Wednesday - 1 February 2023 - 5:08 AM

UP : छठे चरण में कई दिग्गजों की प्रतिष्ठा दांव पर

जुबिली स्पेशल डेस्क

लखनऊ। उत्तर प्रदेश का विधान सभा चुनाव अब अंतिम मुकाम पर पहुंचने की ओर बढ़ रहा है। यूपी में अब तक पांच चरणों के मतदान हो चुके हैं और अब केवल दो और चरण बचे हैं। इसके साथ यूपी में किसकी सरकार बनेगी ये दस मार्च को तय हो जायेगा।

अगले दो चरण के लिए राजनीतिक दलों ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। छठे चरण में स्वामी प्रसाद से लेकर माता प्रसाद जैसे बड़े चेहरों की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है और कई नेताओं पर अपना गढ़ बचाने का दबाव है।

कई ऐसे नेता है जो पिछली बार बीजेपी की लहर में अपनी सीट बचाने में कामयाब रहे हैं। हालांकि इस बार उनके लिए एक बार फिर अपनी सीट बचाने की चुनौती है।

इस बार स्वामी प्रसाद मौर्य पर भी अच्छा खासा दबाव होगा क्योंकि बीजेपी छोड़ सपा में शामिल स्वामी प्रसाद   ने इस बार अपनी सीट बदली है और फाजिलनगर सीट से अपनी दावेदारी पेश कर रहे हैं जबकि वो इससे पहले दो बार 2012 व 2017 में पडरौना सीट से विधायक से विधायक रहे हैं।

ऐसे में देखना होगा कि स्वामी प्रसाद इस बार क्या जीत पाते हैं या नहीं। सोहरतगढ़ की इटावा विधानसभा सीट सपा के लिए बीजेपी से कड़ी चुनौती मिल रही है। माता प्रसाद पांडेय वर्ष 2002 से 2012 तक लगातार तीन बार जीते, लेकिन वर्ष 2017 में वह हार गए। माता प्रसाद पांडेय इस बार फिर सपा से और सतीश चंद्र द्विवेदी भाजपा से अपनी दावेदारी पेश कर रहे हैं।

दूसरी ओर अंबेडकरनगर की चार सीटें इस बार काफी अहम मानी जा रही है। दरअसल यहां पर बसपा का दबदबा पहले देखने को मिलता रहा है। अंबेडकरनगर की कटेहरी सीट बसपा पांच बार बसपा व एक बार 2012 में सपा के शंखलाल मांझी और वर्ष 1991 में भाजपा ने अपने नाम की है।

पिछला चुनाव बसपा से लालजी वर्मा जीते थे इस बार वह सपा ने उनको टिकट दिया है। वहीं जलालपुर में बीजेपी केवल एक बार जीत का स्वाद चखी है।

वहीं बसपा ने यहां से पांच बार जीत का परचम लहराया जबकि साल 2012 में सपा ने अपने नाम किया था। टांडा में वर्ष 2017 में पहली बार भाजपा जीती है। चार बार बसपा 1993 से 2007 तक जबकि सपा ने साल 2012 में अपने नाम की थी। अकबरपुर की सीट पर भी बसपा दबदबा देखने को मिल चुका है। बसपा के खाते में पांच बार जा चुकी है।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com