Monday - 3 August 2020 - 2:57 PM

कोरोना के कहर में कोई नहीं सोएगा भूखा, सुबह से खाना बना रहीं हैं यह महिलाएं

न्यूज़ डेस्क

चंडीगढ़। पूरी दुनिया खतरनाक कोरोना वायरस से जूझ रही है। लॉकडाउन होने के बाद महामारी का सबसे ज्यादा असर देहाड़ी मजदूरों पर पड़ा है। ना उनके पास रहने के लिए छत है और ना ही पेट भरने के लिए खाना। ऐसे में चंडीगढ़ के गुरुद्वारा साहिब संस्था की महिलाएं उनके लिए खाना बना रही हैं।

ये भी पढ़े: वित्त मंत्री का ऐलान, गरीबों को 1.70 लाख करोड़ की मदद देगी सरकार

दरअसल कोरोना के चलते चंडीगढ़ में पिछल चार दिनों से कर्फ्यू लगा हुआ है। सड़क किनारे झोपड़ियों में रहने वाले मजदूरों और भिखारियों के पास ना तो राशन बचा है और ना ही उनके पास पैसे जिससे वह तय समय में दुकान से खीरद सकें।

ऐसे में शहर के गुरुद्वारा साहिब के लोगों ने मंगलवार और बुधवार को एक-एक हाजर लोगों के लिए खाना बनाया। जिसको पुलिस के जवानों ने उन लोगों तक खाना के फूड पॉकेट बनाकर पहुंचाए।

ये भी पढ़े: BJP सांसद ने खुलेआम उड़ायी लॉकडाउन की धज्जियां

गुरुद्वारा साहिब संस्था के प्रेसिडेंट तजिंद्रपाल सिंह के अनुसार उनके गुरुद्वारा शहर के ऐसे लोगों को खाना तैयार किया जा रहा है। जिनके पास खाने के लिए कुछ भी नहीं बचा है। हमारे गुरुद्वारा में आने वाली महिलाएं सुबह 5 बजे से रोटियां और सब्जी बनाने लगती हैं। इसके अलावा पुरुष इसको पैकेट में रखते हैं। एक पैकेट में 6 चपाती, सब्जी और आचार दिया जा रहा है।

तजिंद्रपाल सिंह ने बताया कि गुरुवार के दिन हम 10 हजार लोगों का खाना बनाएंगे। हमारा मकसद है कि कोई भूखा ना सोए और उनके बच्चे को यह अहसास नहीं हो कि उनके पिता या मां उनके लिए खाना नहीं दे पा रहे हैं। इस अभियान में सबसे ज्यादा किसी का रोल है तो वह इन महिलाओं का जो हजारों चपाती बना रहीं। ऐसी नारी शक्ति को प्रणाम करता हूं।

ये भी पढ़े: कोरोना LIVE : संक्रमित मरीजों की संख्या हुई 659

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com