Sunday - 7 March 2021 - 6:04 PM

पहली बार काशी की देव दीपावली में शामिल होंगे पीएम मोदी

जुबिली न्यूज़ डेस्क

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज यानी सोमवार को अपने संसदीय क्षेत्र के एक दिन के दौरे पर आ रहे हैं। देव दीपावली के मौके पर प्रधानमंत्री नाव पर सवार होकर गंगा के रास्ते सबसे पहले ललिता घाट पहुंचेंगे। इस मौके पर भोले की नगरी काशी दीपों की छटा से जगमगा उठेगी। इस अद्भुत नज़ारे के खुद पीएम मोदी साक्षी बनेंगे। ऐसा पहली बार होगा जब पीएम काशी की देव दीपावली में शामिल होंगे।

गौरतलब है कि देव दीपावली के मौके पर गंगा के 84 घाटों पर करीब 15 लाख दीए जलाए जाएंगे। काशी तट इन 15 लाख दीपों की जगमगाहट से जगमगा उठेगा। खास बात यह है कि पहला दीपक खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों से प्रज्ज्वलित होगा।

यह पहला मौका होगा जब पीएम मोदी गंगा के धारा से होते बाबा विश्वनाथ के धाम पहुंचेंगे। इससे पहले पीएम मोदी अक्सर सड़क मार्ग के जरिए ही बाबा विश्वनाथ के दरबार पहुंचे हैं। लेकिन मोदी ने गंगा से शिव के मिलन का जो सपना देखा था, उसे सीएम योगी धरातल पर उतार रहे हैं।

जाहिर है कि काशी में विश्वनाथ धाम का निर्माण जारी है। ललिता घाट से रास्ता बनकर तैयार हो गया है। इस बार देव दीपावली के मौके पर पीएम मोदी ललिता घाट पर उतरकर महज 400 मीटर की दूरी पर स्थित बाबा विश्वनाथ के दरबार जाएंगे। यहां पीएम मोदी पूजा-अर्चना करके एक तीन मिनट की फिल्म भी देखेंगे।

इसके बाद सीएम योगी वहां चल रहे निर्माण कार्य के बारे में पीएम मोदी को बताएंगे। इसके लिए विश्वनाथ धाम की एक क्लिप भी पीएम मोदी को दिखाई जाएगी। यहां से पीएम मोदी वापस ललिता घाट जाकर नाव के जरिए राजघाट पहुंचेंगे।

सिक्स लेन मार्ग देश को समर्पित

पीएम मोदी देव दिवाली के कार्यक्रम में हिस्सा लेने से पहले छह लेन वाली राष्ट्रीय राजमार्ग 19 को राष्ट्र के नाम समर्पित करेंगे। ये राष्ट्रीय राजमार्ग वाराणसी को प्रयागराज से जोड़ेगा। इस मार्ग 2447 करोड़ रुपये की लागत से बनकर तैयार हुआ है। इस सड़क के खुलने के बाद वाराणसी-प्रयागराज की दूरी तय करने में एक घंटा तक समय घट जाएगा।

गौरतलब है कि काशी विश्वनाथ कॉरिडोर प्रधानमंत्री का ड्रीम प्रोजेक्ट है। 55 हजार स्क्वायर मीटर में बन रहे इस कॉरिडोर का भव्य स्वरूप अब दिखने लगा है। काशी विश्वनाथ धाम अब राजस्थान और मिर्जापुर के गुलाबी पत्थरों से सजने भी लगा है। तराशे गए करीब 65 हजार क्यूबिक फीट गुलाबी पत्थरों की पहली खेप पहुंचने के बाद काम अब तेजी से चल रहा है।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com