Saturday - 3 December 2022 - 7:12 PM

36वें राष्ट्रीय खेल में उत्तर प्रदेश का दमदार प्रदर्शन

जुबिली स्पेशल डेस्क

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के एथलीटों ने गुजरात में आयोजित 36वें राष्ट्रीय खेलों में शनिवार को भी अपना पदक बटोरो अभियान जारी रखा। आज उत्तर प्रदेश के लिए अभिषेक पाल और पारुल चौधरी ने क्रमश: पुरुष व व महिला की 5000 मी.दौड़ में स्वर्णिम सफलता हासिल की।

दूसरी ओर उत्तर प्रदेश के लिए ट्रैक साइकिलंग में सैयद बुरहान अली ने इलीट ग्रुप की 15 किमी.स्ट्रेच रेस में रजत पदक जीता। इन खेलों में जिम्नास्टिक कंप्टीशन के दूसरे दिन उत्तर प्रदेश के सिद्धार्थ वर्मा ने व्यक्तिगत आल अराउंड चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीता। सिद्धार्थ वर्मा का यह पहला राष्ट्रीय खेल है।

इसी के साथ उत्तर प्रदेश के खिलाड़ियों ने शनिवार को समाचार लिखे जाने तक दो स्वर्ण, एक रजत व दो कांस्य पदक जीते। इससे पहले उत्तर प्रदेश ने शुक्रवार को चार स्वर्ण, दो रजत व एक कांस्य जीते थे। उत्तर प्रदेश इन खेलों में अब तक 6 स्वर्ण पदक, तीन रजत पदक व तीन कांस्य पदक सहित कुल 12 पदक जीत चुका है और खेलों की पदक तालिका में दूसरे स्थान पर चल रहा है।

शनिवार को एथलेटिक्स में पुरुष 5000 मी.दौड़ में उत्तर प्रदेश के अभिषेक पाल ने सर्विसेज के कार्तिक कुमार और सावन बरवाल के साथ मौजूदा चैंपियन जी. लक्ष्मणन को कड़े मुकाबले में हराकर खिताब जीता। अभिषेक पाल ने 14:07.25 सेकेंड का समय निकाला, जो 13:50.05 के खेल रिकॉर्ड से काफी दूर था।

अभिषेक पाल

अभिषेक पाल ने सात साल पहले राष्ट्रीय खेल-2015 में 5,000 मीटर दौड़ में पांचवां स्थान हासिल किया था। वो अप्रैल 2019 में हुई एशियाई एथलेटिक्स चैंपियनशिप में 5,000 मीटर दौड़ में पांचवें और 10,000 मीटर दौड़ में सातवें स्थान पर रहे थे। हालांकि आज मिले स्वर्ण पदक के बाद अभिषेक ने बताया कि उनका इरादा स्वर्ण जीतने के साथ गेम्स रिकॉर्ड पर भी था। मैँ जीत से खुश हूं लेकिन फिर भी निराश हूं।”अब अभिषेक पाल सोमवार को 10,000 मीटर दौड़ में हिस्सा लेकर गेम्स रिकॉर्ड तोड़ने का एक और मौका पा सकते है।

पारुल चौधरी

दूसरी ओर उत्तर प्रदेश की ही लंबी दूरी की धाविका पारुल चौधरी ने अपने पहले राष्ट्रीय खेलों में स्वर्ण पदक जीता। उन्होंने महिला 5000 मीटर दौड़ में 16:34.68 के समय के साथ स्वर्ण पदक जीता। पिछले जुलाई में ओरेगॉन में विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप के बाद से ऑफ सीजन में रही मेरठ की इस 27 वर्षीय धाविका के खिलाफ उत्तराखंड की अंकिता ध्यानी, महाराष्ट्र की कोमल जगदाले, हरियाणा की भारती और हिमाचल प्रदेश की सीमा ने बारी-बारी से बढ़त बनाई थी। फिर भी पारुल चौधरी ने अंतिम 200 मीटर में तेजी दिखते हुए प्रतिद्वंद्वियों को पछाड़कर पदक जीत लिया। पारुल चौधरी अब 3,000 मीटर स्टीपलचेज दौड़ में दूसरे स्वर्ण के लिए दावेदारी करेंगी।

रूपल

इसी के साथ महिला एथलेटिक्स के 400 मीटर दौड़ में उत्तर प्रदेश की रूपल ने कांस्य पदक अपने नाम किया।

पुरुष 5000 मी.दौड़ में सफलता पाने के बाद अभिषेक पाल ने कहा कि हां, मेरी रिकॉर्ड पर नजर थी लेकिन अब मेरी निगाह एशियाई चैंपियनशिप और एशियाई खेलों जैसी प्रतियोगिताओं में अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन पर है। इसके साथ ही मैं “मैं राष्ट्रीय शिविर के फिर से शुरू होने से पहले एनसीओई में अपना स्थान पक्का करना चाहता हूं।”

उन्होंने आगे कहा कि 2015 में भोपाल में स्पोर्ट्स अथोरिटी ऑफ इंडिया नेशनल सेंटर ऑफ एक्सीलेंस (एनसीओई) में शामिल होने के बाद मेरे करियर का ग्राफ ऊपर चढ़ा था।

महिला 5000 मीटर दौड़ की पारुल चौधरी ने स्वर्ण जीतने के बाद कहा कि गति पर ज्यादा काम नहीं करने के बावजूद मुझे भरोसा था कि अगर सबसे आगे दौड़ने वाली रनर्स के करीब रह सकी तो मैं अंत तक तेज दौड़ पूरी कर सकूंगी, भले ही फ्रंट-रनिंग में कोई भी हो।

अन्य परिणामों में ट्रैक साइकिलंग इवेंट के पहले दिन सैयद बुरहान अली ने रजत पदक जीतकर साइकिलिंग में उत्तर प्रदेश का खाता खोला। सैयद बुरहान अली इलीट ग्रुप की 15 किमी.स्ट्रेच रेस में दूसरे स्थान पर रहे।

परिणाम 

एथलेटिक्स
पुरुष 5000 मीटर दौड़:- 1. अभिषेक पाल (उत्तर प्रदेश) 14:07.25; 2. कार्तिक कुमार (सर्विसेज) 14:08.24; 3. सावन बरवाल (सर्विसेज) 14:10.53।
महिला 5000 मीटर दौड़: 1. पारुल चौधरी (उत्तर प्रदेश) 16:34.68; 2. सीमा (हिमाचल प्रदेश) 16:36.18; 3. संजीवनी जाधव (महाराष्ट्र) 16:39.97।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com