Wednesday - 15 July 2020 - 3:35 AM

क्या लॉकडाउन ने तोड़ दिया था इस एक्ट्रेस का सपना

न्यूज़ डेस्क

इंदौर। चर्चित क्राइम शो ‘क्राइम पेट्रोल’ के अलावा मेरी दुर्गा, लाल इश्क आदि में काम कर चुकी 25 वर्षीय प्रेक्षा मेहता ने इंदौर स्थित अपने घर पर फांसी लगा ली।

लॉकडाउन के चलते वो मुंबई से घर आ गई थी। अपने करियर को लेकर आशंकित प्रेक्षा परेशान थी। उसने सोशल प्लेटफार्म पर इसका जिक्र किया है। इंदौर के बजरंग नगर में फांसी लगाकर अपनी जान दे दी। वो मुंबई में टीवी सीरियल में काम करती थीं।

ये भी पढ़े: त्रासदी की कविता : देवेन्द्र आर्य ने देखा “पैदल इंडिया”

ये भी पढ़े: त्रासदी की ग़ज़ल : रोटियाँ तो रेलवाली पटरियाँ सब खा गईं

फिलहाल इंदौर पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी। पुलिस ये पता लगाने का प्रयास करने में जुट गई कि आखिर मौत की वजह सिर्फ करियर का सपना टूटने का डर था या पर्दे के पीछे छुपा हुआ है कोई और राज है।

ये भी पढ़े: लॉकडाउन के बाद भवन सामग्री सस्ती फिर भी कम हैं डिमांड

ये भी पढ़े: विदेश से आये 83 जमातियों के पासपोर्ट जब्त, कोर्ट में चार्जशीट दाखिल

एक्ट्रेस के पिता के मुताबिक लॉकडाउन होने के पर वो घर आ गई थी। मुंबई में जिस तरह कोरोना वायरस बढ़ता जा रहा है और लगातार लॉकडाउन होने से, युवती को लगा कि लंबे समय तक काम नहीं मिलेगा। इसके चलते डिप्रेशन में आकर उन्होंने ये कदम उठाया है।

प्रेक्षा के पास से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। प्रेक्षा ने कई नाटकों और वीडियो एलबम में काम किया था। वो अक्षय कुमार की फिल्म पैडमैन में भी नजर आई थी।

एक्ट्रेस ने सोनी टीवी और कलर्स जैसे बड़े चैनल के कई प्रोग्राम में काम किया है। एक्ट्रेस की जिंदगी का आखिरी व्हाट्सएप स्टेटस था- सबसे बुरा होता हैं सपनों का मर जाना।

लॉकडाउन की वजह से एक्ट्रेस प्रेक्षा मेहता जैसी कई कलाकार है, जिन्हें काम की चिंता है। बता दें कि थिएटर में प्रेक्षा की शुरुआत अभिजीत वाडकर, संतोष रेगे और नगेंद्र सिंह राठौर के नाट्य ग्रुप ‘ड्रामा फैक्टरी’ से हुई।

ये भी पढ़े: क्या कोरोना युद्ध में असफल हो रही है सरकार ?

ये भी पढ़े: प्रियंका का ऐलान : न्याय मिलने तक जारी रहेगा संघर्ष

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com