Saturday - 3 December 2022 - 9:55 AM

ऐसा बिछाया जाल, 300 युवा बने शिकार, सरगना सहित 4 गिरफ्तार

न्यूज़ डेस्क

लखनऊ। फेसबुक पर नौकरी का विज्ञापन देकर उत्तर प्रदेश सहित 10 राज्यों के बेरोजगार युवाओं से ठगी करने वाले गिरोह के सरगना सहित चार आरोपियों को आगरा की साइबर क्राइम सेल ने गिरफ्तार किया है। आरोपियों से बड़ी संख्या में बैंक पासबुक, एटीएम कार्ड, मोबाइल, युवकों के बायोडाटा सहित अन्य सामान बरामद किया है।

ये भी पढ़े: बिस्तर पर पड़ा था खून से लथपथ पत्नी का शव और फरार था पति

आरोपी ढाई साल में 300 से अधिक युवाओं से लाखों की ठगी कर चुके हैं। एसपी सिटी प्रशांत वर्मा ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी कुबेरपुर (रहनकलां) निवासी मुकेश, फिरोजाबाद के रामनगर निवासी बालकिशन, ताजगंज स्थित गोविंद नगर कॉलोनी निवासी नोयल जींस और उसकी पत्नी मधु उर्फ जैशमिन है।

ये भी पढ़े: परिजनों से मांगी 50 लाख की फिरौती, जंगलों में पुलिस की काम्बिंग

पुलिस की पूछताछ में पता चला कि मुकेश और बालकिशन ढाई साल से हरिद्वार (उत्तराखंड) में रहकर ठगी का धंधा कर रहे थे। दोनों ने फेसबुक पर पब्लिक सेक्टर यूनिट गेल, भेल, एनटीपीसी, बीईएल, एयरपोर्ट इंडिया के एचआर मैनेजर के नाम से आईडी बनाई थीं। उस पर नौकरी का विज्ञापन देते थे। जो लोग संपर्क करते थे, उन्हें एचआर मैनेजर बताते थे।

कंपनी में स्थायी नौकरी का प्रलोभन देते थे। दो से तीन लाख रुपये की मांग करते थे। 45 से 60 हजार रुपये मेडिकल और कमीशन के नाम पर एडवांस में लेते थे।

मुकेश और बालकिशन ने उत्तराखंड के छह से अधिक बैंकों में 15 से अधिक खाते खुलवा रखे थे। यह सभी खाते अपने पुराने आईडी पर खुलवाए थे। जुलाई में दोनों आगरा आ गए। उनकी पहचान मधु उर्फ जैशमिन से थी। मुकेश ने उसे लालच देकर गैंग में शामिल कर लिया।

ये भी पढ़े: छैमार गिरोह के इनामी बदमाश को एसटीएफ ने दबोचा

उसके पति नोयल जींस की आईडी पर खाते खुलवा लिए। मधु लोगों से बात करने लगी। जो फंस जाता था, उसकी मुकेश से बात कराई जाती थी। दोनों खुद को अधिकारी बताते थे। इसके बाद खाते में रकम जमा करा लेता था।

गैंग ने उत्तर प्रदेश के आगरा, कानपुर, मेरठ, गाजीपुर, बनारस, सहारनपुर, रायबरेली, फतेहपुर, नोएडा आदि जिलों के के अलावा बिहार, दिल्ली, झारखंड, महाराष्ट्र, कन्याकुमारी, गुजरात, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश के तकरीबन 300 से अधिक बेरोजगार युवकों से ठगी की है। पुलिस डायरी में लिखे नाम के आधार पर लोगों से संपर्क कर रही है।

अलग नामों से बनाते थे फेसबुक आईडी

आरोपियों की फेसबुक पर आईडी एचआर मैनेजर जैशमिन सिंह गेल इंडिया, एचआर त्रिलोक चंद भेल, किशब बघेल एचआर बीईएल, एचआर सुरेंद्र कांत बीएचईएल, एचआर स्वाति शर्मा एयरपोर्ट इंडिया, एचआर गुलाब सिंह गेल इंडिया, देवेंद्र सिंह एचआर एनटीपीसी, सुरेश चंद गुप्ता एनटीपीसी, बीएम सोलंकी गेल आदि नाम से हैं।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com