Tuesday - 4 August 2020 - 10:42 PM

आखिर क्यों काल बना तबलीगी जमात का धार्मिक कार्यक्रम

स्पेशल डेस्क

दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में तबलीगी जमात का धार्मिक कार्यक्रम अब लोगों के लिए काल बन गया है। दरअसल इस धार्मिक कार्यक्रम की वजह से कोरोना वायरस के मामले ने एकाएक भारत में तेजी पकड़ ली है।


तबलीगी जमात के धार्मिक कार्यक्रम में शामिल कई लोग कोरोना वायरस क चपेट में आ गए है। यह कार्यक्रम बीते 15 मार्च को तबलीग-ए-जमात के इज्तिमे (मजहबी मकसद से एक खास जगह जमा होना) आयोजित किया गया था।

उधर तबलीगी जमात का इस पूरे मामले पर सफाई भी दे चुका है। आरोप-प्रत्यारोप के बीच मरकज़ ने अपने बचाव में कहा है कि लोगों को ट्रेनों या फिर दूसरी जगह से बाहर जाना था लेकिन बंद के चलते वह जा नहीं पाए। हालांकि इस बात को लेकर दिल्ली पुलिस ने मरकज़ को नोटिस भी दिया था और मरकज़़ का कहना है कि वो भी दिल्ली पुलिस के राब्ते में थे।

हालांकि मरकज से जुड़े लोगों ने बताया कि 25 मार्च को थाना निजामुद्दीनन और एसडीएम को पत्र लिखकर ये बता दिया था कि मरकज में इतनी बड़ी संख्या में लोग मौजूद है जो लॉकडाउन की वजह से यहां से निकल नहीं सकते हैं। इन लोगों को उनके गंतव्य तक पहुंचाने के लिए बसों का इंतेजाम करा दे लेकिन तब उनकी बात पर ध्यान नहीं दिया गया है।

इस कार्यक्रम में करीब 2000 से अधिक लोग शामिल हुए थे। तेलंगाना के छह लोगों की मौत के बाद अभी तक कई लोग कोविड-19 के पॉजिटिव पाए गए हैं। इसके बाद से पूरे भारत में हडक़म्प मच गया है। ऐसे में तबलीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल लोगों की तलाश भी तेज की जा रही है।

जानकारी के मुताबिक 19 प्रदेशों के 1830 लोग शामिल हुए थे। इस धार्मिक कार्यक्रम में जहां भारत के कई राज्यों से लोग शामिल हुए थे जबकि पाकिस्तान, इंडोनेशिया , श्रीलंका, अफगानिस्तान, मलेशिया, सऊदी अरब, इंग्लैंड और चीन और मलेशिया के लोग भी शामिल थे।

हालांकि कुछ लोग अपने देश लौटे हैं लेकिन अब भी विदेशी नागरिक भारत में मौजूद है। मरकज में कई लोगों के फंसे होने के बाद मंगलवार की रात को करीब 36 घंटे के ऑपरेशन के बाद 2,361 लोगों को वहां से निकाला गया। 617 अस्पताल में भर्ती कराया गया है जबकि अन्य लोगों को क्वारंटाइन कर दिया गया है।

उधर जानकारी के मुताबिक जो लोग इस कार्यक्रम में शामिल हुए थे उसमें से 93 लोग कोरोना वायरस की चपेट में आ गए है।

तबलीगी जमात का कार्यक्रम अब सुर्खियों में है, क्योंकि इस कार्यक्रम से कोरोना वायरस के मामले बढ़ रहे हैं। इतना ही नहीं जो लोग इस कार्यक्रम में शामिल हुए उनसे कोरोना वायरस के फैलने का डर लगातार बढ़ रहा है। मौजूदा आंकड़े भी इस ओर इशारा कर रहे हैं।

किस-किस राज्य के लोग हुए थे शामिल

  • तेलंगाना से 1200 लोग हुए थे शामिल
  • यूपी से 157 लोग हुए थे शामिल
  • पंजाब से 9 लोग आए थे
  • हरियाणा से 125 लोग हुए थे शामिल
  • गुजरात के 76 लोग थे शामिल
  • मध्य प्रदेश के 107 लोगों की हुई पहचान
  • पुडुचेरी के दो लोग कोरोना वायरस से संक्रमित
  • कर्नाटक से 300 लोग हुए थे शामिल
  • बिहार से 86 लोग हुए थे शामिल
  • उत्तराखंड से 26 लोग हुए थे शामिल
  • हिमाचल से 17 लोग हुए थे शामिल
  • छत्तीसगढ़ के 101 लोगों की पहचा
  • राजस्थान में 37 लोगों की पहचान
English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com