Saturday - 26 September 2020 - 5:56 AM

आखिर शिवसेना क्यों कर रही जया बच्चन की तारीफ

जुबिली न्यूज डेस्क

समाजवादी पार्टी की सांसद जया बच्चन ने मंगलवार को राज्यसभा में इशारों-इशारों में अभिनेता और सांसद रवि किशन और अभिनेत्री कंगना रनौत पर जमकर निशाना साधा था। उन्होंने कहा था कि ये लोग जिस थाली में खाते हैं, उसी में छेद करते हैं। जया बच्चन के राज्यसभा में दिए गए बयान से शिवसेना गदगद नजर आ रही है।

ये भी पढ़े: रूस में मंत्रियों की बातचीत से पहले एलएसी पर हुई थी 100-200 राउंड फायरिंग

ये भी पढ़े:  एयर इंडिया को नहीं मिल रहे खरीददार, अब क्या करेगी मोदी सरकार?

जया बच्चन के राज्यसभा में दिए गए बयान से शिवसेना गदगद नजर आ रही है। शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ के संपादकीय में जया बच्चन की तारीफ की है और कहा है कि वह अपने बेबाकी और सच बोलने के लिए प्रसिद्ध हैं।

मंगलवार को राज्यसभा में जया बच्चन ने कहा था कि जिन लोगों ने सिनेमा जगत से नाम-पैसा सब कुछ कमाया, वे अब इस क्षेत्र को गटर की उपमा दे रहे हैं। मैं इससे सहमत नहीं हूं।

ये भी पढ़े: सपा के इस नेता ने कंगना को दिया ऐसा जवाब कि लटका मुंह पर ताला

ये भी पढ़े:  ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका की कोरोना वैक्सीन का ट्रायल भारत में फिर से शुरु

शिवसेना ने बुधवार को अपने मुखपत्र सामना में लिखा, ‘हिंदुस्थान (हिन्दुस्तान) का सिने जगत पवित्र गंगा की तरह निर्मल है, ऐसा दावा कोई नहीं करेगा। मगर जैसा कि कुछ टीनपाट कलाकार दावा करते हैं कि सिनेजगत ‘गटर’  है, ऐसा भी नहीं कहा जा सकता। सांसद जया बच्चन ने राज्यसभा में इसी पीड़ा को व्यक्त किया है। ‘जिन लोगों ने सिनेमा जगत से नाम-पैसा सब कुछ कमाया। वे अब इस क्षेत्र को गटर की उपमा दे रहे हैं। मैं इससे सहमत नहीं हूं।’  जया बच्चन के ये विचार जितने महत्वपूर्ण हैं, उतने ही बेबाक भी हैं। ये लोग जिस थाली में खाते हैं, उसी में छेद करते हैं। ऐसे लोगों पर जया बच्चन ने हमला किया है। जया बच्चन सच बोलने और अपनी बेबाकी के लिए प्रसिद्ध हैं।

सामना में आगे लिखा गया है, ‘जया बच्चन ने अपने राजनीतिक और सामाजिक विचारों को कभी छुपाकर नहीं रखा। महिलाओं पर अत्याचार के संदर्भ में उन्होंने संसद में बहुत भावुक होकर आवाज उठाई है। ऐसे वक्त में जब सिनेजगत की बदनामी और धुलाई शुरू है, अक्सर तांडव करने वाले अच्छे-खासे पांडव भी जुबान बंद किए बैठे हुए हैं। मानो वे किसी अज्ञात आतंकवाद के साए में जी रहे हैं और कोई उन्हें उनके व्यवहार और बोलने के लिए पर्दे के पीछे से नियंत्रित कर रहा है। ऐसे में जया बच्चन की बिजली कड़कार्ई है।’

बॉलीवुड को बदनाम किया जा रहा

शिवसेना ने आगे कहा, मनोरंजन जगत में जब ‘लाइट, कैमरा, एक्शन’  बंद है, लोगों का ध्यान मुख्य मुद्दों से हटाने के लिए हमें (मतलब बॉलीवुड को) सोशल मीडिया पर बदनाम किया जा रहा है। ऐसा जया बच्चन ने कहा है। कुछ अभिनेता-अभिनेत्रियां ही पूरा बॉलीवुड नहीं है। लेकिन उनमें से कुछ लोग जो अनियंत्रित वक्तव्य दे रहे हैं, यह सब घृणास्पद है। सिनेजगत के छोटे-बड़े हर कलाकार या तकनीशियन मानो ‘ड्रग्स’  के जाल में अटके हुए हैं, 24 घंटे वे गांजा और चिलम पीते हुए दिन बिता रहे हैं, ऐसा बयान देनेवालों की ‘डोपिंग’  टेस्ट होनी चाहिए, क्योंकि इनमें से बहुतों के खाने के और तथा दिखाने के और दांत हैं।’

ये भी पढ़े: …तो इस वजह से तेजस्वी की बढ़ सकती है परेशानी

ये भी पढ़े: इस एक्ट्रेस को नहीं पता पीओके का मतलब, हो रही जमकर ट्रोल

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com