Friday - 19 August 2022 - 12:53 PM

सिद्धू की परेशानी का अंत नहीं, अब भरी महफिल में हुए रुसवा

जुबिली न्यूज डेस्क

पंजाब में हाल में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को मिली करारी हार के बाद पार्टी में कलह मची हुई है। पार्टी की इस शर्मनाक हार का जिम्मेदार अधिकांश नेता नवजोत सिंह सिद्धू को मान रहे हैं। इसीलिए सिद्धू पर पार्टी के नेता जमकर भड़ास निकाल रहे हैं।

गुरुवार को एक विरोध सभा में ऐसा ही माहौल दिखा। एक सहयोगी ने सभा में नवजोत सिंह सिद्धू को चुनौती दी कि अगर उन्हें लगता है कि पार्टी में कोई गलत काम में शामिल है तो उसका नाम लिया जाए।

 

इतना ही नहीं पार्टी के लिए शर्मनाक स्थिति तब पैदा हुई जब पंजाब कांग्रेस यूथ प्रमुख ब्रिंदर सिंह ढिल्लों ने पंजाब कांग्रेस कमेटी (पीसीसी) के पूर्व प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू को उनके भाषण के दौरान बीच में ही रोक दिया।

दरअसल सिद्धू चंडीगढ़ में पंजाब कांग्रेस भवन के बाहर पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस की कीमतों में लगातार वृद्धि को लेकर मोदी सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के दौरान कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे।

इस दौरान नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब विधानसभा चुनावों में पार्टी के पतन के मद्देनजर पार्टी के पुनरुद्धार के लिए स्वच्छ छवि वाले नेताओं को बढ़ावा देने की बात कही।

सिद्धू ने इशारों-इशारों में कहा, “मैंने किसी का नाम नहीं लिया और न ही ऐसा करूंगा, क्योंकी ये पब्लिक जो है सब जनती है।'”

कांग्रेस नेता ने कहा कि अगर कोई अपना खुद का खजाना भरता है, तो इससे किसी का भला नहीं होगा। सिद्धू ने आगे कहा, “आप कितने भी संबोधन क्यों ने दें, कुछ भी नहीं होगा।”

यह भी पढ़ें : अब केरल कांग्रेस में बड़ी बगावत, जानिए क्या है मामला

यह भी पढ़ें : सीबीआई को झटका, इस मामले में निदेशक को मांगनी होगी लिखित माफी

यह भी पढ़ें : …और अब झारखंड कांग्रेस में संकट!

वह यहीं नहीं रूके। उन्होंने आगे कहा कि अगर किसी कांग्रेस कार्यकर्ता के खिलाफ कोई “झूठी” प्राथमिकी दर्ज की जाती है तो वह स्टैंड लेने वाले पहले व्यक्ति होंगे।

उन्होंने कहा, “लेकिन अगर किसी के घर से पैसे बरामद होते हैं, तो मैं उसके साथ खड़ा नहीं रहूंगा। क्योंकी चोरन नाल नहीं खडऩा (चोरों के साथ नहीं खड़ा होना है।) मैं किसी पर उंगली नहीं उठाऊंगा। मेरे खिलाफ सौ लोगों ने बात की होगी लेकिन सिद्धू ने कभी किसी कांग्रेस कार्यकर्ता के खिलाफ नहीं बोला।”

इसी दौरान कांग्रेस नेता ढिल्लों ने खड़े होकर जोर से चिल्लाते हुए सिद्धू को टोक दिया। उन्होंने कहा, “सिद्धू साहब, आप जो कर रहे हैं वह गलत है। नाम क्यों नहीं लोगे, क्यों नहीं नाम लाओगे?”

ढिल्लों ने सिद्धू से उन लोगों का नाम लेने का अनुरोध किया, जो उन्हें लगता है कि भ्रष्टाचार में लिप्त हैं। उन्होंने कहा, “अगर कुछ गलत है तो उसे बताओ, और अगर कुछ ही है तो वह भी कहो।”

यह भी पढ़ें : ‘जब मुस्लिम देशों में लाउडस्पीकर पर रोक है तो फिर भारत में इसकी क्या जरूरत है?’

यह भी पढ़ें : इस वैवाहिक विवाद मामले को देख हैरान हुए सीजेआई, कहा-कुछ लोगों को लड़ने में…

यह भी पढ़ें :  ‘कश्मीर हिंसा का चश्मदीद गवाह हूं, BJP पर फिल्म के जरिए प्रोपेगेंडा फैलाने का आरोप गलत’

ढिल्लों ने नवजोत सिंह सिद्धू से कहा कि यदि वह नाम नहीं लेंगे तो इसका मतलब होगा कि वह केवल “नाटक” कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, “फिर तुसी ड्रामा कर रहे हो।” अपने पार्टी कार्यकर्ता के गुस्से ने सिद्धू को अपना संबोधन बीच में बंद करने के लिए विवश कर दिया।

लेकिन बाद में कांग्रेस नेता ढिल्लों ने एक ट्वीट के माध्यम से पार्टी में एकता की अपील की और स्पष्ट किया कि उनका गुस्सा किसी व्यक्ति के खिलाफ नहीं था।

मालूम हो कि पंजाब विधानसभा चुनावों में कांग्रेस को केवल 18 सीटों पर जीत मिली, क्योंकि आम आदमी पार्टी 117 विधानसभा क्षेत्रों में से 92 पर सत्ता में आई थी।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com