Thursday - 29 October 2020 - 6:22 PM

मोरना को कैराना बनने से रोकिए CM साहब !

जुबिली न्यूज़ डेस्क

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को बुलंदशहर विधानसभा उपचुनाव के लिए भाजपा के बूथ, मंडल और सेक्टर पदाधिकारियों को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में अब कोई ‘कैराना या कांधला’ नहीं बन पाएगा।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि, कुत्सित राजनीति की भेंट चढ़े ‘मुजफ्फरनगर’ की पुनरावृत्ति नहीं होने दी जाएगी। इन जगहों पर क्या हुआ था? किसकी वजह से हुआ था? सबको पता है। ऐसे ही लोग अपनी नापाक हरकतों के साथ पश्चिमी उत्तर प्रदेश को एक बार फिर सांप्रदायिकता और जातीयता की आग में झोंकना चाहते हैं। इनके रग-रग में दंगा बसा है। इनके मंसूबों को कतई कामयाब नहीं होने देंगे। एक-एक कर सबकी पहचान हो रही है। इन पर कार्रवाई भी होगी।

गौरतलब है कि सीएम का यह बयान हाथरस की घटना पर था लेकिन उन्होंने कैराना और कांधला का नाम लेकर लोगों का पलायन के मुद्दे की ओर ध्यान आकर्षित करने की कोशिश की है। पिछले विधानसभा चुनाव में यह मुद्दा बीजेपी की ओर से बड़ी जोर शोर से उठाया गया था।

पार्टी नेताओं का आरोप था कि इन क्षेत्रों में बहुत से लोग एक विशेष समुदाय के अत्याचार की वजह से पलायन करने को मजबूर हैं। अब एकबार फिर से सूबे की सात विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होने जा रहे हैं और आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारियां भी शुरू हो गई है तो ऐसे में सीएम योगी दोबारा इस मुद्दे को धार दे रहे हैं लेकिन उनके इस दावे में कितनी सच्चाई है वह समझने की भी जरुरत है।

यह भी पढ़ें : ‘आप अपना डीएनए जरूर टेस्ट कराइए, नफरत के सिवा कुछ भी नहीं मिलेगा’

मुख्यमंत्री का अप्रत्यक्षरूप से कहना है कि अब लोगों को पलायन नहीं करना पड़ेगा क्योंकि प्रदेश में कानून का राज है और सभी लोग सुरक्षित हैं जबकि कुछ दिनों पूर्व समाजवादी पार्टी के व्यापार सभा के प्रदेश अध्यक्ष संजय गर्ग ने मौजूदा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि, उत्तर प्रदेश में बढ़ते अपराध से त्रस्त होकर व्यापारी पलायन को मजबूर हो गये हैं। गर्ग ने मुजफ्फरनगर में मेडिकल कारोबारी की हत्या पर प्रतिक्रिया देते हुए यह आरोप लगाया।

उन्होंने बताया कि मोरना से एक दर्जन व्यापारी गुंडों की चौथ वसूली से परेशान होकर पलायन कर चुके हैं। जुबिली पोस्ट से बातचीत में संजय गर्ग ने बताया कि कुछ परिवारों के विषय में जानकारी है जो अपने रिश्तेदारों के यहां रह रहे हैं। गर्ग ने इलाके में दहशतगर्दी के लिए बीजेपी के एक सांसद को जिम्मेदार ठहराया।

उन्होंने इस घटना के आलावा अन्य घटनाओं का भी जिक्र किया जिनमे व्यापरियों के साथ लूट, हत्या और जबरन वसूली के मामले शामिल हैं। उन्होंने कहा कि मोरना में ध्वस्त कानून व्यवस्था की वजह से पलायन हो रहा है। उनके संज्ञान में कई मामले हैं।

वरिष्ठ पत्रकार भाष्कर दुबे का इस संबंध में कहना है कि, जो लोग प्रदेश छोड़कर गए है उनके विषय में संजय गर्ग को पूरा विवरण देना चाहिए। मुख्यमंत्री पर जो आरोप समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक लगा रहे हैं, उसके विषय में सबूत देना चाहिए। उन्होंने कहा कि हत्या और लूट की घटनाएं तो पिछली सरकारों में भी होती थी अब भी हो रही हैं।

बता दें कि मोरना में हाल ही में मेडिकल स्टोर संचालक की हत्या के बाद पलायन के पोस्टर भी लगाए गए थे जिन्हें बाद में केन्द्रीय मंत्री की नाराजगी के बाद प्रशासन ने हटवाया था।

यह भी पढ़ें : प्यार में रोड़ा बनी जाति तो प्रेमी जोड़े ने उठाया ये कदम

यह भी पढ़ें : डंके की चोट पर : इज्जत टीआरपी में नहीं खबर की सच्चाई में है

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com