Sunday - 11 April 2021 - 3:57 AM

अर्थव्यवस्था के लिए जो बाइडन क्या करने जा रहे हैं?

जुबिली न्यूज डेस्क

अमेरिका के नव-निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन ने 1.9 ट्रिलयन डॉलर के प्रोत्सहान पैकेज की घोषणा की है। बाइडेन ने यह घोषणा अगले हफ़्ते सत्ता संभालने से पहले की है।

प्रोत्साहन पैकेज कोरोना महामारी से अर्थव्यवस्था में आई सुस्ती से उबरने के लिए है। अगर इसे अमेरिकी कांग्रेस की मंज़ूरी मिल जाती है तो एक ट्रिलियन डॉलर अमेरिकी परिवारों के लिए होगा जो सीधे सभी अमेरिकी नागरिकों के खाते में 1,400 डॉलर यानी लगभग 30 हजार रुपए आएंगे।

जो बाइडेन ने जो प्रोत्साहन पैकेज की घोषणा की है यह राशि भारत की पूरी अर्थव्यवस्था के आकार के आधा से भी ज़्यादा है। अमेरिकी भारत की अर्थव्यवस्था करीब तीन ट्रिलियन डॉलर की है। हालांकि इससे पहले भी अमेरिका ट्रिलियन डॉलर का कोविड पैकेज दे चुका है।

इस राहत पैकेज में 415 अरब डॉलर कोरोना वायरस से निपटने के लिए है और 440 डॉलर छोटे कारोबारों की मदद के लिए। डेमोक्रेटिक पार्टी के जो बाइडन ने वादा किया था कि वो कोरोना वायरस से जंग जीतेंगे, जिसने तीन लाख 85 हजार अमेरिकी नागरिकों की जान ले ली है।

कोविड महामारी में 1.8 करोड़ अमेरिकी बेरोजगार हुए हैं। बेरोजगारी भत्ता की राशी प्रति हफ्ते 300 डॉलर से बढ़ाकर 400 डॉलर करने की योजना है। इसे सितंबर तक बढ़ाया जा सकता है।

यह भी पढ़ें :  फंस ही गए डोनाल्ड ट्रंप, निचले सदन में महाभियोग प्रस्ताव पास 

यह भी पढ़ें : प्रवासियों के लिए अच्छा देश नहीं है भारत

यह भी पढ़ें : देश के 7.5 करोड़ बुजुर्ग हैं गंभीर बीमारी से पीड़ित

इसमें किसी भी किराएदार से घर खाली नहीं कराने की भी पाबंदी होगी। इस प्रस्ताव के तहत अमेरिकी नागरिकों को सीधे 1,400 डॉलर मिलेंगे। पिछले महीने 600 डॉलर दिए गए थे। इसके अलावा बाइडन कांग्रेस में फेडरल न्यूनतम वेतन प्रति घंटे 15 डॉलर करने का प्रस्ताव लाएंगे।

पिछले साल अपने चुनावी कैंपेन में बाइडन ने कहा था कि वो ट्रंप की तुलना में कोरोना महामारी से ज़्यादा असरदार तरीके से निपटेंगे। बाइडन राहत पैकेज लेकर तब आए हैं जब अमेरिका सर्दियों में कोरोना की चपेट में और बुरी तरह से है। हर दिन दो लाख से ज़्यादा नए मामले सामने आ रहे हैं और 4000 से ज़्यादा मौतें हो रही हैं।

जो बाइडन ने क्या कहा?

गुरुवार रात बाइडन ने अपने होम टाउन विलिम्गटन के डेलावर में कहा, ”यह साफ दिख रहा है कि मानवीय संकट गहरा है। हम और वक्त बर्बाद नहीं कर सकते हैं। हमारे देश की सेहत दांव पर लगी है। हमें करना है और अभी तत्काल। ठोकरें मिलेंगी लेकिन हम आपके प्रति ईमानदार रहेंगे।”

दरअसल बाइडन चाहते हैं कि 20 अरब डॉलर अमेरिकी नागरिकों के कोविड टीकाकरण पर खर्च किया जाए। इसके तहत दूर-दराज इलाकों में वैक्सीन की मोबाइल यूनिट भेजने की योजना है।

यह भी पढ़ें : 1953 के बाद पहली बार अमेरिका में दोषी महिला को मिला मृत्युदंड

यह भी पढ़ें :  बार- बार ये कैसी गलती कर रहा WHO

ट्रंप प्रशासन में दो प्रभावी वैक्सीन दी जा रही है लेकिन स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि इसमें और तेजी लाने की जरूरत है। बाइडन ने कहा कि उनकी सरकार 100 दिन में 10 करोड़ वैक्सीन की डिलिवरी करेगी।

बाइडन की योजना में 50 अरब डॉलर कोरोना टेस्टिंग के विस्तार के लिए है और 130 अरब डॉलर स्कूलों को खुलवाने को लेकर। इसके अलवा एक लाख पब्लिक हेल्थ वर्कर की नियुक्ति की भी योजना है। इन्हें कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग में लगाया जाएगा।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com