Saturday - 28 January 2023 - 9:18 PM

हमारी जान ले लें, हम BJP के सामने झुकेंगे नहीं : प्रियंका गांधी

लोकतंत्र में नेता जनता का नमक खाता है  सपा, बसपा करती हैं भाजपा से समझौता : प्रियंका गांधी 

लखनऊ। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने मऊ जिले में इंदिरा गांधी पीजी कॉलेज, मधुबन में, खैराबाद, मोहम्मदाबाद गोहना में और आजमगढ़ के रानी की सराय में आयोजित जनसभाओं को कर उत्तर प्रदेश में कांग्रेस पार्टी की सरकार बनाने की अपील की।

उन्होंने कहा कि जो लोग धर्म जाति के नाम पर आपके जज्बातों को उभार कर वोट मांगते हैं, उन्हें बिल्कुल वोट मत देना। उन्होंने राजनीतिक दलों पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी भाजपा से, आरएसएस से, पुश्तों से लड़ रही है।

इनको मालूम है कि समाजवादी पार्टी के नेता झुक जाएंगे, बसपा के नेता झुक जाएंगे, अपने घरों में दुबक जाएंगे लेकिन कांग्रेस पार्टी न इनसे डरेगी, न इनके सामने झुके बल्कि वह न्याय के लिए संघर्ष करेगी और भाजपा का सामना करेगी।

इतिहास में कोई ऐसी जंग नहीं हुई, जो बिना लड़े जीती गई हो। यह सपा-बसपा लड़ नहीं रहे हैं, यह जीत कैसे जायेंगे ? यह समझौता करेंगे, पांच साल समझौता कर अपने घरों में दुबके रहे, सरकार बनेगी, तो भी यही करेंगे।

यह लोग भाजपा का सामना नहीं कर सकते, इसलिए भाजपा कांग्रेस पर, मेरे परिवार पर वार करती है, क्योंकि वह जानती है कि हम नहीं झुकेंगे। हमें हिरासत में ले लें, हमें जेल में डाल दें, हमारी जान ले लें, हम इनके सामने झुकेंगे नहीं।

उन्होंने कहा कि कोई कहता है चर्बी निकाल देंगे, कोई कहता है गर्मी निकाल देंगे। आपकी भर्ती की बात कौन कर रहा है? आपकी खेती की बात कौन कर रहा है? कोई आपको आगे बढ़ाने की बात कर रहा है? दोषी वे नहीं, दोषी तो आप हैं क्योंकि आप उनसे सवाल नहीं पूछते। प्रधानमंत्री खुद कहते हैं कि एक बुजुर्ग महिला ने कहा कि मैं मोदी जी के साथ गद्दारी नहीं करूंगी क्योंकि मैंने मोदी जी का नामक खाया है। यह मानसिकता है प्रधानमंत्री जी की कि वह कह रहे हैं कि जनता उनका नमक खा रही है।

मेरे परिवार में तीन प्रधानमंत्री रहे हैं, किसी के दिमाग में ऐसी बात कभी नहीं आई। क्योंकि वह जानते थे कि वह आपके सेवक हैं, आपने उनपर एहसान किया है, उन्हें नेता बनाया। उन्हें आपने सत्ता उधार में दी थी।

उनका कर्तव्य था कि वह अपकी सेवा करें, उत्तर प्रदेश कांग्रेस में आज हर कार्यकर्ता, नेता, पदाधिकारी जानता है कि उसका कर्तव्य आपके लिए काम करना है। पूरे प्रदेश में जब कहीं अत्याचार होता है, गरीबों का शोषण होता है तो न्याय की लड़ाई लड़ने के लिए कांग्रेस के लोग सबसे पहले संघर्ष करते हुए दिखते हैं। प्रधानमंत्री तो उस मंत्री से इस्तीफ़ा मांगने के बजाय उसके साथ मंच साझा करते हैं, जिसके बेटे ने लखीमपुर में किसानों को अपनी जीप से कुचल दिया।

