Sunday - 5 May 2024 - 8:33 AM

भ्रष्टाचार की आंच UPCA और इकाना स्टेडियम तक पहुंची…UPCA के अध्यक्ष, इकाना स्टेडियम के मैनेजर को लोकायुक्त का नोटिस

जुबिली स्पेशल डेस्क

लखनऊ। यूपी की राजधानी लखनऊ का इकाना स्टेडियम एक बार फिर सुर्खियों में लेकिन इस बार खेल के लिए नहीं बल्कि गलत कामों की वजह से चर्चा में है।

दरअसल लखनऊ का इकाना स्टेडियम विश्व कप के बाद आईपीएल मैच की मेजबानी कर रहा है लेकिन मैचों की मेजबानी की आड़ में यहां पर कुछ और खेल खेला जा रहा है।

विश्व कप में इकाना स्टेडियम शानदार मेजबानी का गवाह भले ही बना हो लेकिन अब जो खबरें आ रही है, उसे सुनकर हर कोई हिल गया है। जानकारी के मुताबिक मैचों की आड़ में जमकर भ्रष्टाचार किया गया है।  भ्रष्टाचार  का खेल यहीं पर खत्म नहीं हुआ बल्कि विश्व कप के मैच में टिकट की बिक्री और इकाना स्टेडियम में खानपान, पार्किंग के टेंडर में भी जमकर लूट की गई है।ये हम नहीं कह रहे हैं बल्कि इसका खुलासा तब हुआ जब लोकायुक्त से इस पूरे मामले पर शिकायत की गई है।

अब सवाल है इस पूरे खेल में कौन लोग शामिल है। इसका खुलासा हुआ है। इस पूरे मामले पर यूपी क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष और इकाना स्टेडियम के मैनेजर गौरव सिंह को लोकायुक्त ने नोटिस जारी किया है।

विश्व कप के मैच में टिकट की बिक्री और इकाना स्टेडियम में खानपान, पार्किंग के टेंडर में गड़बड़ी की शिकायत पर ये नोटिस जारी किया गया है। जुबिली पोस्ट के पास इस पूरे मामले का दस्तावेज हाथ लगा है जो आप खबर के नीचे देख सकते हैं।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पिछले साल भी टिकटों की कालाबाजारी खबरें आती रही है लेकिन उस वक्त इस मामले को ज्यादा तूल नहीं दिया गया है और हर बार यही कह दिया गया कि टिकट सब बुक हो चुके हैं।

इस पूरे कौन-कौन खेल में शामिल

यूपी क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष सीईओ अंकित चटर्जी, ट्रेजरार प्रेम मनोहर गुप्ता के साथ इकाना स्टेडियम के मैनेजर गौरव सिंह पर सवाल उठ रहा है। इतना ही नहीं सभी को लोकायुक्त का नोटिस जारी हुआ है।

लोकायुक्त ने यूपीसीए के पदाधिकारी और इकाना के मैनेजर गौरव सिंह से 5 साल में खुद की आय के साथ साथ पूरे परिवार की आय का पूरा ब्यौरा मांगा। पूरे परिवार की आय की जानकारी के साथ 5 साल में किसकी कितनी कमाई हुई ये बताना होगा।

कई चीजों में की घपलेबाजी

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो इकाना स्टेडियम में हुए विश्व कप मैच और आईपीएल मैच में वेंडर्स के चयन और उनको किए गए भुगतान की बड़े पैमाने पर कमीशन खोरी की बात सामने आ रह है।

पार्किंग इंटरनेट खानपान सिक्योरिटी आदि कामों में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार का खेल हुआ है। कहा तो ये भी जा रहा है कि हर मैच में इसी तरह का भ्रष्टाचार हुआ है और हर मैच में सभी काम एक ही वेंडर को लेकर बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार को अंजाम दिया गया है।

विजिलेंस से कराई जा सकती है जांच

अब इस पूरे मामले की जांच विजिलेंस से कराने की मांग की जा रही है। अगर गौर किया जाये तो दस्तावेज में कहा गया है कि इकाना स्टेडियम के मैनेजर गौरव सिंह समेत सभी लोगों की आय से अधिक संपत्ति की जांच विजिलेंस से कराई जाए। लोकायुक्त ने यूपीसीए के अध्यक्ष, इकाना स्टेडियम के मैनेजर गौरव सिंह समेत सभी चार लोगों को भेजा नोटिस है। सभी से 29 मई तक जवाब मांगा गया है।

कुल मिलाकर लखनऊ का इकाना स्टेडियम अब खेल के नहीं बल्कि

भ्रष्टाचार के इस गंदे खेल के लिए अचानक से चर्चा में आ गया है और मामला जब से प्रकाश में आया है तब से हर कोई हैरान है। अब देखना होगा इस मामले में बीसीसीआई क्या कदम उठाता है।

Radio_Prabhat
English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com