Saturday - 28 January 2023 - 10:57 PM

जहांगीरपुरी में हनुमान जयंती पर निकले जुलूस के दौरान कैसे भड़की हिंसा?

जुबिली न्यूज डेस्क

दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके में शनिवार को हनुमान जयंती के मौके पर निकली शोभायात्रा के दौरान हुए पथराव के बाद जमकर उपद्रव हुआ।

इस दौरान आगजनी व तोडफ़ोड़ की घटना भी हुई। हालात पर काबू पाने के लिए भारी पुलिस बल तैनात करना पड़ा। हालांकि माहौल अभी भी तनावपूर्ण बना हुआ है।

यह घटना तब हुई जब हनुमान जयंती के मौके पर करीब 300-400 लोगों का एक जुलूस निकाला जा रहा था। यह जुलूस जिस समय जहांगीरपुरी इलाके के सी-ब्लॉक से गुजर रहा था, उसी दौरान हाथापाई से शुरू हुई झड़प, हिंसा और पथराव में बदल गयी।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार हाथापाई शुरू किस वजह से शुरू हुई, इसका कारण अभी तक बहुत स्पष्ट नहीं हो सका है।

इस हिंसा के दौरान गुस्साई भीड़ ने कई वाहनों में आग भी लगा दी और आसपास की कुछ दुकानों को भी नुकसान हुआ है।

जहांगीरपुरी के ब्लॉक बी और सी में सांप्रदायिक झड़पें हुईं हैं। इस ब्लॉक में मछली बेचने वाले, मोबाइल मरम्मत करने वालों की दुकानें और कपड़े के खुदरा विक्रेताओं सहित एक मजदूर वर्ग की आबादी रहती है।

इस घटना को लेकर जहांगीरपुरी इलाके में रहने वाले साजिद सैफी ने कहा, “हिंदू और मुसलमान हमेशा से यहां एक साथ रहे हैं। मैंने इस मंदिर में प्रसाद खाया है और हिंदू हमारे साथ हमारे त्योहार मनाते हैं। ऐसा पहले यहां कभी नहीं हुआ है, यहां बाहरी लोगों ने शांति भंग की है।”

साजिद सैफी इसी इलाके में एक इलेक्ट्रॉनिक्स की दुकान चलाते हैं।

यह भी पढ़ें : गुजरात में विरोध के चलते ये चार बड़े फैसले सरकार ने लिए वापस

यह भी पढ़ें :  आदित्य ठाकरे ने चाचा राज ठाकरे को क्या चुनौती दी?

यह भी पढ़ें :  पंजाब में 1 जुलाई से मिलेगी 300 यूनिट बिजली मुफ्त  

इस हिंसा के कुछ देर बाद 35 साल के अधिवक्ता शिव ने बताया, “रैली में से कुछ ने मस्जिद पर चढऩे की कोशिश की, मुझे यह देखकर बुरा लग रहा है। कल ही की बात है कि मैंने अपने मुस्लिम दोस्तों के साथ शरबत और पानी बांटने में मदद की और आज बाहरी लोगों ने हमारे रिश्तों में दरार डालने की कोशिश की। हम ऐसा नहीं होने देंगे।”

इस हिंसा को लेकर 17 वर्षीय पप्पू ने कहा, “अपने दोस्तों, अनीज और नफीस के साथ होली मनाता आया हूं लेकिन इस तरह की हिंसा देखकर अजीब लगता है।”

पप्पू के दोस्त नफीस ने कहा, “हम भी काली माता के मंदिर का सम्मान करते हैं। मैं पंडित के साथ बात करता हूं, उन्हें जब देखता हूं तो मैं राम-राम कहता हूं।”

यह भी पढ़ें :   नफरत के वायरस को लेकर सोनिया का पीएम मोदी पर हमला

यह भी पढ़ें :   बड़ी खामोशी से चल रहा था SEX का गंदा खेल लेकिन एक दिन…

यह भी पढ़ें :   IPL 2022 : लखनऊ के आगे मुंंबई का निकला दम

वहीं शोभायात्रा को लेकर स्पेशल सीपी (उत्तरी क्षेत्र की कानून व्यवस्था) दीपेंद्र पाठक ने शनिवार देर रात कहा, “स्थिति नियंत्रण में है। हम हर घर में जा रहे हैं और सभी निवासियों से शांति और सद्भाव बनाए रखने का अनुरोध कर रहे हैं। हम अफवाह फैलाने वाले या उपद्रवी तत्वों से निपटने में सख्ती बरत रहे हैं। हम शांति स्थापित करने के लिए सभी समुदाय के सदस्यों के साथ लगातार बातचीत कर रहे हैं।”

पाठक ने कहा कि इस हिंसा में कुछ पुलिसकर्मी घायल हुए हैं और एक को गोली लगी है। वहीं पुलिस के अनुसार ‘शोभा यात्राÓ के लिए पुलिस की अनुमति थी। मामले को लेकर दिल्ली पुलिस ने कहा है कि शनिवार को हुई हिंसा में 6 पुलिस अधिकारियों सहित 10-12 लोग घायल हो गए। उन्हें अस्पताल ले जाया गया था। उनकी हालत में सुधार हो रहा है।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com