कांग्रेस महासचिव ने कहा कि आज उत्तर प्रदेश की जनता बेरोजगारी, महंगाई और अत्याचारों को झेल रही है। नौजवानों को रोजगार नहीं मिल रहा है। महंगाई बहुत बड़ी समस्या बन गई है। एक दिहाड़ी में सरसों तेल की एक बोतल नहीं मिलती।

पेट्रोल और डीजल के दाम हद से ज्यादा बढ़ गए हैं। किसान भाइयों को फसल का दाम नहीं मिलता, खाद नहीं मिलती। आप रोजाना अपनी रोजी-रोटी के लिए जो जंग लड़ रहे हैं, जो परेशानी का सामना कर रहे हैं, उसकी बात कोई नहीं करता।

इन नेताओं में इतनी हिम्मत कहां से आई कि वे आपके सामने आपकी बात ही नहीं करते? एक तरफ प्रदेश की जनता परेशानियों का सामना कर रही है। महंगाई, बेरोजगारी की समस्याएं हैं। दूसरी तरफ जितने दल, जितने नेता हैं, वे आपके सामने आते हैं तो आपकी परेशानियों की बातें नहीं कर रहे हैं। वे आपके सामने पाकिस्तान और बुल्डोजर की बात करते हैं।

उन्होंने कहा कि किसान भाई, हमारे बुनकर भाइयों के लिए कमाई करना मुश्किल है। छुट्टे जानवर की परेशानी है। बुनकर के लिए कांग्रेस के समय जो पैकेज था, वह समाप्त हो गया है।

बिजली महंगी हो गई है। लोगों के लिए रोजी रोटी कमाना मुश्किल हो गया है। प्रधानमंत्री जी ने खुद कहा कि उन्हें जानकारी ही नहीं थी कि प्रदेश में छुट्टे जानवर की समस्या है।

केंद्र में इनकी सरकार, प्रदेश में इनकी सरकार, लेकिन आपने उन्हें इतनी हिम्मत दे दी है कि वे कहते हैं कि उन्हें आपकी समस्या मालूम ही नहीं है। आपकी समस्या से अनभिज्ञ होने की हिम्मत उन्हें मिली कैसे? क्योंकि वे जानते हैं कि जाति, धर्म की जज्बात भरी बातें करेंगे तो आप उनकी बातों में आ जाएंगे। वे जानते हैं कि 5 साल बाद आकर इन्हीं के दम पर आपका वोट ले लेंगे, इसलिए वे बहकी-बहकी बातें करते हैं।

कांग्रेस महासचिव ने राजनीतिक दलों पर निशाना साधते हुए कहा कि चुनाव के समय यह सब लोग बहकी बातें और खोखली घोषणाएं करते हैं। सपा, बसपा और भाजपा के नेता जानते हैं कि जब धर्म, जाति की बात करेगा, तो आपके जज्बात उभरेंगे।

वह जानते हैं कि वोट लेने का एक ही माध्यम है इस प्रदेश में और वह है जाति और धर्म। इसके बाद पांच वर्ष तक वह गायब रहता है। क्योंकि उसको पता है कि जज्बातों को उभारकर वोट ले सकता है। जाति-धर्म की बातों से सिर्फ नेताओं को फायदा मिलेगा। सत्ता आती रहेगी और यह अपने बड़े बड़े उद्योगपति मित्रों के लिए नीतियां बनाते रहेंगे।

और देश के गरीब, नौजवान और महिलाओं को उसी खाई में जानबूझ के धकेलेंगे। क्योंकि उनको पता है कि जबतक आप गरीब, अशिक्षित रहोगे, तब तक आपके जज्बातों का इस्तेमाल करना और आसान होना। जब आप सशक्त और सक्षम हो जाओगे, तो आप इन नेताओं से सवाल पूछना शुरू कर दोगे की यह जो बड़े बड़े बी भाषण दे रहे हो, तुमने हमारे लिए किया क्या है।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com