Sunday - 5 February 2023 - 10:54 PM

मोदी के कैबिनेट में यूपी को प्राथमिकता

न्यूज डेस्क

उत्तर प्रदेश की देश की सरकार में एक बार फिर अहमियत दिखी। मोदी की नई सरकार के मंत्रिमंडल में सबसे ज्यादा चेहरे उत्तर प्रदेश के हैं। मोदी के मंत्रिमंडल में मोदी समेत 9 सांसदों को जगह मिली है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नई सरकार के मंत्रिमंडल में सबसे ज्यादा संख्या में उत्तर प्रदेश के नेताओं को मंत्री पद की शपथ दिलाई गई। मोदी के कैबिनेट में किन चेहरों को जगह मिलेगी इसको लेकर शाम तक संशय की स्थिति बनी रही। शपथ ग्रहण समारोह के दौरान जब एक-एक मंत्री आकर शपथ लेने लगे तब जाकर तस्वीर साफ हुई।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उत्तर प्रदेश के बाद महाराष्ट्र के सात और बिहार के छह प्रतिनिधियों को नए मंत्रिमंडल में जगह मिली है। नई मोदी सरकार में गुजरात, राजस्थान और हरियाणा से तीन-तीन प्रतिनिधियों को मंत्री बनाया गया है, जबकि पश्चिम बंगाल, ओडिशा, मध्य प्रदेश के दो-दो सांसदों को मंत्रिमंडल में जगह मिली है। इसके अलावा कर्नाटक से चार चेहरों को शामिल किया गया है।

यूपी के इन चेहरों को मिली जगह

मोदी के मंत्रिमंडल में उत्तर प्रदेश के 9 सांसदों को जगह मिली है जिसमें बनारस से सांसद पीएम मोदी, लखनऊ से राजनाथ सिंह, अमेठी से स्म़ृति ईरानी, बरेली से संतोष गंगवार, मुजफ्फरनगर से संजीव बालियान, चंदौली से महेन्द्र नाथ पांडेय, गाजियाबाद से जनरल वीके सिंह, फतेहपुर से साध्वी निरंजन ज्योति, यूपी से राज्यसभा सांसद हरदीपसिंह पुरी शामिल है।

मंत्रिमंडल में अधिकांश राज्यों को प्रतिनिधि को मिली है जगह

मोदी के मंत्रिपरिषद में अधिकांश राज्यों के प्रतिनिधि शामिल हैं। हालांकि, इसमें आंध्र प्रदेश, पूर्वोत्तर राज्य नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम, सिक्किम और त्रिपुरा के किसी भी प्रतिनिधि को मंत्रिमंडल में शामिल नहीं किया गया है।

सबसे युवा मंत्री है स्मृति ईरानी

युवा मंत्रियों की बात करें तो अमेठी से नवनिर्वाचित सांसद 43 वर्षीय स्मृति ईरानी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली नई मंत्रिपरिषद में सबसे कम उम्र की मंत्री हैं।

ईरानी के बाद अनुराग सिंह ठाकुर 44 वर्ष, मनसुख मंडाविया व संजीव कुमार बालियान 46 साल और किरण रिजिजू 47 साल के सबसे कम उम्र मंत्रियों में शामिल हैं। पहली बार मंत्री बने रामेश्वर तेली और देबाश्री चौधरी दोनों 48 -48 साल के हैं।

मोदी के इस मंत्रिमंडल की औसत आयु साठ साठ है जबकि पिछले सरकार में मंत्रिमंडल की औसत आयु 62 साल थी। इससे कहा जा सकता है कि नई सरकार अपेक्षाकृत युवा है।

सबसे बुजुर्ग मंत्री है राम बिलास पासवान

मोदी सरकार में सबसे बुजुर्ग मंत्री भाजपा की सहयोगी लोक जनशक्ति पार्टी के नेता रामविलास पासवान 7& साल हैं। तकरीबन यही आयु थावर चंद गहलोत की है और संतोष कुमार गंगवार 71 साल के हैं।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com