Saturday - 16 January 2021 - 1:39 PM

बढ़ती सर्दी में नाश्ते की प्लेट से क्यों गायब होने लगा अंडा

जुबिली न्यूज़ डेस्क

नई दिल्ली. चार राज्यों में बर्ड फ्लू की दस्तक के बाद देश में अण्डों की कीमत में तेज़ी से कमी आने लगी है. भारत में रोजाना 22 से 25 करोड़ अण्डों की रोजाना खपत होती है. बर्ड फ्लू ने दस्तक दी तो लोगों ने न सिर्फ मुर्गों से दूरी बनानी शुरू की बल्कि अण्डों की खरीददारी में भी तेज़ी से कमी आ गई. खुले बाज़ार में एक अंडे की कीमत में एक रुपये की कमी हो गई है.

हरियाणा में अंडे की देश में सबसे बड़ी मंडी है. इस मंडी में रोजाना सवा करोड़ से डेढ़ करोड़ अण्डों की बिक्री होती है. बर्ड फ्लू की खबर आने के बाद इस अंडा बाज़ार पर भी मंदी का असर साफ़ तौर पर नज़र आने लगा है. अंडा कारोबारियों ने फ़ौरन दाम घटा दिए हैं ताकि उनके पास माल डम्प न रहे और उसकी बिक्री हो जाए क्योंकि अण्डों को लम्बे समय तक सुरक्षित नहीं रखा जा सकता.

यह भी पढ़ें : व्हाइट हाउस से तो निकलेंगे ट्रम्प मगर उसके बाद …

यह भी पढ़ें : शिया व सुन्नी वक्फ बोर्ड के बड़े अधिकारियों के खिलाफ चला मंत्री का हंटर

यह भी पढ़ें : खामोश! गैंगरेप ही तो हुआ है, ये रूटीन है रूटीन

यह भी पढ़ें : डंके की चोट पर : इकाना से सीमान्त गांधी तक जारी है अटल सियासत

जाड़े के मौसम में साल की शुरुआत में बाज़ार में एक अंडे की कीमत साढ़े पांच रुपये थी जो अब घटकर साढ़े चार रुपये पर आ गई है. अंडे की कीमत में एक रुपये की कमी हो जाने के बाद भी अंडा कारोबारियों को ग्राहक नहीं मिल पा रहे हैं. बर्ड फ्लू के डर से लोगों ने अंडे से दूरी बना ली है.

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com