Saturday - 18 September 2021 - 12:48 PM

ये पर्वत प्रहरी से जो खड़े दुश्मन की नजर न तुझपे पड़े

जुबिली न्यूज़ ब्यूरो

लखनऊ। कारगिल विजय दिवस का उल्लास आज संगीत की स्वर लहरियों और काव्य सरिता के तौर पर उभरकर आया। उत्तर प्रदेश संगीत नाटक अकादमी द्वारा स्वतंत्रता दिवस की 75वीं वर्षगांठ के अंतर्गत अकादमी परिसर गोमतीनगर की वाल्मीकि रंगशाला में आयोजित आजादी का अमृत महोत्सव ऑनललाइन कार्यक्रम में लखनऊ के युवा शास्त्रीय-उपशास्त्रीय गायक प्रवीण ने सुर सजाये तो युवा सारंगी वादक जीशान अब्बास ने रागों को सुनाकर जोश जगाया, जबकि वरिष्ठ कवयित्री ज्योति किरन सिन्हा ने काव्यमय रचनाओं से देशभक्ति की भावना जाग्रत करने के संग शहीदों को श्रद्धा सुमन अर्पित किये। अकादमी फेसबुक पेज पर जीवंत कार्यक्रम को बड़ी तादाद में लोगों ने देखा।

कार्यक्रम में कलाकारों और दर्शकों – श्रोताओं का स्वागत करते हुए अकादमी के सचिव तरुण राज ने कारगिल शहीदों को श्रद्धासुमन अर्पित किये और कहा कि शृंखला के कार्यक्रमों की भावना यह है कि देश पर न्योछावर होने वाले ऐसे ही जवानों की बदौलत हम सुरक्षित तरह से रह पा रहे हैं। हम आजादी अक्षुण्ण रखने वाले अपने सेनानियों, क्रान्तिकारियों और कला के जरिये देशसेवा करने वाले व्यक्तित्वों का स्मरण ऐसे कार्यक्रमों के जरिये नित्यप्रति करना चाहिए।

पिता पं.रामकृपाल मिश्र व चाचा पं.रामप्रकाश मिश्र के शिष्य प्रवीण कश्यप ने समापन देशभक्ति गीत- आज गाओ शहीदों का गान…. से किया तो कार्यक्रम का आगाज सावन के पहले दिन के मौसम के अनुरूप राग मेघ की रचनाओं से किया। पहले मध्य लय एक ताल में – कजरा कारे-कारे…. और फिर द्रुत तीन ताल में आयो गरजत बादरवा…. सुनायी। उनके साथ तबले पर कुशल वादक रविनाथ मिश्र, हारमोनियम पर पीयूष मिश्र और स्वर मण्डल पर शैलेष भारती ने बढ़िया साथ दिया। दूसरे कलाकार के तौर पर युवा सारंगी वादक जीशान अब्बास ने मधुर राग चारुकेशी छेड़ा तो आगे कारगिल शहीदों को नमन करते हुए प्रसिद्ध धुन- वैष्णव जन तो तैणे कहिए…. सुनायी।

वरिष्ठ कवयित्री ज्योति किरन सिन्हा ने आहुति देने वाले वीर जवानों को याद करते हुए देशभक्ति से ओतप्रोत रचनाओं के बीच गीत- दुनिया में चमकता इक तार ये मेरा वतन सबसे न्यारा…… पढ़ा। उन्होंने कहा- ये पर्वत प्रहरी से जो खड़े दुश्मन की नजर न तुझपे पड़े, पैरों में मचलता महासागर कुदरत के हैं उपकार बड़े। आगे उन्होंने कहा- तू विरासत है उन वीरों की दुश्मन पे उठी शमशीरों की, आजादी की खातिर जो मिटे, जो शहीद हुए उन दिलेरों की।

यह भी पढ़ें : तहसील व थाना दिवस में आने वाली शिकायतों पर नजर रखेगा सीएम कार्यालय

यह भी पढ़ें : किसानों की यह तैयारी उड़ा देगी सरकार की नींद

यह भी पढ़ें : पुलिस के आपरेशन खुशी ने इन गरीबों की झोली में डाल दी खुशी

यह भी पढ़ें : डंके की चोट पर : लाशों के बीच वो लड़की और …

अंत में कार्यक्रम का संचालन कर रही अकादमी की संगीत सर्वेक्षक रेनू श्रीवास्तव ने सभी कलाकारों व कार्यक्रम में शामिल दर्शकों -श्रोताओं का आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम के तकनीकी पक्ष में पवन तिवारी का सहयोग रहा।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com