Friday - 7 May 2021 - 11:53 PM

गोरखपुर शेल्टर होम से भी आयी शर्मनाक खबर, किशोरी गर्भवती

प्रमुख संवाददाता

लखनऊ. कानपुर शेल्टर होम के बाद गोरखपुर से भी बिलकुल वैसी ही शर्मनाक खबर सुनने में आयी है. राजकीय नारी बालिका संरक्षण गृह की 14 साल की किशोरी के कोरोना से संक्रमित होने को लेकर हंगामा मचा हुआ है लेकिन शर्मनाक किशोरी का कोरोया पॉजिटिव होना नहीं बल्कि शर्मनाक मामले के ऊपर कोरोना की परत लगाकर पेश करने का है.

गोरखपुर के एसडीएम सदर गौरव सिंह सोगरवाल ने बताया कि इस शेल्टर होम में 63 संवासिनी राखी गई हैं. 38 संवासिनी का कोरोना टेस्ट कराया गया तो टेस्ट में एक 14 साल की किशोरी संक्रमित मिली. यह किशोरी संक्रमित कैसे हुई की जांच शुरू हुई तो पता चला कि अप्रैल के महीने में इस किशोरी को शेल्टर होम की एक गर्भवती किशोरी के साथ मेडिकल कालेज भेजा गया था. इसी वजह से उसका कोरोना टेस्ट कराया गया.

आश्चर्यजनक पहलू यह है कि बहस इस बात को लेकर छिड़ गई है कि किशोरी कोरोना से संक्रमित कैसे हुई जबकि इस शेल्टर होम की दूसरी किशोरी गर्भवती कैसे हुई उस पर बात ही नहीं हो रही. एसडीएम गौरव सिंह अगर गर्भवती किशोरी के बारे में जानकारी न देते तो इस मुद्दे पर तो शेल्टर होम पर्दा ही डाले रहता.

शेल्टर होम की अधीक्षक शशि बाला श्रीवास्तव का बयान सुन लीजिये स्पष्ट हो जाएगा कि मामला कैसे छुपाया जाता है. कोरोना पॉजिटिव किशोरी के बारे में अधीक्षक का बयान एसडीएम के बयान से एकदम उलट है. वह बताती हैं कि अप्रैल में इस किशोरी को कान में दर्द होने की वजह से मेडिकल कालेज भेजा गया था. इसी वजह से उसका कोरोना टेस्ट कराया गया जबकि सच यह है कि किशोरी दूसरी किशोरी के गर्भवती होने की वजह से मेडिकल कालेज गई थी.

यह भी पढ़ें : शेल्टर होम में रह रही दो किशोरियां गर्भवती, एक में एड्स के भी लक्षण

यह भी पढ़ें : कानपुर शेल्टर होम : DM ने कहा फर्जी खबर, SSP बोले 2 नहीं 7 गर्भवती

यह भी पढ़ें : टापर्स को लैपटॉप के साथ एक लाख रुपये भी देगी योगी सरकार

यह भी पढ़ें : अगर आपका पीएनबी में खाता है तो यह खबर आपके लिए है

एसडीएम ने शेल्टर होम की सभी संवासिनियों को बशारतपुर स्थित नगर निगम के रैन बसेरे में शिफ्ट कराकर शेल्टर होम को सैनेटाइज़ करने का आदेश दिया है. गोरखपुर के शेल्टर होम किन अधीक्षक ने गर्भवती किशोरी का मामला इसलिए छुपा लिया क्योंकि कानपुर के शेल्टर होम में ऐसा ही मामला सामने आने पर सीएम योगी ने सख्त तेवर अपनाया था और सरकार ने प्रोबेशन अधिकारी अजित कुमार को सस्पेंड कर दिया था.

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com