Friday - 4 December 2020 - 2:08 PM

Tag Archives: पत्रकारिता

डंके की चोट पर : इज्जत टीआरपी में नहीं खबर की सच्चाई में है

शबाहत हुसैन विजेता लाईट, कैमरा, एक्शन. ग्लैमर से भरे हैं यह तीन लफ्ज़. इन तीन लफ़्ज़ों में इतना खिंचाव है कि नयी उम्र के लोग अपना घर छोड़कर मुम्बई भाग जाते थे. फिल्मों का ग्लैमर घर में मिलने वाली मोहब्बत से भी बड़ा होता था. फिल्मों जैसा ग्लैमर ही पत्रकारिता …

Read More »

गद्दारी, दलाली, जालसाज़ी, लड़कीबाज़ी और घोटालेबाज़ी में क्यों सिमट रही पत्रकारिता !

नवेद शिकोह मातृभूमि भारत माता की तरह पत्रकारिता का पेशा भी मां की तरह है। दुर्भाग्य कि इस मां का हर रोज़ बलात्कार होता है। पत्रकारिता के पेशेवर ही ऐसे बलात्कार को अंजाम देते हैं। करीब हर रोज़ पत्रकारों की गिरफ्तारी की खबरें आती हैं। कभी-छुटपुट मामले होते हैं तो …

Read More »

हिंदी पत्रकारिता दिवस पर मीडिया मंच के विशेष अंक का विमोचन

बेदाग रहा है मीडिया मंच के 22 वर्षों का कामयाब सफर : नवनीत सहगल पत्रिका का नियमित प्रकाशन ही सफलता का प्रमाण : शिशिर जुबिली न्यूज़ डेस्क  लखनऊ. उत्तर प्रदेश के प्रमुख सचिव खादी ग्रामोद्योग एवं एमएसएमई नवनीत सहगल ने आज मीडिया मंच के 22 वर्ष पूरे होने के अवसर …

Read More »

मोदी काल में पत्रकारिता

सुरेन्द्र दुबे आज पत्रकारिता दिवस है इसलिए हमने सोचा कि क्यों न हम पत्रकारिता की दशा और दुर्दशा पर चिंतन करें. हो सकता है पत्रकारिता आने वाले दिनों में और निचले पायदान पर चली जाए या हो सकता है कि पत्रकारों की आत्मा जागे जिससे समाज को लगे कि भले …

Read More »

मीडिया क्यों शाबाशी और समर्थन की हकदार है ?

केपी सिंह कलयुग बोध पत्रकारिता में भी सालता है। इस बोध के चलते लगता है कि वर्तमान बहुत खराब जमाने के रूप में सामने है। अतीत में जो लोग पत्रकारिता में थे वे बहुत पवित्र आत्माएं थीं, आज सबकी सोच बहुत गंदी है। नेता की बात चले, पुलिस की बात …

Read More »

जानिए गाँधी जी के अंतिम पलों के गवाहों की कहानी 

नेशनल डेस्क    नई दिल्ली। मृदुला गांधी भारतीय इतिहास का एक जाना-पहचाना चेहरा है। जिसने आखिरी दो साल में महात्मा गाँधी के साथ ‘सहारा’ बनकर साये की तरह रही। फिर भी यह चेहरा लोगों के लिए एक पहेली है। 1946 में सिर्फ 17 वर्ष की आयु में यह महिला महात्मा …

Read More »

जानिए गाँधीजी की 150वीं जयंती पर देश में क्या-क्या है तैयारी 

नेशनल डेस्क  नयी दिल्ली। 2 अक्टूबर को भारत सहित दुनिया के कई अन्य देशों महात्मा गाँधी के जयंती धूम-धाम से मनाई जा रही है। देश में स्कूलों और राजनीतिक पार्टियों के कार्यालयों सहित दिल्ली स्थित गाँधी प्रतिमा पर गाँधी जी की जयंती के अवसर पर विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किये जा …

Read More »

गांधी के आइने में आज की पत्रकारिता

केपी सिंह गांधी जी का योगदान बहुआयामी और विराट रहा है। इसलिए एक बार में उन पर समग्र चर्चा संभव नही हो पाती। गांधी जी ने लोगों में स्वाधीनता की लौ उद्दीप्त करने के लिए पत्रकारिता को भी प्रमुखता से अवलंब बनाया था। लेकिन इस पर बहुत कम विमर्श हुआ …

Read More »

मैग्सेसे अवार्ड और रवीश की बिरादरी

शबाहत हुसैन विजेता  पश्चिम बंगाल में डॉक्टर से मारपीट हुई तो देश भर के डॉक्टर हड़ताल पर चले गए। किसी वकील पर हमला होता है तो वकील एक समुदाय की शक्ल में अराजकता का नंगा नाच शुरू कर देते हैं। टीचर से मारपीट होती है तो कालेज के गेट पर …

Read More »

‘रैमन मेग्सेसे अवॉर्ड’ पाने के लिए जर्नलिज्म जरुरी है क्या ?

न्यूज़ डेस्क। साल 2019 के लिए रैमन मेग्सेसे अवॉर्ड की घोषणा हुई, जिसमें रवीश का नाम भी शामिल है। रवीश कुमार को यह सम्‍मान दिए जाने की घोषणा के बाद से उन्हें सोशल मीडिया पर जमकर बधाई दी जा रही है. साथ ही ट्विटर पर #RamonMagsaysayAward और #RavishKumar ट्रेंड कर …

Read More »
English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com