Monday - 12 April 2021 - 12:28 AM

सऊदी अरब में उमरा के लिए कोरोना का टीका जरूरी

जुबिली न्यूज डेस्क

दुनिया के अधिकांश देशों में कोरोना का टीकाकरण चल रहा है, बावजूद इसके कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं। मामलों को देखते हुए देश एहतियात भी बरत रहे हैं।

इसी कड़ी में सऊदी अरब में उमरा के लिए आने वालों के लिए नियम बनाया गया है। सऊदी के अधिकारियों ने कहा है कि जो लोग कोरोना का टीका लगवा चुके हैं उन्हें ही उमरा करने की इजाजत होगी।

नये नियम के अनुसार रमजान माह में सिर्फ कोरोना का टीका लगवा चुके ही उमरा के लिए जा पाएंगे।

सऊदी अरब के हज और उमरा मंत्रालय ने अपने एक बयान में कहा है कि तीन श्रेणियों के लोगों को “प्रतिरक्षित” माना जाएगा। पहला जिन लोगों ने कोरोना वैक्सीन की दो खुराकें ली हुई हैं, दूसरा उन लोगों को जिन्होंने 14 दिन पहले कोरोना की खुराक ली हो और तीसरा वे लोग जो कोरोना के संक्रमण से ठीक हो चुके हैं।

बयान में कहा गया है कि उमरा के लिए इन्हीं लोगों को इजाजत दी जाएगी और मक्का की मस्जिद अल-हरम में नमाज पढऩे की छूट होगी।

बयान में यह भी कहा गया है कि इस नीति के लागू किए जाने से रमजान के दौरान मस्जिद अल-हरम की परिचालन क्षमता बढ़ जाएगी।”

बयान में साथ ही यह भी कहा गया है कि यह शर्त मदीना में पैगंबर मोहम्मद की मस्जिद, मस्जिद-ए-नबवी के लिए भी लागू होंगी।

मंत्रालय ने कहा है कि यह नीति रमजान से शुरू होगी, जो इस महीने के मध्य में शुरू होने वाला है, लेकिन यह स्पष्ट नहीं है कि यह कब तक जारी रहेगी।

ये भी पढ़े: डंके की चोट पर : सत्ता के लिए धर्म की ब्लैकमेलिंग कहां ले जाएगी ?  

ये भी पढ़े:  पश्चिम बंगाल समेत सूबे के पांच राज्यों में मतदान जारी

ये भी पढ़े: बंगाल : टीएमसी नेता के घर पर मिला ईवीएम, सेक्टर अधिकारी निलंबित

बयान से यह भी साफ नहीं है कि क्या यह दिशा-निर्देश, जो सऊदी अरब में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच लागू किया गया है, को इस साल के हज यात्रा के लिए बढ़ाया जाएगा।

सऊदी में कोविड-19 संक्रमण के 3,93,000 से अधिक मामले दर्ज किए हैं और कोविड-19 के चलते 6,700 से अधिक मौतें हुईं हैं।

इस मामले में सऊदी के स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि उसने 3.4 करोड़ आबादी वाले देश में अब तक 50 लाख लोगों को कोरोना की वैक्सीन की खुराक दी है।

ये भी पढ़े: अगवा हुए जवान की नन्ही बेटी ने नक्सलियों से की ये अपील

ये भी पढ़े: कोरोना बढ़ा तो शेयर बाजार में कैसा हाहाकार

कोरोना महामारी के कारण पछले साल आधुनिक इतिहास में सबसे कम लोग हज के लिए सऊदी अरब पहुंचे थे। सिर्फ 10 हजार लोग ही हज में शामिल हो पाए थे जबकि अन्य सालों में लाखों लोग दुनिया भर से हज के लिए मक्का पहुंचते हैं।

साल 2019 में तो करीब 25 लाख लोग हज के लिए पहुंचे थे।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com