Sunday - 5 February 2023 - 3:27 PM

ये सांसद युवाओं को दे रहे सीख

न्यूज़ डेस्क

लोकसभा चुनाव में प्रचंड जीत के बाद नरेन्द्र मोदी दोबारा प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे। इस बार संसद के अंदर की तस्वीर कुछ बदली सी होगी। संसद में इस बार 300 नए सांसदअपनी उपस्थिति दर्ज करायेंगे।

पहली बार संसद में कदम रख रहे सांसदों की बात करे तो इनमे सबसे युवा ओडिशा की क्योंझर लोकसभा सीट से बीजू जनता दल ने चंद्राणी मुर्मू है। जो 25 साल की उम्र में संसद पहुंचने में कामयाब रही और भारत की सबसे कम उम्र की सांसद बनी।

ओडिशा का क्योंझर सीट अनुसूचित जनजातियों के लिए आरक्षित है। इस सीट से बीजू जनता दल ने चंद्राणी मुर्मू को उम्मीदवार बनाया था। चंद्राणी ने इस सीट पर बीजेपी को जोरदार टक्कर दी और चुनाव जीत गईं। प्रचंड मोदी सुनामी के बाद भी चंद्राणी मुर्मू ने 67,822 मतों के अंतर से भारतीय जनता पार्टी के दो बार से सांसद रहे अनंत नायक को हराया है।

इससे पहले 16वीं लोकसभा में इंडियन नेशनल लोकदल के दुष्यंत चौटाला सबसे कम उम्र के सांसद बने थे। उन्हें 2014 में हिसार लोकसभा सीट से 26 साल की उम्र में चुना गया था।

इंजीनियर बनी सांसद

इस बार लोकसभा चुनाव में चुनी गई सबसे युवा सांसद चंद्राणी भी अन्य बेरोजगार लोगों की तरह नौकरी खोज रही थीं। प्रतियोगिता परीक्षाएं देकर अपनी किस्मत आजमा रही थी। इससे पहले चंद्राणी 2017 में भुवनेश्वर स्थित एसओए विश्वविद्यालय से बी. टेक की पढ़ाई पूरी कर चुकी थीं। लेकिन चंद्राणी की किस्मत लोकसभा में उनका इंतजार कर रही थी।

ओड़िसा के सीएम नवीन पटनायक को क्योंझर सीट से अपनी पार्टी के लिए एक प्रत्याशी की खोज कर रहे थे और इसके लिए उन्हें चंद्राणी से बेहतर विकल्प नहीं मिला तो उन्होंने चंद्राणी मुर्मू को लोकसभा का उम्मीदवार घोषित कर दिया।

चंद्राणी ने कहा, ‘मैं अपनी इंजीनियरिंग पूरा करने के बाद नौकरी खोज रही थी, मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं राजनीति करूंगी और सांसद बनूंगी, मेरा नामांकन अप्रत्याशित था।’

नाना रह चुके हैं काग्रेंस से सांसद

चंद्राणी मुर्मू ने उन्हें मौका देने के लिए क्योंझर के लोगों और बीजेडी प्रमुख नवीन पटनायक का आभार व्यक्त किया। चंद्राणी कहती है कि उनका फोकस युवाओं के लिए रोजगार के मौके पैदा करना होगा। इस दौरान चंद्राणी ने बताया की उनके नाना हरिहर सोरेन भी 1980-1989 तक दो बार कांग्रेस से सांसद रहे हैं। हालांकि, उनका परिवार राजनीति में अब सक्रिय नहीं है।

आपको बता दें कि ओडिशा में कुल 21 लोकसभा सीटें हैं। ओडिशा संसद में 33 प्रतिशत महिला सांसदों की हिस्सेदारी वाला पहला राज्य है। इस बार यहां से सात महिला सांसद चुनी गईं हैं। यह संख्या राज्य में कुल सांसदों का 33 फीसदी है।

ये भी है सबसे युवा संसद

तेजस्वी सूर्या

इसके अलावा युवा सांसदों की सूची में शामिल बेंगलुरु दक्षिण सीट पर भारतीय जनता पार्टी के 28 साल के प्रत्याशी तेजस्वी सूर्या है उन्होंने कांग्रेस के महासचिव बीके हरिप्रसाद को 3,31,192 वोट से हराकर जीत दर्ज की। सूर्या इस लोकसभा चुनाव में भाजपा के सबसे युवा उम्मीदवार थे। वो इस लोकसभा चुनाव में जीतकर भाजपा के सबसे युवा सांसद बन गए।

प्रवीन निषाद

यूपी के संतकबीर नगर सीट से भाजपा के 29 साल के युवा प्रत्याशी प्रवीन निषाद ने गठबंधन के बसपा प्रत्याशी भीष्मशंकर उर्फ कुशल तिवारी को 35749 मतों के अंतर से हराया। भाजपा प्रत्याशी प्रवीन निषाद को 467543 व बसपा के भीष्मशंकर उर्फ कुशल तिवारी को 431794 मत मिले। तीसरे स्थान पर रहे कांग्रेस प्रत्याशी भालचंद्र यादव को 128506 मत मिले।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com