Monday - 12 April 2021 - 1:20 AM

दाम कैसे हो सकते हैं आधे, जानिए सरकार का क्या है विचार

जुबिली न्यूज़ डेस्क

नई दिल्ली। केंद्र सरकार पेट्रोल- डीजल की कीमतें कम करने पर विचार कर रही है। अगर पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान के सुझावों पर अगर जीएसटी परिषद अमल करती है तो देश में पेट्रोल- डीजल की कीमतें आधी हो जाएगी।

दो दिन पहले उन्होंने कहा था कि उनका मंत्रालय जीएसटी परिषद से पेट्रोलियम उत्पादों को अपने दायरे में शामिल करने का लगातार अनुरोध कर रहा है, क्योंकि इससे लोगों को फायदा होगा। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने भी कुछ ऐसे ही संकेत दे चुकी हैं।

ये भी पढ़े: शोरगुल से नाराज सीएम योगी बोले – जो जिस भाषा में समझेगा, उसी में समझाया जाएगा

ये भी पढ़े: ग्रामीणों के इस कदम से अब नहीं होगी फसल नुकसान और सड़क दुर्घटना

पेट्रोल की कीमत पहले ही राजस्थान और मध्य प्रदेश में कुछ स्थानों पर 100 रुपये से अधिक हो गयी है। पेट्रोल- डीजल के महंगे होने के सबसे बड़ा कारण टैक्स ही है। केंद्र सरकार उत्पाद शुल्क और राज्य वैट वसूलते हैं।

अभी केंद्र व राज्य सरकारें उत्पाद शुल्क व वैट के नाम पर 100% से ज्यादा टैक्स वसूल रही हैं। इन दोनों की दरें इतनी ज्यादा है कि 35 रुपये का पेट्रोल राज्यों में 90 से 100 रुपए प्रति लीटर तक पहुंच रहा है।

राष्ट्रीय राजधानी नई दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 91 रुपये प्रति लीटर के करीब पहुंच गई है और डीजल 81 रुपये प्रति लीटर को पार कर गया। इस पर केंद्र ने क्रमशः 32.98 रुपए लीटर और 31.83 रुपए लीटर का उत्पाद शुल्क लगाया है।

ये भी पढ़े:बिकिनी में नजर आई शिल्पा तो फैंस के क्यों उड़े होश

ये भी पढ़े: हाथ की ये रेखा कराती है विदेश यात्रा

राज्य सरकारें पेट्रोल- डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने को तैयार नहीं हैं। 1 जुलाई, 2017 को जीएसटी लागू किया गया था। उस समय राज्यों की उच्च निर्भरता के कारण पेट्रोल और डीजल को इससे बाहर रखा गया था।

जीएसटी में पेट्रोलियम उत्पादों को शामिल किया जाता है, तो देश भर में ईंधन की एक समान कीमत होगी। बता दें फरवरी में अब तक पेट्रोल की कीमतें 4.63 रुपये प्रति लीटर और डीजल की दरें 4.84 रुपये प्रति लीटर बढ़ चुकी हैं। इस तरह 2021 में अब तक पेट्रोल 7.22 रुपये और डीजल 7.45 रुपये महंगा हो चुका है।

रेट पर ऐसा असर

  • जीएसटी की उच्च दर पर भी पेट्रोल- डीजल को रखा जाए तो मौजूदा कीमतें घटकर आधी रह सकती हैं।
  • यदि जीएसटी परिषद ने कम स्लैब का विकल्प चुना, तो कीमतों में कमी आ सकती है।
  • पेट्रोल को 5% जीएसटी वाले स्लैब में रखा जाए तो यह पूरे देश में 37.57 रुपये लीटर हो जाएगा और डीजल का रेट घटकर 38.03 रुपये रह जाएगा।
  • 12% स्लैब में ईंधन को रखा गया तो पेट्रोल की कीमत होगी 40% और डीजल मिलेगा 40.56 रुपये।
  • अगर 18% जीएसटी वाले स्लैब में पेट्रोल आया तो कीमत होगी 42.22 रुपये और डीजल होगा 42.73 रुपये।
  • वहीं अगर 28% वाले स्लैब में ईंधन को रखा गया तो पेट्रोल 45.79 रुपये रह जाएगा और डीजल होगा 46.36 रुपये।

ये भी पढ़े:किस मांग को लेकर 8 करोड़ व्यापारियों ने बुलाया भारत बंद

ये भी पढ़े: म्यांमार की सेना पर फेसबुक और इंस्टाग्राम ने लगाया प्रतिबंध

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com