Monday - 30 January 2023 - 1:31 PM

यूपी की वो बड़ी घटनाएं, जो खोल रही हैं योगी के ‘रामराज्य’ की पोल

उत्‍तर प्रदेश में योगी सरकार अपने कार्यकाल के शुरुआती दिनों से ही कानून व्यवस्था को लेकर चर्चाओं में बनी हुई है। आए दिन यूपी में हो रही घटनाओं से योगी सरकार पर सवाल खड़े होने लगे हैं।

योगी आदित्यनाथ ने सत्ता में आने से पहले समाजवादी पार्टी की सरकार के समय की लचर कानून व्यवस्था को एक बड़ा मुद्दा बनाया था। लेकिन सत्ता में आने के बाद कानून-व्यवस्था की स्थिति में कुछ खास सुधार नहीं हुआ है।

क्‍या कहते हैं आंकड़े

अखिलेश राज में लॉ एंड ऑर्डर

अप्रैल 2016 से जनवरी 2017 तक अखिलेश यादव की सरकार में महिलाओं के साथ हुए कुल अपराध 33728 थे। जिनमें बलात्कार के 2943, छेड़खानी के 495, उत्पीड़न के 10219 मामले और दहेज हत्या  के 2084 मामले प्रकाश में आए थे।

योगी राज में लॉ एंड ऑर्डर

योगी राज में अप्रैल, 2017 से जनवरी 2018 तक महिलाओं के साथ अपराध के कुल 44936 मामले सामने आए। जिनमें बलात्कार के 3704 मामले, छेड़खानी के 987, महिला उत्पीड़न के 13392 और दहेज को लेकर 2223 महिलाओं की हत्या की गई।

यूपी में अप्रैल 2017 से जनवरी 2018 तक महिला अपराध के आंकड़े :

महिलाओं और बालिकाओं पर छेड़खानी की घटनाएं :

वर्ष 2016-17 में जहां 495 घटनाएं हुईं थी तो अप्रैल 2017 से जनवरी 2018 में 987 छेड़खानी की घटनाएं सामने आई हैं।

महिलाओं और बालिकाओं के अपहरण

वर्ष 2016-17 में जहां 9828 घटनाएं हुईं थी तो अप्रैल 2017 से जनवरी 2018 में 13226 घटनाएं सामने आई हैं।

बलात्कार की घटनाएं : 

वर्ष 2016-17 में जहां 2943 घटनाएं हुईं थी तो अप्रैल 2017 से जनवरी 2018 में 3704 घटनाएं सामने आई हैं।

बलात्कार की कोशिश :

वर्ष 2016-17 में जहां 8159 घटनाएं हुईं थी तो अप्रैल 2017 से जनवरी 2018 में 11404  घटनाएं सामने आई हैं।

दहेज के लिए उत्पीड़न :

वर्ष 2016-17 में जहां 10219 घटनाएं हुईं थी तो अप्रैल 2017 से जनवरी 2018 में 13392  घटनाएं सामने आई हैं।

वर्ष 2018 में अपराध की कुछ प्रमुख घटनाएं :-  

जिंदगी की जंग हारी छेड़खानी से आहत गोरखपुर की बेटी

छेड़खानी से आहत गोरखपुर की दलित नाबालिग छात्रा ने खुद को आग के हवाले कर लिया था। इस छात्रा की 11 जनवरी को मृत्यु हो गई। पुसिल ने इस मामले में चार लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा है।

छेड़खानी से आहत छात्रा ने खुदकुशी की

13 जनवरी को मेरठ के भावनपुर के थाना इलाके में मनचलों द्वारा छेड़छाड़ के बाद छात्रा द्वारा खुद को आग लगाकर आत्महत्या के मामले में पुलिस ने सभी चारो अरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। पकड़े गए अरोपियों के नाम अंकित, रवि शोभित और मोहित हैं।  मेरठ पुलिस ने अरोपियों को मीडिया के सामने प्रस्तुत किया।

लॉ एंड ऑर्डर

कैबिनेट मंत्री के समधी की गोली मारकर हत्या

यूपी के कैबिनेट मंत्री चौधरी लक्ष्मी नारायण के रिश्तेदार और छाता ब्लॉक प्रमुख के पिता गुहार के पूर्व प्रधान सरवन सिंह की 14 जनवरी की शाम को कृषि फार्म से गांव लौटते समय दौताना के समीप गोली मार कर हत्या कर दी गई।

