Saturday - 19 September 2020 - 9:48 PM

अयोध्या : सिक्योरिटी कोड से मिलेगी इंट्री, भूमि पूजन पर पढ़े पूरी खबर

जुबिली स्पेशल डेस्क

राम नगरी अयोध्या राम मंदिर निर्माण के लिए पांच अगस्त को होने वाले भूमि पूजन के लिए पूरी तरह से तैयार है। इस भव्य कार्यक्रम को लेकर तैयारी अब अंतिम चरण में है। श्री रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय सोमवार को पत्रकारों से बातचीत में कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत मंगलवार शाम को अयोध्या पहुंचेंगे। इसके साथ उन्होंने यह भी बताया कि इस भूमि पूजन के लिए 136 संतों को निमंत्रण भेजा गया है।

भूमि पूजन में भाग लेने के लिए विश्व हिंदू परिषद के नेता दिनेश चंद सहित हरिद्वार अखाड़ा के महंत पहले ही अयोध्या पहुंच गए है। चंपत राय ने बताया कि अयोध्या में मेहमानों को कार्ड बंटने शुरू हो गए है। उन्होंने कहा कि निमंत्रण पत्र पर सिक्योरिटी कोड लगा है। कार्ड पर जो कोड होगा उसी के आधार पर पुलिस प्रवेश देगी।

मंच पर पीएम मोदी के साथ केवल चार लोग होंगे शामिल

उन्होंने इस दौरान किन-किन लोगों को बुलाया गया इसको लेकर भी जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय स्यवंसेवक संघ से मोहन भागवत के साथ-साथ भैय्या जी जोशी भी इस खास कार्यक्रम में मौजूद रहेगे। उन्होंने आगे कहा कि हमने बाबरी मस्जिद के मुद्दई रहे इकबाल अंसारी और फैजाबाद निवासी मोहम्मद शरीफ को भी निमंत्रण भेजा है। हालांकि इस कार्यक्रम में संत महात्मा मिलाकर करीब 175 लोग शामिल होंगे।

चंपत राय ने पीएम मोदी को लेकर कहा कि प्रधानमंत्री के साथ भूमि पूजन समारोह के मंच पर सिर्फ चार और लोग होंगे।

इसमें राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत, उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास के नाम शामिल है।

यह भी पढ़ें : एक हुक्के से हुए 24 कोरोना पॉजिटिव, एक की मौत

यह भी पढ़ें : … और इस तरह से उमा भारती ने खुद को असहज होने से बचा लिया

हरे रंग के विवाद क्या बोले चंपत राय

बता दें कि रामलला के हरे वस्त्र पहनने को लेकर विवाद हो चुका है। इसको लेकर चंपत राय ने बेबाकी से जवाब दिया है और पत्रकारों से बातचीत में कहा कि कहा कि कुछ लोगों ने रामलला के हरे वस्त्र पहनने पर भी सवाल उठाए हैं। ये तो परम्परा से होता आया है. ये पेड़ों की हरियाली क्या इस्लाम है? हरी साग सब्जी क्या इस्लाम खाना है? ये तो भारत और दुनिया की समृद्धि और खुशहाली का प्रतीक है। इसे आगे नहीं बढ़ाया जाना चाहिए। ये बौद्धिक दिवालियापन है।

यह भी पढ़ें : मैं दैत्यों की सभा में (गुरु) शुक्राचार्य था…

यह भी पढ़ें : अयोध्या की सीमाएं सील, केवल एंबुलेन्स को छूट

अयोध्या में होगी कड़ी सुरक्षा

चंपत राय ने सुरक्षा व्यवस्था को लेकर कहा कि जिन लोगों को निमंत्रण पत्र भेजा जा रहा है। उस निमंत्रण पत्र पर एक सिक्योरिटी कोड दर्ज होगा। ये कोड एक बार ही काम करेगा। इतना ही नहीं जो प्रवेश करेगा एक बार अंदर जाने के बाद दोबारा वापस नहीं आ सकता। इस दौरान कोई भी इलेक्ट्रॉनिक उपकरण नहीं जा सकता।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com