Wednesday - 8 February 2023 - 12:08 PM

मधुबाला की मौत के बाद भागते हुए मुंबई पहुंचे थे दिलीप कुमार, जानिए फिर क्या हुआ?

जुबिली न्यूज डेस्क

मशहूर बॉलीवुड अभिनेता दिलीप कुमार की बुधवार सुबह निधन हो गया। वह 98 साल के थे। लंबे समय से बीमार चल रहे दिलीप कुमार को पिछले दिनों सांस लेने में तकलीफ के चलते मुंबई के हिंदूजा अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

ट्रेजडी किंग के नाम से मशहूर दिलीप कुमार अपने सिनेमाई करियर के अलावा निजी जिंदगी को लेकर भी खूब चर्चा में रहे। खासकर अभिनेत्री मधुबाला से उनके रिश्ते को लेकर तमाम बातें कही गई हैं।

‘हुस्न की मल्लिका’ के नाम से मशहूर मधुबाला और दिलीप कुमार की पहली मुलाकात साल 1951 में आई फिल्म ‘तराना’  की शूटिंग के दौरान हुई थी। दिलीप कुमार मधुबाला को देखते ही उनकी खूबसूरती और मासूमियत पर फिदा हो गए थे।

चंद दिनों बाद ही दिलीप कुमार ने मधुबाला से अपने प्यार का इजहार कर दिया। साल 1955 में दोनों ने अपने रिश्ते को सार्वजनिक तौर पर भी स्वीकार लिया।

लेकिन दोनों का रिश्ता लंबा नहीं चल सका। सबसे पहले तो मधुबाला के पिता अताउउल्लाह खान इस रिश्ते के खिलाफ थे। मधुबाला की छोटी बहन मधुर भूषण ने बीबीसी को दिए एक इंटरव्यू में कहा था कि अब्बा को दोनों का रिश्ता पसंद नहीं था। हालांकि मधुबाला अपने पिता के एतराज को दरकिनार कर दिलीप कुमार से मिलती रहीं, लेकिन इसी दौरान एक ऐसा वाकया हुआ जिससे दोनों के रिश्ते में दरार आ गई।

यह भी पढ़ें : पेशावर के यूसुफ खान कैसे बने दिलीप कुमार

यह भी पढ़ें :  नहीं रहे दिग्गज अभिनेता दिलीप कुमार

क्या था वो वाकया?

मशहूर फिल्म निर्माता बी.आर. चोपड़ा ‘नया दौर’ नाम की फिल्म बना रहे थे। फिल्म में दिलीप कुमार के साथ मधुबाला लीड रोल में थीं। कुछ सीन मध्य प्रदेश में शूट होने थे। लेकिन ऐन मौके पर मधुबाला के पिता अड़ गए। वे नहीं चाहते थे कि मधुबाला, दिलीप कुमार के साथ बाहर जाएं।

मजबूरन बी.आर चोपड़ा को मधुबाला को रिप्लेस कर वैजयंती माला को लेना पड़ा। मधुबाला इससे नाराज हो गई और अदालत चली गईं। सुनवाई के दौरान तमाम गवाहों की लिस्ट में दिलीप कुमार का भी नाम था।

उन्होंने पूरा वाकया जस का तस रख दिया। दिलीप कुमार की गवाही से मधुबाला इतनी नाराज हुईं कि इसे धोखा करार दे दिया। इस तरह दोनों की राहें जुदा हो गईं।

यह भी पढ़ें :  BJP और शिवसेना की ‘दोस्ती’ पर उद्धव ठाकरे का दिलचस्प बयान

यह भी पढ़ें :   योगी की टेंशन बढ़ा सकती हैं ममता, जानिए कैसे

मौत की खबर सुन भागते हुए पहुंचे थे मुंबई

23 फरवरी 1969 को जब मधुबाला का निधन हुआ, उस समय दिलीप कुमार मद्रास में अपनी फिल्म ‘गोपीÓ की शूटिंग कर रहे थे। उन्हें जैसे ही मधुबाला के निधन की खबर मिली भागते हुए मद्रास से बॉम्बे पहुंचे।

वरिष्ठ पत्रकार और लेखक राशिद किदवई अपनी किताब ‘नेता-अभिनेता: बॉलीवुड स्टार पावर इन इंडियन पॉलिटिक्स’ में लिखते हैं ‘जब तक दिलीप कुमार मुंबई पहुंचे तब तक मधुबाला सुपुर्द-ए-खाक हो चुकी थीं। दिलीप कुमार सीधे उनके कब्र पर पहुंचे। फूल चढ़ाया और बुझी आंखों से काफी देर तक कब्र को ताकते रहे।’

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com