Sunday - 1 August 2021 - 7:00 PM

आयुष विभाग के 15 सौ डॉक्टर ऑनलाइन करा रहे 80 हजार लोगों को योग

जुबिली न्यूज़ ब्यूरो

लखनऊ. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से संवाद करने के बाद आयुष विभाग कोरोना संक्रमण से लड़ाई में अहम भूमिका में आ गया है. विशेषकर, कोरोना संक्रमित मरीजों की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में आयुष विभाग के डॉक्टर बड़ा रोल अदा कर रहे है. मुख्यमंत्री के निर्देश पर आयुष विभाग के 1500 से अधिक डॉक्टर करीब 80 हजार लोगों को रोजाना ऑनलाइन योग व आयुर्वेद से होने वाले फायदों के बारे में जानकारियां दे रहे हैं. यही नहीं डॉक्टर उनको घरेलू नुस्खों से किस तरह से कोरोना से लड़ा जाए इसके तरीके भी बता रहे हैं.

कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आयुष चिकित्सकों से सीधा संवाद कर उनसे सहयोग करने की अपील की थी. इसे लेकर सीएम ने आयुष चिकित्सकों के साथ वेबिनार भी किया था. इसमें करीब पांच हजार डॉक्टरों ने प्रतिभाग किया था. सीएम योगी ने आयुष विभाग से हर जिले में आयुष, होम्यो और यूनानी डॉक्टरों की टीम बनाए जाने के निर्देश दिए थे. उन्होंने डॉक्टरों से लोगों में जन जागरुकता बढ़ाने और इम्युनिटी बढ़ाने में परंपरागत चिकित्सा पद्धति से लोगों को अवगत कराने की अपील की थी.

ऑनलाइन सिखा रहे हैं योग

डॉ. अशोक दीक्षित बताते हैं कि प्रदेश के 1500 से अधिक डॉक्टर रोजाना करीब 80 हजार से अधिक लोगों को ऑनलाइन योग करा रहे हैं. डॉ. दीक्षित बताते हैं कि कोरोना से लड़ाई में योग का अहम रोल है. प्रतिदिन योगा करने से कोरोना संक्रमित मरीजों के साथ सामान्यत: लोगों के रोग प्रतिरोध क्षमता में वृद्धि होगी. इसके लिए डॉक्टर अपने यू टयूब चैनल व आयुष कवच एप के जरिए लोगों को योगा करा रहे हैं. इसके अलावा उनको घरेलू उपायों से किस तरह से रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाया जाए इसकी जानकारी भी देने का काम कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें : पाकिस्तान में ईद पर रहेगा सब कुछ लॉक

यह भी पढ़ें : कैप्टन अमरिंदर के सलाहकार बने प्रशांत किशोर तो मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट

यह भी पढ़ें : होम्योपैथिक दवा ने लील लिया पूरा परिवार

यह भी पढ़ें : …जब हजरतगंज कोतवाली में आयी बारात

आयुष विभाग के काढ़े की बढ़ी डिमांड

आयुष विभाग प्रभारी अधिकारी डॉ. अशोक कुमार दीक्षित बताते हैं कि प्रदेश में 2104 आयुष चिकित्साालय हैं. इसमें 8 बड़े अस्पताल हैं. यहां से होम आइसोलेशन मरीजों को जिला प्रशासन की मदद से नि:शुल्क काढ़ा भेजने का काम किया जा रहा है. यह काढ़ा आयुष विभाग के डॉक्टरों ने स्वयं तैयार किया है. मुख्यमंत्री के निर्देश पर काढ़ा वितरण के काम में तेजी आ गई है. आयुष विभाग की टीम पर होम आइसोलेशन मरीजों को काढ़ा व अन्य‍ आयुर्वेदिक दवाओं की जानकारी दे रही है. डॉ. अशोक बताते हैं कि आयुष विभाग के काढ़े की मार्केट में काफी डिमांड है. वैसे बाजार में काफी कंपनियों के काढ़े मौजूद हैं लेकिन लोगों की सबसे पहली पसंद आयुष विभाग का काढ़ा है.

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com