Thursday - 29 October 2020 - 2:26 AM

बंगाल चुनाव : ये मंत्री बीजेपी के पक्ष में बनायेंगे माहौल

जुबिली न्यूज डेस्क

कोरोना महामारी की वजह से आम लोगों की जिंदगी भले ही रुक गई हो पर भारतीय जनता पार्टी के कामकाज पर कोई फर्क नहीं पड़ा है। बीजेपी इस महामारी के बीच में बिहार व पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव पर केंद्रित है।

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव भले ही अगले साल हो लेकिन प्रदेश बीजेपी इकाई चुनाव की तैयारियों में जुटी हुई है। राज्य स्तर पर बीजेपी ममता सरकार के खिलाफ मोर्चा खोले हुए है तो वहीं बंगाल भाजपा इकाई ने राष्ट्रीय नेतृत्व से राज्य में आगामी विधानसभा चुनाव में प्रचार के लिए 6 केंद्रीय मंत्रियों की मांग की है।

बुधवार को पश्चिम बंगाल कोर कमेटी की बैठक हुई। बैठक में पार्टी के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय समेत राज्य के कई नेता मौजूद थे।

इस बैठक में कहा गया कि राज्य में पार्टी के चुनाव प्रचार के लिए केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, रेल मंत्री पीयूष गोयल, प्रह्लाद पटेल, कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और किरेन रिजिजू को बुलाने की मांग की जाएगी।

यह भी पढ़ें : बिहार विधानसभा चुनाव लड़ने को लेकर पूर्व डीजीपी ने क्या कहा?

यह भी पढ़ें :दुनिया के 100 प्रभावशाली लोगों में शामिल हुए आयुष्मान

यह भी पढ़ें :लखनऊ: अस्पतालों की लापरवाही के चलते 48 कोरोना संक्रमितों की मौत

पार्टी सूत्रों के मुताबिक ये मंत्री राज्य में एक से डेढ़ महीने चुनाव प्रचार करेंगे। इसके बाद पार्टी एक बैठक करेगी उसमें आगे की रणनीति पर निर्णय लिया जाएगा। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी धारा प्रवाह बंगाली बोलती हैं। इससे वह लोगों से सीधे जुडऩे की कोशिश करेंगी। धर्मेंद्र प्रधान के ओडिशा के करीब क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करने की संभावना है। वहीं, रिजिजू उत्तर पूर्वी राज्यों के पास के इलाकों में प्रचार करेंगे तो कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर कृषि बिल के खिलाफ विपक्ष के अभियान का मुकाबला करेंगे।

सूत्रों के मुताबिक, ‘चूंकि पश्चिम बंगाल में रेलवे का व्यापक नेटवर्क है, इसलिए रेल मंत्री पीयूष गोयल भी प्रभावशाली हो सकते हैं। वहीं, प्रह्लाद पटेल संस्कृति और युवाओं पर केंद्रित हमारे चुनावी अभियान में फिट होंगे।’

यह भी पढ़ें : तो क्या बिहार के डीजीपी ने चुनाव लड़ने के लिए छोड़ी है कुर्सी?

बैठक में उपस्थित पार्टी नेताओं ने कहा कि बीजेपी जल्द ही राज्य में बड़े पैमाने पर अभियान शुरू करेगी, जो “राजनीतिक हत्या, लोकतंत्र की हत्या और राज्य में अराजकता” पर केंद्रित होगी।

पार्टी का नैरेटिव यह होगा कि तृणमूल कांग्रेस पश्चिम बंगाल के सांस्कृतिक और सामाजिक चरित्र को बदलने की कोशिश कर रही है।

बीजेपी तृणमूल पर मुस्लिमों का समर्थन हासिल करने के लिए तुष्टिकरण की राजनीति करने का आरोप भी लगाती रही है। इसके तहत वे कहते हैं कि बांग्लादेश से अवैध अप्रवासी को राज्य में बसाया जा रहा है।

पार्टी ने गृह मंत्री अमित शाह से राज्य में युवाओं के “कट्टरपंथीकरण” के खिलाफ हस्तक्षेप करने की मांग करते हुए कहा है कि राज्य की सत्तारूढ़ पार्टी राज्य को “आतंकवाद के लिए पनपने की भूमि” में बदलने की कोशिश कर रही है।

यह भी पढ़ें : अब अनुराग कश्यप पर लगा रेप का आरोप

यह भी पढ़ें : क्या भारत ने चीन सीमा पर स्वीकार कर ली है “यथा स्थति” ?

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com