Thursday - 23 January 2020 - 5:29 PM

देश की ये प्राचीन गुफा अक्टूबर तक हाऊसफुल

न्यूज़ डेस्क

केदारनाथ। लोकसभा चुनाव 2019 के नतीजों से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केदारनाथ की एक गुफा में ध्यान लगाया था। पीएम मोदी के इस ध्यान ने दुनियाभर में सुर्खियां बटोरी थीं और केदारनाथ की ये स्पेशल गुफा चर्चा में आ गई थी।

चर्चा इतनी कि अब ध्यान के लिए यह गुफा हाऊसफुल चल रही है। अक्तूबर- 2019 तक की सारी बुकिंग हो चुकी है, यानी अब केदारनाथ में यह गुफा ‘स्पेशल टूरिज्म प्वाइंट’ बन गई है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 18 मई को केदारनाथ मंदिर में दर्शन करने के बाद एक गुफा में ध्यान लगाने गए थे। प्रधानमंत्री ने पूरी रात इस गुफा में गुजारी थी। इसके बाद इस गुफा में जाने वाले लोगों की संख्या बढ़ गई।

पिछले 65 दिनों में यहां 46 श्रद्धालु ध्यान लगा चुके हैं। गढ़वाल मंडल विकास निगम (जीएमवीएन) के अनुसार अभी तक इस गुफा के जरिए उन्हें 95 हजार रुपए की आय प्राप्त हुई है।

ये भी पढ़े: भारत में इसलिए मनाया जाता ‘हिंदी दिवस’

यहां रात्रि प्रवास के लिए 1500 रुपए और दिनभर के लिए 990 रुपए का शुल्क तय किया गया है। 8 मई की शाम प्रधानमंत्री इस गुफा में पहुंचे थे, 19 मई की सुबह 7 बजे पीएम गुफा से बाहर निकले और फिर केदारनाथ धाम में दर्शन करने के लिए गए।

गौरतलब है कि 19 मई को लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण के लिए मतदान होना था और 17 मई को प्रचार रुक गया था। उसी के बाद पीएम मोदी केदारनाथ मंदिर में दर्शन करने गए थे और बाद में गुफा में ध्यान लगाने पहुंच गए।

समुद्री तल से 12 हजार फीट की ऊंचाई पर मौजूद इस गुफा में वाई- फाई, फोन और बैड का भी इंतजाम है। यही कारण रहा था कि प्रधानमंत्री के जाने के बाद यह काफी चर्चा में आ गई थी, गुफा में ध्यान लगाते हुए प्रधानमंत्री की तस्वीर सोशल मीडिया पर काफी वायरल भी हुई थी।

Loading...
English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com