Tuesday - 23 January 2024 - 12:00 AM

यूपी: किसानों के समर्थन में उतरे सपा कार्यकर्ता, निकाली ट्रैक्‍टर रैली

जुबिली न्‍यूज डेस्‍क

कृषि कानून के खिलाफ पिछले दो महीनों से आंदोलन कर रहे किसान आज दिल्ली की सीमाओं के आसपास ट्रैक्टर रैली निकाल रहे हैं। इस दौरान कई जगहों पर पुलिस और किसानों के बीच भिड़ंत हुई है। किसानों का जत्‍था दिल्‍ली के दिल कहे जाने वाले आईटीओ तक पहुंचा गया है। पुलिस की लाख कोशिशों के बीच किसानों का कहना है कि वे लाल किले पर जाकर ही रूकेंगे। दूसरी ओर उत्‍तर प्रदेश में भी समाजवादी पार्टी किसानों के समर्थन में ट्रैक्‍टर रैली निकाल रहे हैं।

समाजवादी पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अखिलेश यादव ने सैफई में किसानों के समर्थन में ट्रैक्‍टर रैली निकाली। उनके साथ वरिष्‍ठ सपा नेता राम गोपाल यादव और सैंकडों की संख्‍या में सपा कार्यकर्ता मौजूद रहे।

लखनऊ में कैसरबाग में समाजवादी पार्टी के जिला कार्यालय से ट्रैक्टर पर सवार होकर निकले कार्यकर्ता तथा वरिष्ठ नेता पुलिस से भिड़ गए। इस दौरान जमकर धक्का-मुक्की के बाद पुलिस ने समाजवादी पार्टी के नेताओं को हिरासत में लेकर ईको गार्डन भेज दिया।

वहीं अंबेडकर नगर में पूर्व एमएलसी और वरिष्‍ठ सपा नेता विशाल वर्मा के नेतृत्‍व में सपा कार्यकर्ताओं ने विशाल ट्रैक्‍टर रैली निकाली।

विशाल वर्मा की अगुवाई में हजारों की संख्‍या में सपा कार्यकर्ताओं ने टाण्‍डा विधानसभा क्षेत्र में ट्रैक्‍टर निकाली। हालांकि पुलिस ने ट्रैक्‍टर रैली को आगे नहीं बढ़ने नहीं दिया।

राजधाली दिल्‍ली के करीब मुजफ्फरनगर में सपा कार्यकर्ताओं ने ट्रैक्‍टर रैली निकाली। हालांकि पुलिस ने सपा कार्यकर्ताओं को रोक दिया है। इस दौरान सपा कार्यकर्ताओं की पुलिस से झड़प भी हुई।

वहीं, सीतापुर में हाइवे से गुजरने वाले इलाके ट्रैक्टर रैली को लेकर सील कर दिए गए हैं। ट्रैक्टर रैली निकाल रहे पूर्व मंत्री, विधायक और किसान नेताओं को रोका गया। पुलिस सख्ती के बीच कई कार्यकर्ता घरों में ही नजरबंद किए गए।

ये भी पढ़ें: तो क्या असम में भाजपा के लिए गले की हड्डी बन गई है सीएए-एनआरसी?

लखनऊ दिल्ली हाइवे से जुड़े इलाके में पुलिस की सख्ती सोमवार देर रात से बढ़ गई। मंगलवार सुबह अटरिया, हरगांव, नैमिषारण्य और महोली इलाके के बार्डर सील कर दिए गए। विधायक महमूदाबाद और पूर्व मंत्री रामपाल राजवंशी ट्रैक्टर रैली निकालते समय अपने अपने घरों से कुछ दूर ही रोक लिए गए।

ये भी पढ़ें: गूगल ने कुछ इस तरह से मनाया 72 वां गणतंत्र दिवस

वाहनों को थानों पर भिजवाकर इन्हें गेस्ट हाउस ले जाया गया। शहर में पूर्व विधायक राधेश्याम जायसवाल, सहित अन्य सपाई और किसान नेताओं को रोककर उन्हें कोतवाली नगर में बिठाया। पुलिस सख्ती के बीच बार्डर पर वाहनों की चेकिंग जारी है।

रायबरेली में किसानों के समर्थन में ट्रैक्टर और बैलगाड़ी से निकले किसानों और सपाइयों को पुलिस ने रोक लिया। शहर के प्रवेश द्वार राजघाट पर दर्जनों किसान बैलगाड़ी से शहीद चौक पर झंडा फहराने जा रहे थे पुलिस ने इनको बैलगाड़ी लेकर जाने से रोक दिया। काफी देर तक बहस के बाद किसान पैदल जाने को राजी हुए।

दिल्ली में किसानों के समर्थन में समाजवादी पार्टी के नेताओं ने सुबह गुपचुप तरीके से 4 छात्रों को लेकर रैली निकाली। इसकी सूचना मिलते ही प्रशासन के हाथ पर खड़े हो गए। यह सपाई शहीद चौक तक रैली निकालने वाले थे पुलिस ने इन सब को आगे बढ़ने से रोक दिया। इसको लेकर सफाई और पुलिस में हल्की फुल्की नोकझोंक भी हुई।

लखीमपुर में भी सपा के नेताओं ने ट्रैक्टर रैली निकाली है। इस दौरान पुलिस ने इनके ट्रैक्टर को कई जगहों पर रोका। जिससे नाराज समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता सड़क पर धरने पर बैठ गए। इस दौरान मितौली मोहम्मदी में पुलिस से झड़प होने के बाद बड़ी संख्या में सपा के नेता व कार्यकर्ता सड़क पर उतर पड़े।

इस बीच ADG (कानून-व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने कहा कि अभी तक पूरे उत्तर प्रदेश में सब कुछ सकुशल चल रहा है। सभी लोग हमारे किसानों से लगातार वार्ता कर रहे हैं। अभी तक शांति है। उत्तर प्रदेश में कहीं भी लाठीचार्ज नहीं किया गया है।

 

Radio_Prabhat
English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com