कासगंज में सांप्रदायिक बवाल, एक की मौत

उत्तर प्रदेश के कासगंज जिले मे 26 जनवरी को मनाए जा रहे गणतंत्र दिवस कार्यक्रम पर समुदाय विशेष के लोगों ने विद्यार्थी परिषद की तिरंगा यात्रा पर पथराव किया। उसके बाद हुई हिंसा और आगजनी में एक व्यक्ति चंदन गुप्ता की मौत हो गई।

उन्नाव में पेट्रोल डालकर युवती को सड़क पर जिंदा जलाया

उन्नाव में सथनीबाला खेड़ा गांव की रहने वाली 19 वर्षीय एक लड़की को 22 फरवरी की शाम बदमाशों ने पेट्रोल छिड़ककर आग लगा कर जिंदा जला दिया।

सीएम आवास के सामने आत्मदाह की कोशिश

उन्नाव के माखी इलाके की एक युवती ने रविवार को बांगरमऊ से  भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर गैंगरेप का आरोप लगाते हुए 8 अप्रैल को सीएम आवास और फिर गौतमपल्ली थाने में आत्मदाह की कोशिश की। युवती का कहना था कि माखी पुलिस विधायक को बचाने में जुटी है।

लखनऊ में 1090 चौराहे पर बच्चे की हत्या

03 जुलाई 2018 की रात लखनऊ के 1090 चौराहे पर बालू अड्डा निवासी 10 साल के बच्चे की हत्या कर दी गई।

मुन्ना बंजरंगी की जेल में हत्या

शातिर अपराधी मुन्ना बजरंगी की बागपत जेल में 9 जुलाई की रात गोली मार कर हत्या कर दी गई।

नारी संरक्षण गृह में देह व्यापार का खुलासा

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम की तरह ही देवरिया नारी संरक्षण गृह में भी देह व्यापार कराए जाने के मामले में 5 अगस्त को पुलिस के मारे गए छापे में संरक्षण गृह से 18 लड़कियां गायब मिलीं। पुलिस ने संचालिका और उसके पति को गिरफ्तार कर लिया।

एप्पल के एरिया मैनेजर विवेक तिवारी की गोली मार कर हत्या

29 सितंबर 2018 की रात गोमती नगर में एप्पल के एरिया मैनेजर की गोलीमार का एक सिपाही ने हत्या कर दी।

अयोध्या में दो बहनों की हत्या

24 दिसंबर की रात अयोध्या के गोसाइगंज क्षेत्र में दो बहनों की धारदार हथियार से काटकर हत्या कर दी गई।

बुलंदशहर हिंसा में दरोगा की मौत

3 दिसंबर को गोकशी के मामले में भड़की भीड़ ने बुलंदशहर में थाने पर पथराव कर इंस्पेक्टर की हत्या कर दी। हिंसा की इस घटना में एक युवक की भी मौत हो गई।

जेल में दबंगई

1- यूपी की जेलों में अपराधियों का दबदबा है। अपराधी मुन्ना बजरंगी जैसे इनामी अपराधी की जेल के भीतर ही गोली मारकर हत्या कर देते हैं।

2- यही नहीं अतीक अहमद जैसे दबंग नेता प्रापर्टी डीलर को अगवा कराकर जेल भीतर धमकाते हैं और उससे फिरौती वसूलने की हिम्मत करते हैं। एक प्रापर्टी डीलर के रिपोर्ट  कराने पर यह खुलासा योगी राज में हुआ। जब जेल के भीतर ऐसे सनसनीखेज अपराध होंगे तो समझा जा सकता है कि यूपी में कानून व्यवस्था का क्या हाल है।

योगी राज : 2018 में हुए एनकाउंटर

जून 2018 तक यूपी की योगी सरकार के 16 महीने के कार्यकाल में पुलिस और अपराधियों के बीच 2244 एनकाउंटर हुए। यूपी पुलिस द्वारा जारी की गई लिस्ट के अनुसार इन एनकाउंटर में 5387 अभियुक्त गिरफ्तार किए गए।  वहीं, 59 अपराधी मार गिराए गए। इस दौरान 4 पुलिसकर्मी शहीद भी हुए, वहीं करीब 400 पुलिसकर्मी घायल भी हुए।

यही नहीं आंकड़े गवाही दे रहे हैं सबसे ज्यादा पुलिस और अपराधियों में भिड़ंत पश्चिम उत्तर प्रदेश में देखने को मिली। इनमें मेरठ में 720, आगरा में 601 और बरेली में 343 एनकाउंटर हुए। यानी 2244 एनकाउंटर में से 1664 एनकाउंटर पश्चिम उत्तर प्रदेश में हुए।

 

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com