अवध विश्वविद्यालय : ऐसी कौन सी मजबूरी थी कि कुलपति और शिक्षक हो गए बेघर

  • मजबूर प्रशासन, लाचार कुलपति  
  • दम तोड़ता अवध विश्वविद्यालय 

ओम प्रकाश सिंह

अवध विश्वविद्यालय के कुलपति ने अपना आवास खाली कर दिया है तथा 60 फीसदी से अधिक शिक्षकों ने अपने आवास खाली कर दिए हैं। इन लोगों को रहने की वैकल्पिक सुविधा उपलब्ध करा दी गई है, इसमें कई गैर आवासीय भवन भी हैं।

हवाई अड्डे की कार्य प्रगति को देखने से पता चलता की हवाई अड्डे का कार्य सिर्फ रनवे के निर्माण तक ही अभी सीमित है। ना तो हवाई अड्डे तक आने के लिए अप्रोच मार्ग निर्माण शुरू हो पाया है और ना ही जबरदस्ती अधिकृत किए गए गांव के लोगों का विस्थापन हुआ है।

गांव के लोगों से बातचीत करने पर पता चला कि उनके मुआवजे की धनराशि उनके खातों में आ गई है किंतु अभी घर बनाने के लिए सरकार द्वारा जमीन उपलब्ध नहीं कराई गई है।

यह भी पढ़ें :  लगातार दूसरी बार टारगेट हासिल करने में नाकाम रहा रेलवे

यह भी पढ़ें :   एफडी कराने की सोच रहे हैं तो जान लें RBI का नया नियम

यह भी पढ़ें :  क्या वाकई ट्विटर खरीदेंगे अरबपति एलन मस्क ?

जब इन लोगों को जमीन मिल जायेगी तब वे अपने आवास का निर्माण करेंगे। उसके बाद ही उनको गांव खाली करना है। ऐसी स्थिति में विश्वविद्यालय की कौन सी मजबूरी है की एक नोटिस पर आवासों को तत्काल खाली करना पड़ रहा है।

हवाई अड्डे के कार्यालय का निर्माण तुरंत संभव नहीं हो सकता। गांव वालों को घर बनाने के लिए भी अभी कोई निश्चित समय सीमा निर्धारित नहीं की गई है। वहीं दूसरी और विश्वविद्यालय की शैक्षणिक आवासीय कालोनियों को खाली करने के लिए तत्काल अल्टीमेटम दे दिया गया। यह तथ्य समझ से परे है।

अवध विश्वविद्यालय की लगभग 25 एकड़ जमीन और 50 करोड़ से अधिक के भवनों का अधिग्रहण शासन ने बिना एक चवन्नी दिए हुए कर लिया है। आखिर इस कार्रवाई पर कुलपति और कुलसचिव सहित पूरा विश्वविद्यालय प्रशासन क्यों मौन है?

यह भी पढ़ें : यूएन स्कैंडल : भारत में सस्ते मकान बनाने के लिए 2.5 मिलियन डॉलर का निवेश, लेकिन एक घर भी नहीं बना

यह भी पढ़ें :  श्री काशी विश्वनाथ धाम के लोकार्पण के बाद वाराणसी में पर्यटकों की आमद बढ़ी 

यह भी पढ़ें :  शतरंजी चालों से राजनैतिक दलों ने बिगाड़ा है देश का माहौल

वैसे इसके पीछे तमाम चर्चाएं चल रही हैं। कहा जा रहा है कि विश्वविद्यालय में हुए भ्रष्टाचार के खिलाफ शासन कोई जांच ना करें इसलिए जो शासन कर रहा है उसे आंख मूंदकर मान लो।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com