय भाषा थी, है और हमेशा रहेगी। जन गण मन।”

दरअसल अजय ने यह टिप्पणी कन्नड़ अभिनेता किच्चा सुदीप के उस बयान पर जवाब देते हुए की थी जिसमें उन्होंने कहा था कि हिंदी देश की राष्ट्रभाषा नहीं है।

अजय देवगन ने अपने जवाब में कहा था, “आपके अनुसार अगर हिंदी हमारी राष्ट्रीय भाषा नहीं है तो आप अपनी मातृभाषा की फिल्मों को हिंदी में डब करके क्यूं रिलीज करते हैं?”

यह भी पढ़ें :  जोधपुर में बवाल के बाद हालात ‘संवेदनशील’, इंटरनेट बंद

यह भी पढ़ें : कभी भी गिरफ्तार हो सकते हैं ठाकरे

यह भी पढ़ें :  2030 तक भारत को जर्मनी देगा 10 अरब यूरो की मदद 

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com