Thursday - 2 December 2021 - 1:10 PM

ममता को हराने के लिए भाजपा ने लगाई पूरी ताकत, केंद्रीय मंत्रियों को…

जुबिली न्यूज डेस्क

पश्चिम बंगाल में एक बार फिर माहौल चुनावी हो गया है। बंगाल में तीन विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव में भवानीपुर सीट सबसे ज्यादा चर्चा में है। यहां से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी चुनाव लड़ रही हैं।

भवानीपुर का उपचुनाव टीएमसी और भाजपा के लिए प्रतिष्ठा का प्रश्न बना हुआ है। ममता बनर्जी को मुख्यमंत्री बने रहने के लिए हरहाल में यह चुनाव जीतना है, तो वहीं भाजपा ममता बनर्जी को हराने के लिए अपनी पूरी ताकत लगा दिया है।

ममता बनर्जी को हराने के लिए सबसे पहले तो भाजपा ने महिला कार्ड खेलकर उनकी मुश्किलें बढ़ाने की कोशिश की। बीजेपी ने जहां प्रियंका टिबरीवाल को ममता के खिलाफ उतारा तो वहीं प्रियंका के पक्ष में चुनाव प्रचार के लिए केंद्रीय मंत्रियों को भवानीपुर की सड़कों पर उतार दिया है।

बुधवार को केंद्रीय आवास और शहरी मामलों के मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने बीजेपी उम्मीदवार प्रियंका टिबरीवाल के समर्थन में घर-घर जाकर प्रचार किया।

इस मौके पर पुरी ने कहा कि उन्हें क्षेत्र में भगवा दल के लिए ”स्पष्ट समर्थन” दिखाई दिया। मोदी मंत्रिमंडल में सिख समुदाय का चेहरा पुरी ने स्थानीय गुरुद्वारे में अरदास भी की।

केंद्रीय मंत्री पुरी ने ट्वीट किया, ”भवानीपुर के रे स्ट्रीट इलाके में राम मोहन दत्ता रोड पर स्थानीय निवासियों के साथ बातचीत के दौरान मैंने उनके मसलों और चिंताओं पर चर्चा की।”

उन्होंने कहा कि भाजपा उम्मीदवार प्रियंका टिबरीवाल के लिए स्पष्ट समर्थन है। भवानीपुर से बनर्जी को चुनौती दे रहीं टिबरीवाल भी इस दौरान पुरी के साथ थीं।

मालूम हो कि अप्रैल माह में हुए विधानसभा चुनाव में भवानीपुर विधानसभा सीट जीतने वाले तृणमूल कांग्रेस के सोवनदेब चट्टोपाध्याय ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के इस सीट से चुनाव लडऩे के लिए इस्तीफा दे दिया था।

यह भी पढ़ें : पहले अमरिंदर और अब उनके करीबियों को किनारे लगाने की तैयारी

यह भी पढ़ें : भारत में सबसे अधिक बच्चे पैदा करते हैं मुसलमान : रिपोर्ट 

यह भी पढ़ें : बिहार : ‘हर घर नल का जल’ में डिप्टी सीएम की बहू, साले और रिश्तेदारों को मिले ठेके

उनके इस्तीफे के कारण ही यहां उपचुनाव कराया जा रहा है। बनर्जी नंदीग्राम से बीजेपी नेता शुभेंदु अधिकारी से चुनाव हार गई थीं और उन्हें मुख्यमंत्री पद पर बने रहने के लिए पांच नवंबर तक निर्वाचित होना होगा।

बुधवार को बंगाल में चुनाव प्रचार के लिए मौजूद रहे केंद्रीय मंत्री व संयुक्त राष्ट्र में भारत के पूर्व राजदूत पुरी ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस और जनसंघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी के घर जाकर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

यह भी पढ़ें :  NDA में महिलाओं की एंट्री पर SC ने कहा-इसी साल से करो शामिल, टाल नहीं…

यह भी पढ़ें :  ब्रिटेन ने कोविशील्ड वैक्सीन को दी मान्यता, लेकिन अब भी है यह पेच

यह भी पढ़ें :  महिलाओं के सम्मान को ठेस पहुंचाई तो होगा ‘दुर्योधन’ और ‘दुशासन’ वाला हश्र : योगी

उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, ”मैं भारत की एकता और विकास में दृढ़ विश्वास रखने वाले और सच्चे राष्ट्रवादी डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के घर गया और बीजेपी की बंगाल इकाई के कार्यकताओं के साथ मिलकर मैंने भारतीय जनसंघ के संस्थापकों में से एक को श्रद्धांजलि अर्पित की। उनका नजरिया और आदर्श हमें प्रेरित करते रहे हैं।”

पुरी ने बाद में कहा कि इस निर्वाचन क्षेत्र में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस को लेकर लोगों का मोहभंग हो गया है और अगर लोग “स्वतंत्र रूप से” मतदान करते हैं, तो यह परिणाम में दिखाई देगा।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com