Thursday - 21 October 2021 - 1:20 AM

युवाओं को खूब भा रही हैं साहित्यिक किताबें

जुबिली न्यूज़ ब्यूरो

लखनऊ। राजधानी में चल रहे पुस्तक मेले के सातवें दिन भी साहित्य प्रेमियों का जमावड़ा रहा। मेले के मंच पर गोष्ठी, परिचर्चा, काव्यपाठ और किस्से कहानियों का दौर देर शाम तक चला। लेखकों की नई किताबों का विमोचन हुआ। 10 दिवसीय 18वां राष्ट्रीय पुस्तक मेला राणाप्रताप मार्ग स्थित मोतीमहल वाटिका में चल रहा है।

पुस्तक मेले के बुक स्टॉलों पर अनेक सामाजिक विषयों की चर्चित किताबों, पत्र-पत्रिकाओं की पाठक खोजबीन और खरीदारी करते रहे। मेले में तमाम विषयों के साथ युवाओं के लिए पहले से अलग नई-नई किताबें लुभा रहीं हैं। पाठकों में युवा वर्ग के बीच मेले के बुक स्टॉलों पर कुछेक किताबों को खासी चर्चा है।

राजकमल प्रकाशन के स्टॉल पर एचएल महेश्वरी की जीवन जीने की कला, शिव प्रसाद बागड़ी की अच्छा वक्ता कैसे बनें व अध्ययन कैसे करें, रवींद्र नाथ प्रसाद सिंह की जीवन अनमोल है, विजय जोशी की प्रबंधन की पाठशाला व सफल प्रबंधन गांधी दर्शन पुस्तकें हैं। रामकृष्ण विवेकानंद वेदांत साहित्य के बुक स्टॉल पर स्वामी विवेकानंद की स्मृति सीमा से परे होने का तरीका, विद्यार्थी जीवन में सफलता, स्वामी जगदात्मानंद की जीने की कला, उद्यमिता के सूत्र सहित कई पुस्तकें हैं।

कलाकुंज इंटरनेशनल के स्टॉल पर कल न्यूपोर्ट, रोहंडा वाइसेन की द सीक्रेट, मुश्किल दौर में, आगे बढ़ने का रहस्य, सरश्री की लिखी मोह से मुक्ति सहित कई पुस्तकें हैं। इसी तरह बहुजन बौद्ध साहित्य प्रतिष्ठान पर डॉ. एमएल परिहार की बहुजनों बिजनेस की ओर व दलित से करोड़पति किताबें हैं।

प्रभात पेपर बैक के पास सुरेंद्र मोहन की लिखी हौसले की ऊंची उड़ान, डॉ.एपीजे अब्दुल कलाम की अग्नि की उड़ान और डॉ.एनके शर्मा की लिखी अवचेतन मन की शक्तियां सहित अन्य विशेष पुस्तकें हैं। कुंडलिनी योग रिसर्च इंस्टीट्यूट की डॉ. दीनानाथ राय की लिखी मेमोरी व्यक्तित्व विकास, धारणा और मन, सफलता के सूत्र पसंद की जा रही है। निखिल प्रकाशन के स्टॉल पर प्रो.हरि सिंह कुशवाहा की सफलता की राह व प्रखर वक्ता कैसे बनें, डॉ.नरेंद्र कुमार की जीवन काटें नहीं जियें किताबों की बिक्री रही।

इसी तरह वाणी प्रकाशन के स्टॉल पर स्वेट मार्डेन की सफलता के महामंत्र, मृदुला हसन की बात पैसे की और मार्जन सत्तरपी की लिखी पर्सेपोलिस प्रमुख किताबें मौजूद हैं। ऐसे ही नई किताब प्रकाशन के स्टॉल पर ज्ञान प्रकाश सिंह की सफर जिंदगी डॉट कॉम, तसलीमा नसरीन की एकला चलो किताबों की चर्चा बनी है।

पुस्तक मेले का मंच लखनऊ के साहित्यिक, सांस्कृतिक कार्यक्रमों के हवाले रहा। जिसमें विश्वम फाउंडेशन के असहाय बच्चों के लिए संचालित ‘तुम में है हीरो’ अभियान के तहत कार्यक्रम हुआ। कार्यक्रम में लखनऊ और आसपास के जिलों के असहाय, चयनित और हुनरमंद बच्चों ने अपने नृत्य, गायन और वादन के हुनर दिखाये। कल प्रतियोगिता का फाइनल होगा, जिसमें सैकड़ों बच्चे शामिल होंगे। ज्योति किरण रतन के संयोजन में बालीवुड डांस, आज़ादी का अमृत महोत्सव विषयक स्लोगन प्रतियोगिता में बड़ी संख्या में बच्चों ने प्रति भाग किया।

रेयान मंच की ओर से सामाजिक योगदान देने वाली 22 महिलाओं को सम्मानित किया गया। सर्वोच्च गृहणी सम्मान से सूर्य लता जायसवाल को विभूषित किया गया। मंच पर ही डॉ.रामबहादुर मिश्र की लिखी किताब जिंदगी झकास यात्रा का विमोचन हुआ। जिसमें बतौर अध्यक्ष वरिष्ठ पत्रकार सुभाष राय, मुख्य अतिथि लखनऊ यूनिवर्सिटी के हिंदी विभागाध्यक्ष प्रो.वाईपी सिंह, पत्रकार अरुण सिंह, लेखिका अलका प्रमोद सहित कई साहित्यप्रेमी मौजूद थे।

यह भी पढ़ें : गृह राज्य मंत्री के आवास के बाहर पुलिस ने चस्पा किया नोटिस

यह भी पढ़ें : योगी सरकार पत्रकार हितों की कई योजनाओं पर काम कर रही है

यह भी पढ़ें : कांशीराम के आदर्शों की अनदेखी कर परिवारवाद को बढ़ावा दे रही हैं मायावती

यह भी पढ़ें : डंके की चोट पर : पार्टी विथ डिफ़रेंस के क्या यह मायने गढ़ रही है बीजेपी

निखिल पब्लिशर्स की ओर से देश-दुनिया में चर्चित लखनऊ के साहित्य जगत की हस्तियों को विभूषित किया गया। जिसमें बृजेश पांडेय विरक्त, उपाध्यक्ष डॉ.श्रीप्रकाश यादव, समन्वयक डॉ.मुरारी लाल अग्रवाल, डॉ.अमिता दुबे, संचालक डॉ.विनय शंकर दीक्षित आशु व निखिल प्रकाश समूह के निदेशक मोहन मुरारी शर्मा सहित साहित्य प्रेमी मौजूद थे। डॉ.सुधाकर अदीब के उपन्यास ‘महापथ: आदि शंकराचार्य की दिग्विजय‘ पर चर्चा हुई। जिसमें अध्यक्षता डॉ.सूर्य प्रसाद दीक्षित, मुख्य अतिथि साहित्यकार वीना उदय ने पुस्तक पर विचार रखे। डॉ.सुधाकर अदीब ने कहा कि यह उपन्यास आदि शंकराचार्य के जीवन पर आधारित है।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com