Saturday - 16 January 2021 - 1:42 PM

शुभेंदु अधिकारी को टीएमसी ने दिया झटका

जुबिली न्यूज डेस्क

पश्चिम बंगाल की सियासत में गहमागहमी का माहौल बना हुआ है। भाजपा सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस की मुश्किलें बढ़ाने में लगी हुई है तो वहीं ममता भी भाजपा को टक्कर दे रही हैं।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के कुछ महीने पहले तक करीबी रहे भाजपा नेता शुभेन्दु अधिकारी को टीएमसी ने बड़ा झटका दिया है। टीएमसी ने शुभेंदु अधिकारी के पिता और टीएमसी सांसद शिशिर अधिकारी को दीघा शंकरपुर डिवेलपमेंट अथॉरिटी के चेयरमैन पद से हटा दिया गया है।

शिशिर अधिकारी तृणमूल कांग्रेस के संस्थापक सदस्य हैं। वह तमलूक लोकसभा सीट से सांसद हैं। वह डॉ. मनमोहन सिंह की सरकार में ग्रामीण विकास राज्य मंत्री भी रह चुके हैं। फिलहाल शिशिर अधिकारी की जगह अब अखिल गिरि लेंगे।

यह भी पढ़ें : पूर्वांचल में ओवैसी का मुस्लिम-राजभर समीकरण किसे पहुंचाएगा नुकसान

यह भी पढ़ें : क्या सत्ता से बेदखल कर दिए जाएंगे ट्रंप?

ममता सरकार के इस कदम को बदले की राजनीति की तहत देखा जा रहा है। शुभेन्दु अधिकारी के भाजपा में जाने के बाद से टीएमसी के कई नेता भाजपा में जा चुके हैं।

वहीं आज स्वामी विवेकानंद की जयंती के मौके पर भाजपा और टीएमसी आमने-सामने हैं। दोनों दल चुनाव को देखते हुए स्वामी विवेकानंद को अपने आदर्श के रूप में पेश कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने स्वामी विवेकानंद को श्रद्धांजलि दी और कहा कि उनके विश्व बंधुत्व के संदेश की आज देश को जरूरत है तो वहीं शुभेन्दु अधिकारी ने कहा कि वे बंगाल की माटी के सपूत हैं।

यह भी पढ़ें : तेजपत्ते में छिपा है कई बीमारियों का इलाज 

यह भी पढ़ें : ‘गौ-विज्ञान परीक्षा’ से जुड़ा ‘मटीरियल’ आयोग की वेबसाइट से गायब

बंगाल में पिछले कुछ महीने से भाजपा और टीएमसी के कार्यकर्ताओं के बीच झड़पे भी खूब हो रही हैं। सोमवार को भी शुभेन्दु की एक जनसभा के दौरान टीएमसी कार्यकर्ता प्रदर्शन करने लगे थे।

पुरुलिया के मैदान में अधिकारी की रैली का आयोजन किया गया था। टीएमसी कार्यकर्ता बीजेपी के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। बाद में पुलिस के हस्तक्षेप से मामला शांत हुआ। इस सभा में प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष दिलीप घोष भी मौजूद थे।

बाद में शुभेन्दु ने ममता बनर्जी की सरकार और तृणमूल को निशाने पर लेते हुए कहा कि सभा में भीड़ देखकर ममता बनर्जी के कार्यकर्ताओं का दिमाग खराब हो गया है। जब आचार संहिता लागू हो जाएगी तो तृणमूल एक पोलिंग एजेंट भी नहीं दे पाएगी।

यह भी पढ़ें : देशभर के लिए कोविशील्ड वैक्सीन की पहली खेप सीरम इंस्टीट्यूट से रवाना 

यह भी पढ़ें : चुनाव से पहले ममता ने चला ‘फ्री वैक्सी‍न’ दांव

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com