Friday - 5 June 2020 - 6:05 PM

खड़ी बसों पर चल रही सियासत उधर फिर हुई सड़क दुर्घटना

प्रमुख संवाददाता

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में प्रवासी मजदूरों को घर पहुंचाने को लेकर बसों के मुद्दे पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और उत्तर प्रदेश सरकार के बीच रार थमने का नाम नहीं ले रही है इधर फिरोजाबाद में आज प्रवासी मजदूरों से भरी डीसीएम और ट्रक के बीच हुई भीषण टक्कर में 18 मजदूर गंभीर रूप से घायल हो गए. हाल ही में औरैया में ट्रालर और प्रवासी मजदूरों से भरी डीसीएम की टक्कर में 25 मजदूरों की जान जा चुकी है.

हरियाणा से प्रतापगढ़ जा रहे प्रवासी मजदूरों के साथ यह हादसा लखनऊ आगरा एक्सप्रेस वे पर हुआ. टक्कर इतनी भीषण थी कि डीसीएम हवा में रूई की तरह से उड़ गई. इस दुर्घटना में 18 मजदूर गंभीर रूप से घायल हुए हैं. घायलों को सैफई मेडिकल कालेज भेजा गया है.

यह भी पढ़ें : प्रियंका ने पूछा 92 हज़ार लोगों को क्यों फंसाकर रखे है सरकार

यह भी पढ़ें : कोरोना काल में “बस” पर सवार हुई राजनीति

यह भी पढ़ें : ये कोरोना काल है या कन्फ्यूजन काल ?

यह भी पढ़ें : चुनौतीपूर्ण भूमिका में भारत, WHO की ज़िम्मेदारी डॉ. हर्षवर्द्धन को

औरैया में हुए सड़क हादसे के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर डीसीएम और ट्रालर के चालक और मालिकों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया था. मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया था कि किसी भी मजदूर को डीसीएम या ट्रक से सफ़र नहीं करने दिया जाए. कहीं भी मजदूर गैर यात्री वाहनों पर सफ़र करते हुए मिलें तो उन्हें तत्काल क्वारंटाइन सेंटर भेजा जाए. इन आदेशों के बावजूद यह सिलसिला थमा नहीं है.

यूपी बार्डर पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने करीब एक हज़ार बसें खड़ी करवा दी हैं लेकिन उन बसों को लेकर कांग्रेस और सरकार के बीच रार जारी है. उधर 92 हज़ार मजदूर इस बात का इंतज़ार कर रहे हैं कि इन बसों पर सरकार कोई फैसला ले ले ताकि उनके घर जाने का मसला हल हो सके.

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com