Thursday - 21 October 2021 - 12:55 AM

छापा मारने आई टीम ने जाते वक्त सोनू सूद से कहा कि वाकई आप अद्भुत हैं

जुबिली न्यूज़ ब्यूरो

नई दिल्ली. लॉकडाउन के दौर में जब मजदूर अपने घरों को पैदल लौट रहे थे तब उनके लिए फ़रिश्ता बनकर आये अभिनेता सोनू सूद के घर पर एक हफ्ता पहले इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने छापा डाला तो देश में तीखी प्रतिक्रिया हुई. सोनू सूद के घर क्योंकि छापा पड़ा था इसलिए उनकी तत्काल प्रतिक्रिया सामने नहीं आ पाई. उन्होंने सिर्फ इतना कहा था कि समाज की भलाई का जो काम शुरू किया है उसे जारी रखूंगा.

सोनू सूद पर इल्जाम है कि उन्होंने सूद चैरिटी फाउंडेशन के ज़रिये जो धन जमा किया उसका इस्तेमाल सही नहीं किया. सोनू सूद पर जयपुर और लखनऊ में बेहिसाब ज़मीनें होने का इल्जाम है. सोनू सूद पर इल्जाम है कि उन्होंने अपने फाउंडेशन की आड़ में विदेशों से काफी धन लिया जो कि फारेन कंट्रीब्यूशन रेगुलेशन एक्ट (FCRA) का उल्लंघन है.

 

आरोपों की लम्बी फेहरिस्त के साथ इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने सोनू सूद का दरवाज़ा खटखटाया तो मेहमाननवाजी में माहिर सोनू सूद ने इस टीम का भी मुस्कुराकर स्वागत किया. सोनू ने कहा कि आप हमारे घर आये हैं तो आराम से अपना काम करिये. जो कागज़ कहेंगे मुहैया कराऊंगा. आप लोग यहाँ से ऐसा अनुभव लेकर जायेंगे जैसा कहीं नहीं मिला होगा.

सोनू सूद ने इनकम टैक्स डिपार्टमेंट को बताया कि लखनऊ और जयपुर में मेरे पास एक इंच भी ज़मीन नहीं है, तो ज़ाहिर है कि उसके डाक्यूमेंट भी नहीं होंगे. जहाँ तक मेरे फाउंडेशन पर FCRA के उल्लंघन का आरोप है तो विदेशों से उसी कंपनी या फाउन्डेशन को धन मिलता है जो तीन साल से अधिक समय तक लिस्टेड है. मेरी फाउंडेशन तो रजिस्टर्ड ही नहीं है. ऐसे में उसे विदेश से फंड मिलने की कोई संभावना नहीं है.

सोनू सूद ने बताया कि क्राउड फंडिंग प्लेटफार्म के ज़रिये फंड मिलता है लेकिन उसके लिए मैं सिर्फ ज़रिया बना. क्राउड फंडिंग प्लेटफार्म से जो भी धन जमा हुआ वह सीधे उन अस्पतालों में पहुंचा जहाँ ज़रूरतमंद मरीजों का इलाज चल रहा था या फिर उन स्कूलों में मदद के लिए धन गया जहाँ बच्चो को शिक्षित किया जा रहा है. मेरे एकाउंट में कहीं से एक रुपया भी नहीं आया. मेरा एकाउंट चेक किया जा सकता है. सोनू सूद ने अपनी एकाउंट डीटेल इनकम टैक्स डिपार्टमेंट को मुहैया करा दी.

सोनू सूद ने उन अस्पतालों और स्कूलों की डीटेल भी मुहैया कराई जिसे उन्होंने धन दिलवाया. वह धन किन मरीजों पर खर्च हुआ उसकी डीटेल भी उन्होंने दी. किन डॉक्टरों ने मरीजों का इलाज किया उसकी डीटेल भी दी. कितना धन आया और कितना खर्च हुआ उसके सारे डाक्यूमेंट उन्होंने इनकम टैक्स डिपार्टमेंट को सौंप दिए.

हालांकि सोनू इस सबके बीच हमेशा की तरह जरूरतमंदों की मदद करते रहे. सोनू का कहना है कि वह अपने प्रोफेशनल और मानवीय लक्ष्य को लेकर दृढ़ संकल्पित हैं. एक्टर ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों के बारे में खुलकर बात की.

यह भी पढ़ें : महाराष्ट्र के 43 शहर और शहरी समूह हुए रेस टू ज़ीरो में शामिल

यह भी पढ़ें : इस वैक्सीनेशन कैम्प में थी चॉइस कोवैक्सीन लगवाएं या कोविशील्ड

यह भी पढ़ें : पंजाब के बाद अब राजस्थान में भी सियासी पारा हुआ हाई

यह भी पढ़ें : डंके की चोट पर : फोकट की सुविधाएं सिर्फ आपको ही चाहिए मंत्री जी

सोनू सूद ने बताया कि छापा मारने आई टीम जो-जो कागज़ मांगती रही वह सब उन्हें मुहैया करा दिए गए. चार दिन तक चली छापेमारी के बाद जब टीम जाने लगी तो सोनू सूद ने अधिकारियों से कहा कि आप लोग जा रहे हैं, मैं आपको मिस करुंगा. इस पर अधिकारियों ने ठहाका लगाया और कहा कि आप जो काम कर रहे हैं वह अद्भुत है उसे जारी रखियेगा.

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com