Wednesday - 8 February 2023 - 11:55 AM

इंटरनेट की काली दुनिया, जहां बिकती है लोगों की पर्सनल डिटेल्स ‘अवैध काम’

जुबिली न्यूज डेस्क

आज के दौर में इंटरनेट हमारी जिंदगी का एक अहम हिस्सा बन चुका है. किसी को कुछ सर्च करना हो या फिर एक छोटी पेमेंट करनी हो, सब कुछ इंटरनेट की मदद से हो रहा है. वैसे इंटरनेट की भी अपनी एक दुनिया है. हमारी रियल लाइफ की तरह ही इस दुनिया में भी बहुत कुछ होता है. इस दुनिया में एक शब्द Dark Web है.

डेटा लीक की चर्चा के बीच ये शब्द बहुत बार सुना या पढ़ा जाता है. इसे इंटरनेट की दुनिया का वो काला राज कहते हैं, जहां हमारा और आपका बहुत सा डेटा मौजूद होता है. इस डेटा को कभी कौड़ियों के भाव तो कभी हीरे की कीमत पर बेचा जाता है.

तीन हिस्सों में है इंटरनेट की दुनिया

जिस तरह से हमारी दुनिया जमीन, आसमान और पानी तीन हिस्सों में बांटी हुई है, उसकी तरह से इंटरनेट की दुनिया भी है. यहां जो हम देख, पढ़ या सर्च कर रहे हैं, वो पूरी इंटरनेट की दुनिया का महज एक छोटा सा हिस्सा है. हमें जो कुछ इंटरनेट पर दिखता है, ये सब ओपन वेब या सर्फेस वेब का हिस्सा है.पूरे इंटरनेट का महज 5 परसेंट है. यानी आप गूगल, बिंग या किसी दूसरे सर्च इंजन पर जो कुछ सर्च कर रहे हैं, ये सब कुछ इंटरनेट की दुनिया का सिर्फ 5 परसेंट है. आप इन वेब पेज को इसलिए देख पाते हैं क्योंकि सर्च इंजन इन्हें इंडेक्स करते हैं. मगर इंटरनेट की दुनिया इन सब के कहीं ज्यादा बड़ी है.

क्या होता है Deep Web? 

डीप वेब ये इंटरनेट का 90 परसेंट से ज्यादा हिस्सा है. कहा जाता है कि इंटरनेट का ये हिस्सा इतना बड़ा है कि कोई पता नहीं लगा सकता है कि यहां कितने ही वेब पेज हैं या वेबसाइट एक्टिव हैं.डीप वेब में ही आपको इंटरनेट की दुनिया का वो काला राज भी मिलेगा, जिसे लोग डार्क वेब कहते हैं.

बहुत बार डार्क वेब और डीप वेब को लोग एक ही समझते हैं, लेकिन ये दोनों अलग हैं. डीप वेब का बहुत सा हिस्सा लीगल और सुरक्षित माना जाता है. यहां आपको डेटा बेस से लेकर इंट्रानेट्स तक मिलेंगे. वैसे तो इस पर ज्यादातर कंटेंट सेफ होता है और इसे यूजर्स की प्राइवेसी को बचाने के लिए हाइड रखा जाता है.

Dark Web क्या है? 

डार्क वेब इंटरनेट की दुनिया का वो हिस्सा है, जहां तक आपका सर्च इंजन नहीं पहुंचता है. इन्हें स्पेशल वेब ब्राउजर से एक्सेस किया जा सकता है. इस हिस्से तक बहुत कम लोगों की पहुंच है. यहां के वेब पेज को सर्च इंजन द्वारा इंडेक्स नहीं किया जाता है. डार्क वेब को बहुत खतरनाक माना गया है और यहां पर कई अवैध काम होते हैं. साइबर वर्ल्ड की ये दुनिया अवैध कामों का ठिकाना माना जाता है.

ये भी पढ़ें-नवाबों का शहर लखनऊ फिर दिखेगा हॉकी का क्रेज, इस बड़े टूर्नामेंट की मेजबानी

कभी इस दुनिया में हैकर्स, लॉ इंफोर्समेंट ऑफिसर्स और साइबर क्रिमिनल्स का दबदबा होता था. हालांकि, एन्क्रिप्शन और The Onion Router जैसी नई टेक्नोलॉजी की मदद से लोग डार्क वेब तक पहुंच सकते हैं. वैसे तो डार्क वेब का इस्तेमला गैरकानूनी नहीं है, लेकिन इसके कई खतरे होते हैं. यहां आप स्कैम, संदिग्ध सॉफ्टवेयर या सरकारी मॉनिटरिंग का शिकार हो सकते हैं. यही वजह है कि सामान्य यूजर्स को इंटरनेट की इस दुनिया से दूर रहने की सलाह दी जाती है.

ये भी पढ़ें-छंटनी का सिलसिला जारी, अब इस कंपनी ने 100 से ज्यादा कर्मचारियों को निकाला

 

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com